Jagran Dialogues: बैंकों की ब्‍याज दरों से हैं असंतुष्‍ट तो म्‍युचुअल फंडों में निवेश कर पाएं शानदार रिटर्न, जानें इन्‍वेस्‍टमेंट का सरल तरीका

Know the process of investment in mutual funds.

आज हम आपको बहुत ही सरल शब्‍दों में म्‍युचुअल फंडों में निवेश के बारे में बताएंगे जहां आपको शानदार रिटर्न मिल सकता है। हमारे खास कार्यक्रम Jagran Dialogues में Jitendra Solanki और Manikaran Singal ने Mutual Funds चुनने और उनमें Invest करने के तरीकों के बारे में जानकारी दी है

Manish MishraThu, 04 Mar 2021 11:54 AM (IST)

नई दिल्‍ली, मनीश कुमार मिश्र। क्‍या आप अभी तक बैंकों के जरिये ही अपनी बचत कर रहे हैं? तो जरूर कम ब्‍याज मिलने की वजह से कोई विकल्‍प तलाश रहे होंगे। आज हम आपको बहुत ही सरल शब्‍दों में म्‍युचुअल फंडों में निवेश के बारे में बताएंगे, जहां आपको शानदार रिटर्न मिल सकता है। हमारे खास कार्यक्रम Jagran Dialogues में हमारे एक्‍सपर्ट्स Jitendra Solanki और Manikaran Singal ने Mutual Funds चुनने और उनमें Invest करने के तरीकों के बारे में जानकारी दी है, जो हम आपसे साझा कर रहे हैं। 

विस्‍तृत जानकारी के लिए देखें ये वीडियो

सेबी रजिस्‍टर्ड इन्‍वेस्‍टमेंट एडवाइर जितेंद्र सोलंकी ने बताया कि Mutual Funds के विभिन्‍न प्रोडक्‍ट्स विभिन्‍न समयावधि के निवेश के लिए बने होते हैं। इनमें आप अपने आर्थिक लक्ष्‍यों (Financial Goals) के हिसाब से निवेश कर सकते हैं। Equity Mutual Funds जहां लंबी अवधि में बेहतरीन रिटर्न देते हैं, वहीं Short Term Funds कम अवधि में निवेश के लिए अनुकूल हैं जहां आपको Fixed Deposits की तुलना में शानदार रिटर्न मिलता है। Mutual Funds में आप 100 रुपये जितनी छोटी रकम का निवेश हर महीने Systematic Investment Plan यानी SIP के जरिये कर सकते हैं। हालांकि, कुछ म्‍युचुअल फंडों के मामले में Minimum Investment की रकम 500 और 1000 रुपये भी है। म्‍युचुअल फंडों की Equity Linked Savings Scheme यानी ELSS एक ऐसा प्रोडक्‍ट है जो शेयरों में निवेश करता है और आपको लंबे समय में अच्‍छा रिटर्न देता है। इसकी Lock-In अवधि भी सबसे कम (तीन साल) है। 

Goodmoneying.com के चीफ फाइनेंशियल एडवाइजर मणिकरन सिंघल ने बताया कि Mutual Funds हर उस निवेशक के लिए उपयुक्‍त है जो प्‍लानिंग के साथ Investment करना चाहते हैं। उदाहरण के तौर पर- बच्‍चे की उच्‍च शिक्षा, कुछ साल बाद कार या घर की खरीदारी, रिटायरमेंट प्‍लानिंग, एक साल से कम अवधि के लिए एकमुश्‍त निवेश या टैक्‍स बचाने के लिए निवेश। विशेषज्ञ कहते हैं कि अगर आप अपने लक्ष्‍य के साथ जोड़कर म्‍युचुअल फंडों का चयन (Selection of Mutual Funds) करते हैं तो यह आपके लिए ज्‍यादा फायदे का सौदा होगा। साथ ही, उन्‍होंने यह भी बताया कि सिर्फ पिछले प्रदर्शन को ही म्‍युचुअल फंड चुनने का आधार नहीं बनाया जाना चाहिए, बल्कि फंड हाउस और फंड मैनेजर्स के प्रदर्शन पर भी आपकी निगाह होनी चाहिए। आइए, इस वीडियो के जरिये जानते हैं कि आप किस प्रकार म्‍युचुअल फंडों में छोटी-छोटी रकम का निवेश कर सकते हैं और लंबी अवधि में कैसे एक बड़ा Corpus तैयार कर सकते हैं। 

मणिकरन सिंघल ने बताया कि म्‍युचुअल फंडों में निवेश की शुरुआत आसान हैं। बैंक भी थर्ड पार्टी इन्‍वेस्‍टमेंट की सुविधा उपलब्‍ध कराते हैं। वहां जाकर भी म्‍युचुअल फंडों में निवेश किया जा सकता है। इसके अलावा, म्‍युचुअल फंडों की वेबसाइट के जरिये भी बिना झंझट निवेश की शुरुआत की जा सकती है। कुछ मोबाइल ऐप भी हैं जो म्‍युचुअल फंडों में निवेश की सुविधा देते हैं। इनके जरिये आप दो मिनट से भी कम समय में अपने पसंदीदा फंडों में निवेश कर लंबे समय बेहतरीन मुनाफा अर्जित कर सकते हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.