नासिर हुसैन ने कहा- दूसरी पारी में टीम इंडिया से डरी हुई थी इंग्लैंड की टीम

भारतीय टेस्ट टीम के खिलाड़ी (एपी फोटो)

नासिर हुसैन ने कहा कि इंग्लैंड दूसरी पारी में भयभीत नजर आ रहा था। मुझे नहीं लगता कि ये ऐसी पिच पर थी जिस पर 81 रन ही बनते लेकिन यह चेन्नई की तुलना में अधिक मुश्किल पिच थी। बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल ने इंग्लैंड पर कहर बरपाया।

Sanjay SavernFri, 26 Feb 2021 05:11 PM (IST)

लंदन, एएनआइ। इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने अहमदाबाद टेस्ट मैच में इंग्लैंड को मिली 10 विकेट से हार के बाद कहा कि, ये टीम लगातार दो मुश्किल पिचों पर खेलने के कारण अपनी लय खो बैठा और भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में वह भयभीत नजर आ रहा था। नासिर हुसैन ने कहा कि ये पूरी तरह से मानसिकता से जुड़ा है और इंग्लैंड को अब सीरीज ड्रॉ कराने का तरीका खोजना होगा जो कि उनके लिये अच्छा परिणाम होगा।

इंग्लैंड को भारत के खिलाफ गुरुवार को तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में दो दिन के अंदर ही 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। भारत ने इस जीत से 2-1 से बढ़त हासिल की। जो रूट और उनके साथी बल्लेबाज मोटेरा की स्पिनरों की मददगार वाली पिच पर जूझते हुए नजर आए थे साथ ही दोनों पारियों में 112 और 81 रन ही बना पाए। हुसैन ने स्काई स्पोर्ट्स क्रिकेट पोडकास्ट पर बात करते हुए कहा कि विशेषकर इस पिच पर जहां एक गेंद स्पिन ले रही थी और दूसरी स्किड कर रही थी आप लय खो बैठते हो। इस तरह की पिचों पर लगातार दो टेस्ट मैच खेलने से यह आपकी मानसिकता से जुड़ जाती है।

उन्होंने कहा कि इंग्लैंड दूसरी पारी में भयभीत नजर आ रहा था। मुझे नहीं लगता कि ये ऐसी पिच पर थी जिस पर 81 रन ही बनते लेकिन यह चेन्नई की तुलना में अधिक मुश्किल पिच थी। बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल ने इंग्लैंड पर कहर बरपाया। उन्होंने मैच में 70 रन देकर 11 विकेट लिए। हुसैन ने कहा कि अक्षर ने सटीक गेंदबाजी की। उसने विकेट टू विकेट गेंदबाजी की, लेकिन कुछ गेंदों ने टर्न लिया तो कुछ ने नहीं। उसने अधिकतर विकेट उन गेंदों पर लिये जो टर्न नहीं हुई थी इसलिए लोग इस पर गौर करेंगे और कहेंगे कि इन सीधी गेंदों को क्यों नहीं खेला गया।

उन्होंने कहा कि ये इस टीम की मानसिकता से जुड़ा है और सही बात तो यह है कि पिचों और अंपायरों को लेकर अधिकतर बातें बाहर हो रही हैं। मैंने इंग्लैंड के किसी खिलाड़ी को ये कहते हुए नहीं सुना कि परिस्थितियां अनुचित हैं। नासिर हुसैन ने टीम को सलाह देते हुए कहा कि, उन्हें रास्ता निकालना होगा और जैक क्राउली का पहली पारी का अर्धशतक लगाता अच्छा है और ये टेस्ट सीरीज अभी खत्म नहीं हुई है। इंग्लैंड अगर ये सीरीज ड्रॉ कर लेता है तो ये इस टेस्ट सीरीज का बुरा रिजल्ट नहीं होगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.