प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए ऑनलाइन कर सकते हैं आवेदन, जानिए तरीका

How To Apply For Pradhan Mantri Awas Yojana

प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने पिछले कार्यकाल 20 नवंबर 2016 में की थी। इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 2022 तक ज्यादा से ज्यादा परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध कराने का लक्ष्य है।

NiteshTue, 23 Mar 2021 11:40 AM (IST)

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY)- 'हाउसिंग फॉर ऑल' योजना का लक्ष्य लाखों शहरी गरीबों को रहने के लिए एक जगह देना है। इस मिशन के तहत, घर लेने और उसके निर्माण के लिए पात्र शहरी गरीबों द्वारा लिए गए होम लोन पर क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी (सीएलएसएस) दिया जाता है। यह योजना मार्च 2021 तक उपलब्ध है।

इस योजना के तहत प्रति आवास 2.67 लाख तक की ब्याज सब्सिडी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस)/निम्न आय समूह (एलआईजी), मध्य आय समूह (एमआईजी) -आई और मध्य आय समूह (एमआईजी) -II के लाभार्थियों के लिए स्वीकार्य है।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए कैसे करें आवेदन

स्टेप 1: आधिकारिक प्रधानमंत्री आवास योजना pmaymis.gov.in पर लॉग इन करें।

स्टेप 2: नागरिक मूल्यांकन ड्रॉप डाउन पर क्लिक करके अन्य 3 घटकों के विकल्प के तहत: लाभ चुनें।

स्टेप 3: आधार नंबर दर्ज करें और सबमिट पर क्लिक करें।

स्टेप 4: एक नया पेज खुलेगा। नाम, आय, परिवार के सदस्यों की संख्या, आवासीय पता, संपर्क नंबर, परिवार के मुखिया की आयु, धर्म और जाति के बारे में सभी जानकारी दर्ज करें।

स्टेप 5: नीचे स्क्रॉल करें, बॉक्स में कैप्चा कोड टाइप करें और सबमिट पर क्लिक करें।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के गठन के साथ ही सबको पक्का मकान देने का वादा किया था। इसे वर्ष 2022 तक प्राप्त करने का लक्ष्य है। पहले चरण में लगभग एक करोड़ मकान बनाने का लक्ष्य तय किया गया। इसके तहत 91.22 लाख गरीबों का मकान बनाने में सफलता मिली।

प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने पिछले कार्यकाल 20 नवंबर, 2016 में की थी। इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 2022 तक ज्यादा से ज्यादा परिवारों को पक्का मकान उपलब्ध कराने का लक्ष्य है। इस योजना के तहत सरकार बिजली की आपूर्ति और स्वच्छता जैसी सभी बुनियादी सुविधाओं की विशेषता वाले पक्के घरों के निर्माण के लिए धन की सहायता प्रदान करती है।

 

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.