दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पूर्व कोच रमन का आरोप- मुझे बदनाम करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के पूर्व कोच डब्ल्यू वी रमन (एपी फोटो)

राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख राहुल द्रविड़ और गांगुली को भेजे पत्र में रमन ने लिखा कि बतौर कोच उनके नाकाबिल होने के अलावा किसी और कारणों से उनकी दावेदारी खारिज की गई है तो यह काफी चिंताजनक है।

Sanjay SavernSat, 15 May 2021 06:38 PM (IST)

नई दिल्ली, प्रेट्र। भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच पद से हटाए गए डब्ल्यूवी रमन ने आरोप लगाया कि उन्हें बदनाम करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली से इस पर रोक लगाने का अनुरोध किया।

राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख राहुल द्रविड़ और गांगुली को भेजे पत्र में रमन ने लिखा कि बतौर कोच उनके नाकाबिल होने के अलावा किसी और कारणों से उनकी दावेदारी खारिज की गई है तो यह काफी चिंताजनक है। एक हैरानी भरे फैसले में क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने रमन की बजाय रमेश पोवार को महिला क्रिकेट टीम का मुख्य कोच चुना।

रमन ने पत्र में लिखा, 'मेरा मानना है कि मेरे काम करने के तौर तरीकों को लेकर आपको अलग-अलग राय दी गई होगी। उनका मेरी दावेदारी पर कितना असर पड़ा, यह बात करना अब बेमानी है। महत्वपूर्ण यह है कि कलंकित करने वाले इस अभियान ने कुछ बीसीसीआइ अधिकारियों का अवांछित ध्यान खींचा है जिस पर स्थायी रोक लगाए जाने की जरूरत है। अगर आपको या किसी पदाधिकारी को सफाई देने की जरूरत है तो मैं इसके लिए तैयार हूं। अगर बतौर कोच मेरे नाकाबिल रहने के अलावा किसी और कारण से मेरी दावेदारी खारिज की गई तो उस फैसले पर कोई बहस नहीं हो सकती, लेकिन चिंताजनक यह है कि मेरी दावेदारी अन्य कारणों से खारिज की गई। खास तौर पर उन लोगों के आरोपों की वजह से जिनका फोकस भारतीय महिला टीम के कल्याण और देश के गौरव की बजाय अपने निजी लक्ष्य हासिल करने पर था।'

रमन ने अपने पत्र में किसी का नाम नहीं लिखा, लेकिन समझा जा रहा है कि वह टीम में स्टार कल्चर के बारे में लिख रहे थे। उनका मानना है कि इससे अच्छे की बजाय बुरा अधिक हुआ है। उन्होंने कहा, 'अपने 20 साल के कोचिंग करियर में मैने हमेशा ऐसी टीम संस्कृति तैयार की है जिसमें टीम पहले आती है और कोई खिलाड़ी टीम या खेल से बड़ा नहीं है। अब समय आ गया है कि आप जैसे दो दिग्गज महिला क्रिकेट को बचाएं क्योंकि ऐसा नहीं करने पर चीजें गलत दिशा में चली जाएंगी। मेरे पास महिला क्रिकेट की बेहतरी के लिए सुझाव है और अगर आप इच्छुक हों तो आपके साथ साझा करना चाहूंगा।'

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.