इस कैटेगरी के शेयरों ने निवेशकों को किया मालामाल, केवल चार माह में दिया बंपर रिटर्न

Stock Performance Analysis पिछले वित्त वर्ष (2020-21) में BSE Smallcap Index में 11040.41 अंक यानी 114.89 अंक का उछाल देखने को मिला था। वहीं मिडकैप इंडेक्स (Midcap Index) 9611.38 अंक यानी 90.93 फीसद की तेजी देखने को मिली थी।

Ankit KumarSun, 01 Aug 2021 02:34 PM (IST)
कोरोना काल में शेयर बाजार में पैसा लगाने वालों की संख्या बढ़ी है।

नई दिल्ली, पीटीआइ। चालू वित्त वर्ष में अब तक Smallcap Index में 29.72 फीसद का उछाल देखने को मिला है। इस तरह इस साल स्मॉलकैप शेयरों ने निवेशकों काफी बढ़िया रिटर्न दिया है। चालू वित्त वर्ष के पहले चार महीनों में स्मॉलकैप स्टॉक के प्रदर्शन के विश्लेषण में यह बात सामने आई है कि BSE smallcap index में इस अवधि में 6,137.29 अंक या 29.72 अंक और Midcap Index में 2,905.91 अंक या 14.39 फीसद की तेजी देखने को मिली है। इसी अवधि में 30 शेयरों पर आधारित BSE Sensex में 3,077.69 अंक यानी 6.21 फीसद की बढ़त देखने को मिली।

जानिए एक्सपर्ट्स की राय

LKP Securities में प्रमुख (शोध) एस रंगनाथन ने कहा, ''बहुत अधिक विविधता और लो बेस इफेक्ट की वजह से सेक्टर के ग्रोथ को काफी अधिक मजबूती मिली।''

उल्लेखनीय है कि 23 जुलाई को Midcap Index अपने रिकॉर्ड उच्च स्तर पर 23,207.51 अंक पर पहुंच गया था। वहीं, 30 जुलाई को Smallcap Index अपने सर्वकालिक उच्च स्तर 26,895.93 अंक पर पहुंच गया। BSE Sensex 16 जुलाई को 53,290.81 अंक के स्तर पर पहुंच गया था।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में चीफ इंवेस्टमेंट स्ट्रेटेजिस्ट वीके विजयकुमार ने कहा, ''बाजार का प्रदर्शन शानदार रहा है। वास्तव में, Broader Market ने प्रमुख इंडिक्स की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है। यह प्रदर्शन वास्तव में काफी बढ़िया रहा है और निवेशकों को काफी शानदार मुनाफा हासिल हुआ है।''

विश्लेषकों का कहना है कि आर्थिक गतिविधियों में तेजी और वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ने से भी बाजार को मजबूती मिली।

पिछले वित्त वर्ष में ऐसा रहा था प्रदर्शन

पिछले वित्त वर्ष में BSE Smallcap Index में 11,040.41 अंक यानी 114.89 अंक का उछाल देखने को मिला था। वहीं, मिडकैप इंडेक्स 9,611.38 अंक यानी 90.93 फीसद की तेजी देखने को मिली थी। इसकी तुलना में BSE Benchmark में 20,040.66 अंक यानी 68 फीसद का उछाल दर्ज किया गया।

बाजार विश्लेषकों के मुताबिक आम तौर पर घरेलू निवेशक छोटे स्टॉक में पैसा लगाते हैं। वहीं, विदेशी निवेशक बड़ी कंपनियों के शेयरों में पैसा लगाते हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.