EXCLUSIVE INTERVIEW: एशेज में इंग्लैंड के लिए अहम भूमिका निभाएंगे बेन स्टोक्स : जेसन गिलेस्पी

दैनिक जागरण से बात करते हुए गिलेस्पी ने कहा कि आस्ट्रेलिया के जीतने के मौके अच्छे हैं और घरेलू हालात का उन्हें फायदा मिलेगा। आस्ट्रेलिया का गेंदबाजी आक्रमण भी काफी अच्छा है जो इंग्लैंड के बल्लेबाजों को परेशान कर सकता है।

Sanjay SavernPublish:Fri, 03 Dec 2021 07:48 PM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 07:21 AM (IST)
EXCLUSIVE INTERVIEW: एशेज में इंग्लैंड के लिए अहम भूमिका निभाएंगे बेन स्टोक्स : जेसन गिलेस्पी
EXCLUSIVE INTERVIEW: एशेज में इंग्लैंड के लिए अहम भूमिका निभाएंगे बेन स्टोक्स : जेसन गिलेस्पी

पूर्व आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जेसन गिलेस्पी को लगता है कि आगामी एशेज सीरीज में स्टार आलराउंडर बेन स्टोक्स इंग्लैंड के लिए अहम भूमिका निभाएंगे। एशेज सीरीज का आयोजन आस्ट्रेलिया में हो रहा है और सीरीज का पहला टेस्ट आठ दिसंबर से शुरू होगा। इन मैचों का प्रसारण सोनी नेटवर्क पर होगा। एशेज सीरीज, भारतीय क्रिकेट और अन्य मुद्दों पर जेसन गिलेस्पी से अभिषेक त्रिपाठी ने खास बातचीत की। पेश हैं मुख्य अंश :

- घर पर आस्ट्रेलिया के पास एशेज सीरीज जीतने का कितना मौका है और क्यों?

- आस्ट्रेलिया के जीतने के मौके अच्छे हैं और घरेलू हालात का उन्हें फायदा मिलेगा। आस्ट्रेलिया का गेंदबाजी आक्रमण भी काफी अच्छा है जो इंग्लैंड के बल्लेबाजों को परेशान कर सकता है। आस्ट्रेलिया का मौजूदा गेंदबाजी आक्रमण पिछले काफी समय से शानदार रहा है। तीन तेज गेंदबाज और स्पिनर नाथन लियोन के साथ बहुत दमदार व संतुलित गेंदबाजी आक्रमण है। तो मुझे लगता है कि इससे इंग्लिश बल्लेबाजों को काफी परेशानी हो सकती है। आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को इंग्लैंड के गेंदबाजों को देखना होगा जिसमें एंडरसन और ब्राड शामिल हैं जिनका प्रदर्शन इंग्लैंड में काफी शानदार रहा है।

- आपको नहीं लगता कि एंडरसन और ब्राड अब उम्रदराज गेंदबाज हो गए हैं?

- मुझे लगता है कि उम्र सिर्फ एक नंबर है। वे शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं। वे मैच के दौरान हालात का अच्छा फायदा उठाते हैं और उनके पैर मजबूत हैं। जो अच्छा है वो युवा है और यही मेरा सिद्धांत है। उन्हें दूसरी तरफ से मदद मिलना भी काफी अहम है। अगर आप जैक लीच को देखें तो वह एक स्पिनर हैं। ओली राबिनसन तीसरे तेज गेंदबाज हैं। मार्क वुड भी हैं। बेन स्टोक्स अच्छे खिलाड़ी हैं और वह इंग्लैंड के लिए इस सीरीज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। वह बल्ले और गेंद से शानदार प्रदर्शन करते हैं।

- दोनों ही टीमें विवादों का सामना कर रही हैं। इंग्लैंड क्रिकेट में नस्लवाद का मामला चल रहा है तो हाल में पूर्व आस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन के अश्लील मैसेज सामने आए। क्या आपको लगता है कि सीरीज के दौरान मैदान पर इसको लेकर स्लेजिंग होगी?

- नस्लवाद को लेकर खेल में कुछ मुद्दे चल रहे हैं लेकिन मुझे नहीं लगता है कि खिलाड़ी मैदान पर एक-दूसरे को कुछ बोलेंगे और स्लेजिंग करेंगे। मुझे लगता है कि सभी लोग क्रिकेट पर ही ध्यान लगाएंगे। सभी लोग चाहते हैं कि सकारात्मक चीजें सामने आएं। सभी लोग क्रिकेट को प्यार करते हैं। हम टेस्ट प्रारूप से प्यार करते हैं और हर कोई बल्ले व गेंद के बीच अच्छा मैच देखना चाहते हैं। यह समय खेल के लिए काफी चुनौतीपूर्ण है। हमें मैदान के बाहर की चीजों पर ध्यान नहीं देना चाहिए और सिर्फ खेल पर ध्यान लगाना चाहिए।

- एक तरफ टिम पेन को कप्तानी से हटा दिया गया तो दूसरी तरफ पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ को उप कप्तान नियुक्त कर दिया गया। क्या क्रिकेट आस्ट्रेलिया का यह दोहरा चरित्र नहीं है?

- यह बहुत मुश्किल स्थिति है। मुझे लगता है कि पैट कमिंस को लेकर स्थिति बिलकुल स्पष्ट थी। कमिंस ने साफ कहा कि वह स्मिथ को उप कप्तान के तौर पर चाहते थे। कमिंस के कप्तान बनने से टीम खुश थी, कोच जस्टिन लैंगर खुश थे, कोचिंग स्टाफ भी खुश था।

- क्या एक तेज गेंदबाज अच्छा कप्तान बन सकता है और अगर ऐसा है तो क्रिकेट आस्ट्रेलिया को अपना पहला पूर्णकालिक तेज गेंदबाज टेस्ट कप्तान चुनने में इतने साल क्यों लग गए?

-यह बहुत अच्छा सवाल है। एक तेज गेंदबाज का क्रिकेट में शारीरिक रूप से काफी मजबूत काम होता है। उसे आराम भी चाहिए होता है और मैं एक गेंदबाज हूं इसलिए यह समझता हूं। क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने न्याय किया है। पैट कमिंस कप्तानी कर सकता है और वह स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर, टीम के अन्य साथियों से सीख सकता है और वो उसकी मदद भी करेंगे। तेज गेंदबाज को कप्तान बनाना एक अच्छा संदेश भी है।

- एशेज और भारत-आस्ट्रेलिया सीरीज में से आप किसे चुनेंगे?

- दोनों ही बहुत शानदार सीरीज हैं। हम भारत और इंग्लैंड के खिलाफ खेलना पसंद करते हैं। दोनों ही सीरीज में अलग-अलग चुनौतियां हैं। एशेज बहुत ही पुरानी सीरीज है जिसका सम्मान करते हैं। हाल ही में आस्ट्रेलिया बनाम भारत सीरीज बहुत बड़ी होती जा रही हैं। आस्ट्रेलियाई टीम भारत में खेले या भारतीय टीम आस्ट्रेलिया में खेले, यह सबसे मुश्किल क्रिकेट होता है। दोनों सीरीज में एक खिलाड़ी का टेस्ट शारीरिक, मानसिक, बल्ले और गेंद के साथ तकनीक के रूप में भी होता है।

- भारत ने आखिरी दो सीरीज आस्ट्रेलिया में जीती थी। आप पुरानी और अब की भारतीय टीम में क्या अंतर देखते हैं?

- मुझे लगता है कि विश्वास ऐसी चीज है जो वर्तमान भारतीय टीम की जीत का कारण। उसे विश्वास है कि वे ऐसा कर सकते हैं। सबसे बड़ा अंतर विश्वास है ना कि घमंड। विश्वास ही सुबूत देता है। अगर आप अच्छी तैयारी करते हो, कोशिश करते हो और इस टीम के साथ खेलते हो और अच्छा करते हो तो यह ही आपको आत्मविश्वास देगा और यहीं से आपका माइंडसेट तैयार होता है कि आप इस टीम को हरा सकते हो, आप इनके खिलाफ जीत सकते हो। मुझे लगता है कि विराट कोहली की कप्तानी और पूर्व कोच रवि शास्त्री ने इन खिलाड़ियों को आत्मविश्वास दिया है। इन खिलाडि़यों में भी यह आत्मविश्वास आ गया है कि हमें भारतीय क्रिकेट को क्या देना है।

- मुझे लगता है कि भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण भी काफी सुधरा है?

- भारतीय गेंदबाजी आक्रमण शानदार है। पिछले 20 वर्षों में भारत को कई अच्छे युवा गेंदबाज मिले हैं और उन्हें खेलने का मौका मिला है और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है, भारत में क्रिकेट के लिए तो अच्छा है लेकिन साथ में विश्व के लिए भी है क्योंकि वे सभी अच्छी गेंदबाजी के लिए याद भी किए जाएंगे।

- अगले साल टी-20 विश्व कप आस्ट्रेलिया में होना है। कोरोना को लेकर आस्ट्रेलिया सरकार की नीतियों के बीच क्या क्रिकेट आस्ट्रेलिया इस टूर्नामेंट का आयोजन कर पाएगा?

- मुझे पूरा विश्वास है कि क्रिकेट विश्व कप आस्ट्रेलिया में होकर रहेगा। मैं कोई डाक्टर नहीं हूं लेकिन देश में तेजी से वैक्सीन लगाई जा रही है। क्रिकेट आस्ट्रेलिया को भी इसके आयोजन की उम्मीद है। देखते हैं क्या रहता है।