कानपुर टेस्ट मैच के तीनों नतीजों के लिए रहिए तैयार, कुछ भी हो सकता है

कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में खेले जा रहे भारत बनाम न्यूजीलैंड टेस्ट मैच में सोमवार यानी 29 नवंबर को मैच का आखिरी दिन है और अंतिम दिन इस मुकाबले में तीनों नतीजे निकल सकते हैं। भारत जीत भी सकता है और हार भी सकता है।

Vikash GaurMon, 29 Nov 2021 08:17 AM (IST)
कानपुर में पहला टेस्ट खेला जा रहा है (फोटो बीसीसीआइ ट्विटर)

अंकुश शुक्ला, कानपुर। यहां के ग्रीनपार्क स्टेडियम में जारी दो मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में एक समय संकट में फंसी भारतीय टीम को अपना पहला मैच खेल रहे श्रेयस अय्यर और बीमारी के बावजूद बल्लेबाजी करने उतरे रिद्धिमान साहा ने बचाया ही नहीं, बल्कि जीत के रास्ते पर पहुंचा दिया। अब सोमवार को भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ जीत के लिए नौ विकेट की दरकार है। वहीं, मेहमानों को मैच को अपने नाम करने के लिए 280 रनों की जरूरत है। इसके अलावा मैच का नतीजा ड्रा भी हो सकता है। इस तरह इस मैच में अभी तीनों ही नतीजे आ सकते हैं। हालांकि, भारतीय प्रशंसक भारत की जीत चाहेंगे।

न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज टिम साउथी और काइल जेमिसन ने भारत के शीर्ष क्रम को ध्वस्त कर दिया था, लेकिन पहली पारी में शतक जमाने वाले श्रेयस ने दूसरी पारी में छठे विकेट के लिए रविचंद्रन अश्विन के साथ 52 और सातवें विकेट के लिए रिद्धिमान के साथ 64 रनों की साझेदारी करके टीम को मजबूत किया। चौथे दिन भारतीय टीम ने सात विकेट के नुकसान पर 234 रन बनाकर अपनी पारी घोषित की। उस समय तक भारतीय टीम के पास 283 रनों की बड़ी बढ़त हो गई थी। भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को चौथे दिन के अंतिम सत्र में खेलने के लिए बुलाया। मेहमानों ने चार ओवर में चार रन बनाकर एक विकेट गवां दिया।

शुरुआत में लड़खड़ाई

मैच के तीसरे दिन न्यूजीलैंड पर 63 रनों की अहम बढ़त हासिल करने वाली भारतीय टीम चौथे दिन के पहले सत्र में लड़खड़ा गई। 14 रन पर एक विकेट के नुकसान पर खेलने उतरी टीम इंडिया को पहला झटका चेतेश्वर पुजारा (22) के रूप में लगा। वह जेमिसन की उछाल लेती हुई गेंद को छोड़ने के चक्कर में विकेट के पीछे लपके गए। कप्तान अजिंक्य रहाणे दो रन बनाकर एजाज पटेल की गेंद पर पगबाधा हो गए। पहली पारी में अर्धशतक लगाने वाले रवींद्र जडेजा शून्य पर साउथी की गेंद पर पगबाधा हुए। आधी टीम महज 51 रनों पर पवेलियन लौट गई। ऐसा लग रहा था कि टीम धराशायी हो जाएगी, लेकिन श्रेयस (65), अश्विन (32) और साहा (नाबाद 61) ने कमाल कर दिया।

चोट के बावजूद साहा का धमाका

न्यूजीलैंड की पहली पारी में गर्दन में जकड़न के चलते विकेटकीपिंग नहीं करने वाले साहा को बल्लेबाजी के लिए उतरना पड़ा। उन्होंने अय्यर के साथ साझेदारी के बाद अक्षर पटेल के साथ आठवें विकेट के लिए 67 रन जोड़े। अपने टेस्ट करियर का छठवां अर्धशतक जमाया। वे 126 गेंदों में 4 चौके और 1 छक्के की मदद से 61 रन की पारी खेलने में सफल हुए। साहा नाबाद लौटे, क्योंकि भारतीय कप्तान ने पारी घोषित कर दी थी। ये साहा के करियर के लिए अहम पारी थी, क्योंकि वे पिछले कई सालों से अर्धशतक भी नहीं बना पा रहे थे। यहां तक कि इस मैच में बल्लेबाजी करते समय उनको कई बार फीजियो की मदद भी लेनी पड़ी।

आज पिच लेगी कीवी बल्लेबाजों की अग्निपरीक्षा

मैच शुरू होने से पहले ही स्पिनरों के मुफीद मानी जा रही ग्रीनपार्क की पिच पर पहली पारी में भारतीय स्पिनरों ने न्यूजीलैंड के नौ बल्लेबाजों को चलता किया। वहीं, चौथे दिन के अंतिम सत्र में आर अश्विन ने दो ओवर में तीन रन देकर ओपनर विल यंग को पगबाधा कर दिया है। अंतिम दिन पिच पर एक बार फिर स्पिनरों का कमाल देखने को मिलेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.