कोलकाता के कप्तान ने लिया हैरानी भरा फैसला, दिग्ग्जों ने उठाए सवाल तो दिया ये जवाब

कोलकाता के मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती - फोटो ट्विटर पेज

रविवार को मैच के दौरान मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने अपने पहले ही ओवर में दो विकेट हासिल किए थे। कोलकाता के कप्तान इयोन मोर्गन ने उनको इसके बाद गेंदबाजी आक्रमण से हटा दिया था। इस पर कमेंट्री कर रहे दिग्गजों ने सवाल उठाए थे।

Viplove KumarMon, 19 Apr 2021 07:55 PM (IST)

नई दिल्ली, जेएनएन। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में कोलकाता नाइटराइडर्स की टीम को लगातार दूसरे मैच में हार मिली। रविवार को खेले गए मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने टीम को 38 रन से हराकर जीत की हैट्रिक पूरी की। मैच के दौरान मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने अपने पहले ही ओवर में दो विकेट हासिल किए थे लेकिन कप्तान इयोन मोर्गन ने उनको इसके बाद गेंदबाजी आक्रमण से हटा दिया था। मोर्गन के इस फैसले के बाद मैच के दौरान कमेंट्री कर रहे गौतम गंभीर, आकाश चोपड़ा, इरफान पठान ने सवाल उठाया था। 

मैच खत्म होने के बाद जब मोर्गन से पूछा गया कि क्या पहले ओवर में दो सफलता हासिल करने वाले वरुण चक्रवर्ती को एक ओवर के बाद आक्रमण से हटाना सही थी। उनको एक और ओवर की गेंदबाजी नहीं दी जानी चाहिए थी। मार्गन ने कहा, "ईमानदारी से कहूं तो नहीं। ग्लेन मैक्सवेल एक बहुत ही शानदार खिलाड़ी हैं लेकिन वो इतने भी विस्फोटक बल्लेबाज नहीं है जितना आज हमने उनको देखा।"

वरुण ने अपने पहले ही ओवर में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम को दो झटके दिए थे। पहले कप्तान विराट कोहली को राहुल त्रिपाठी के हाथों कैच करवाया था और इसके बाद रजत पाटीदार को क्लीन बोल्ड किया था। दो शुरुआती विकेट हासिल करने के बाद भी उनको कप्तान ने लगातार दूसरा ओवर नहीं दिया।

"आपको एबी डिविलियर्स के खिलाफ अच्छे गेंदबाजों के एक या दो ओवर को बचा कर रखना ही होता है और इसके लिए आपके पास विकल्प होना चाहिए। यकीनन हमारी टीम का भी मजबूत पक्ष है और गहराई जो कि हर एक टीम में होती है जो भी प्रतियोगी मुकाबले खेलती है। तो इसी वजह से आपको गेंदबाज के एक ओवर के बाद ही योजना बनानी होती है।"

वरुण को मोर्गन ने पहला ओवर करने के बाद दूसरे स्पेल में 8वां ओवर में वापस लाया था। इस वक्त मैक्सवेल पूरी तरह से सेट हो चुके थे और वह 19 गेंद पर 30 रन बनाकर खेल रहे थे। वरुण को इस ओवर में मैक्सवेल ने 14 रन मारे थे।

 

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.