top menutop menutop menu

श्रीलंकाई टीम के पूर्व क्रिकेटर ने ICC के इस डबल स्टैंडर्ड पर उठाए सवाल

कोलंबो, एजेंसी। श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर और मैनेजर रहे चरिथ सेनानायके ने 'ब्लैक लाइव्स मैटर' अभियान के समर्थन में आने के लिए इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के क्रिकेटरों को घुटने के बल बैठने के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी की नीति पर सवाल उठाए हैं। चरिथ सेनानायके ने इसे आइसीसी का डबल स्टैंडर्ड बताया है और कहा है कि जब उन्होंने अपनी टीम के सपोर्ट के लिए बालकनी में झंडा लगाया था तो आइसीसी को आपत्ति हुई थी।

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच एजेस बाउल (साउथैंप्टन) में बुधवार को पहला टेस्ट मैच शुरू होने से पहले दोनों टीमों के खिलाड़ी और मैच अधिकारी ब्लैक लाइव्स मैटर कैंपन का समर्थन करने के लिए एक मार्मिक इशारा करते हुए एकजुट हुए थे। कोलंबो से टेलीफोन पर पाकिस्तान ऑब्जर्वर से बात करते हुए उन्होंने पूछा, "एक खेल में एक घुटने पर नीचे आना कैसे राजनीतिक नहीं है, जब मैं कुछ साल पहले खिलाड़ियों के समर्थन में राष्ट्रीय ध्वज उठाने के लिए लगभग उकसाया गया था? तो वो राजनीतिक था?"

श्रीलंकाई टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज 2016 में इंग्लैंड दौरे पर श्रीलंकाई टीम के प्रबंधक थे। श्रीलंका की टीम को तीसरे टेस्ट में गलत अंपायरिंग के फैसले को भुगतने के बाद अपनी बालकनी पर "समर्थन दिखाने" के लिए लगाए गए श्रीलंका के राष्ट्रीय ध्वज को हटाने के लिए कहा गया था। उन्होंने कहा, "मैच के अंत में मुझसे पूछा गया कि क्या फ्लैग होस्टिंग किसी भी राजनीतिक कदम के समर्थन में थी, जिसके लिए मैंने विनम्रता से मना कर दिया और कहा कि अंपायरों के कई फैसले हमारी टीम के खिलाफ थे, जिससे हमारी टीम का मनोबल नीचे था।"

सेनानायके ने कहा है, "हम मैदान पर खिलाड़ियों को वापस करना चाहते थे और उन्हें दिखाना चाहते थे कि देश आपके पीछे है, लेकिन इसकी अनुमति नहीं थी।" रिकॉर्ड के लिए: घटना के तुरंत बाद नो बॉल के नियम बदल दिए गए। आखिर में पूर्व मैनेजर ने मजाकिया लहजे में कहा, "आश्चर्य है कि अगर एक उप महाद्वीपीय टीम खेल रही होती तो क्या होता। शायद, दोनों घुटनों पर बैठ जाओ…सभी का जीवन मायने रखता है…ब्राउन लाइव्स डॉन्ट मैटर।"

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.