top menutop menutop menu
Powered By:

Mutual Funds में निवेश करते समय कभी ना करें ये गलतियां वरना हो सकता है नुकसान

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। म्युचुअल फंड युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हुआ है। लोग बेहतर रिटर्न पाने के लिए अपनी छोटी-छोटी सेविंग्स को म्युचुअल फंड्स में निवेश करते हैं। बेहद आसान और सहज निवेश विकल्प होने के चलते ही यह लोकप्रिय बना। किसी भी जगह निवेश करने से पहले निवेशक को जरूरी जानकारी, बाजार की समझ और एक्सपर्ट की सलाह अवश्य ले लेनी चाहिए। निवेश विकल्प कितना भी सहज क्यों ना हो, बिना सोचे-समझे किया गया निवेश निवेशक के लिए नुकसानदेय भी हो सकता है। आज हम आपको पांच ऐसी गलतियां बताएंगे, जिन्हें म्युचुअल फंड में निवेश करते समय नहीं करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: SIP के जरिये अपने निवेश को अभी न करें बंद, इन्‍वेस्‍टमेंट जारी रखने का सही है समय

बिना लक्ष्य तय किये ना करें निवेश

निवेशक को किसी निवेश विकल्प में निवेश करने से पहले अपना लक्ष्य जरूर तय कर लेना चाहिए। म्युचुअल फंड में एसेट अलोकेशन के समय निवेशक को अपने लक्ष्य को जरूर ध्यान में रखना चाहिए। निवेशक को किस एसेट में कितना निवेश करना चाहिए, यह उसके लक्ष्य और जोखिम लेने की क्षमता पर ही निर्भर करता है।

बाजार से ना हों प्रभावित

अगर आपका कोई लंबे समय का लक्ष्य नहीं है और शेयर बाजार से प्रभावित होकर इक्विटी म्युचुअल फंड्स में निवेश करना चाहते हैं, तो याद रखें कि इसमें बहुत अधिक जोखिम हो सकता है। शेयर बाजार अनिश्चितताओं से भरा होता है। वहीं, अगर लंबे समय के लक्ष्य को लेकर इक्विटी में निवेश किया जाए, तो यह दूसरे एसेट्स की तुलना में काफी बेहतर साबित होगा।

ना करें पिछले रिटर्न के हिसाब से निवेश

कई सारे लोग रिटर्न के अपने पिछले ट्रैक रिकॉर्ड या स्टार रेटिंग को देखकर म्युचुअल फंड्स में निवेश करते हैं। यह सही नहीं है। निवेशक को निवेश करने से पहले फंड का समुचित मूल्यांकन कर लेना चाहिए। निवेशक को यह समझना चाहिए कि फंड ने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उसके पीछे क्या कारण रहा।

यह भी पढ़ें: PSUs में निजीकरण के विरोध में 10 जून से राष्ट्रव्यापी आंदोलन शुरू करेगा भारतीय मजदूर संघ

टैक्स सेविंग पर ना हो अधिक ध्यान

कुछ म्युचुअल फंड्स में टैक्स को लेकर फायदा होता है, इस कारण वे अधिक आकर्षक लगते हैं। हो सकता है कि वे अच्छे फंड हों, लेकिन यह हमेशा जरूरी नहीं है। निवेशक को टैक्स बचाने पर केंद्रित रहने की बजाए अच्छा रिटर्न पाने और अपना फंड बढ़ा करने के लक्ष्य के साथ निवेश करना चाहिए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.