महंगाई भत्‍ते के लिए 1 साल से इंतजार कर रहे हैं ये कर्मचारी, चिट्ठी लिख-लिख कर हार गए

Dearness allowance payment केंद्र सरकार के उपक्रम BSNL के नॉन एक्‍जीक्‍यूटिव कर्मचारियों को औद्योगिक महंगाई भत्‍ते (Industrial Dearness Allowance IDA) का साल से इंतजार है। उनके महंगाई भत्‍ते में बढ़ोतरी का लेटर भी जारी हो चुका है।

Ashish DeepFri, 19 Nov 2021 07:00 AM (IST)
BSNL मैनेजमेंट फंड न होने की मजबूरी बताकर पेमेंट नहीं कर रहा है।

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। केंद्र सरकार के उपक्रम BSNL के नॉन एक्‍जीक्‍यूटिव कर्मचारियों को औद्योगिक महंगाई भत्‍ते (Industrial Dearness Allowance, IDA) का साल से इंतजार है। उनके महंगाई भत्‍ते में बढ़ोतरी का लेटर भी जारी हो चुका है। लेकिन BSNL मैनेजमेंट फंड न होने की मजबूरी बताकर पेमेंट नहीं कर रहा है। इस बारे में BSNL EMPLOYEES UNION ने कंपनी के CMD पीके पुरवार को डिमांड लेटर भी भेजा है।

यूनियन के जनरल सेक्रेटरी पी अभिमन्‍यु के मुताबिक नॉन एक्‍जीक्‍यूटिव BSNL कर्मचारियों का IDA एरियर अब भी लटका हुआ है। केरल हाइकोर्ट के आदेश के बाद BSNL मैनेजमेंट महंगाई भत्‍ते का पेमेंट करने को राजी हुआ। लेकिन बाद में यह मजबूरी बता दी कि कंपनी के पास पेमेंट के लिए फंड नहीं है।

अभिमन्‍यु के मुताबिक BSNL प्रबंधन को केरल हाईकोर्ट का आदेश आने के बाद फैसला लेने में 8 महीने लग गए। यह महंगाई भत्‍ता एरियर बीते साल अक्‍टूबर से बाकी है। मैनेजमेंट ने 27 अक्‍टूबर 2021 को इसके पेमेंट के लिए ऑर्डर किया था। लेकिन अब तक पेमेंट रुका पड़ा है।

अभिमन्‍यु के मुताबिक उस ऑर्डर में यह बात लिखी थी कि फंड आने के बाद ही पेमेंट हो पाएगा। BSNL के नॉन एक्‍जीक्‍यूटिव कर्मचारियों का IDA एरियर फ्रीज करना गलत है। इसके बाद इसमें और देरी साफ जाहिर करती है कि मैनेजमेंट कर्मचारियों के हितों को लेकर संजीदा नहीं है।

अभिमन्‍यु के मुताबिक इस अन्‍याय के बावजूद यूनियन कंपनी से आग्रह करती है कि नॉन एक्‍जीक्‍यूटिव कर्मचारियों का IDA एरियर बिना देर किए जारी कर दिया जाए। यूनियन ने इस लेटर की कॉपी BSNL के एचआर डायरेक्‍टर और BSNL फाइनेंस डायरेक्‍टर को भी भेजी है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.