नौकरी जाने से प्रभावित हो सकता है आपका Credit Score, एक्‍सपर्ट से जानें किन बातों का रखें ख्‍याल

भले ही आपकी रिपोर्ट में नियुक्ति की स्थिति का कोई रिकार्ड कार्य इतिहास या निजी आय नहीं हो सच्चाई यह है कि नौकरी जाने से ईएमआई समय पर नहीं देने की आशंका बढ़ सकती है और इसलिए क्रेडिट स्कोर कम हो जाता है।

Manish MishraTue, 30 Nov 2021 03:13 PM (IST)
Job Loss Can Effect Your Credit Score, Know How To Keep It High

नई दिल्‍ली, रोहित गर्ग। नौकरी जाना तबाह करने वाली घटना हो सकती है। यह आपके जीवन के सभी पहलुओं को प्रतिकूल रूप से प्रभावित कर सकता है, खासकर अगर आप अपने परिवार के लिए अकेले कमाने वाले हों। अनापेक्षित रूप से नौकरी से हटा दिए जाने के कारण आपका निजी और पेशेवर जीवन अस्त-व्यस्त हो सकता है और इस कारण आपको अपनी प्राथमिकताएं फिर से तय करनी पड़ सकती है और आप भविष्य के लिए योजना बना सकते हैं। आपको खर्च करने की अपनी आदत का पुनर्मूल्यांकन भी करना पड़ सकता है और वित्तीय आजादी या फिर नौकरी पाने तक आपको अपनी जीवनशैली में कई एडजस्‍टमेंट करने पड़ सकते हैं।

वैसे तो आपके लिए यह स्वभाविक ही है कि आप पूरी तरह नई नौकरी तलाशने में लग जाएं पर अक्सर नौकरी जाने का प्रभाव अक्‍सर उपेक्षित होता है और आपको इसका भी ख्याल रखना चाहिए। बहुत सारे लोगों को पता नहीं है कि नौकरी जाने और लंबे समय तक बेरोजगार रहने से आपके क्रेडिट स्कोर पर प्रभाव पड़ना निश्चित है। सिर्फ स्पष्ट करने के लिए बता दूं कि आपका क्रेडिट स्कोर आपके पिछले लोन, बकाया के साथ-साथ पुनर्भुगतान का भी ख्याल रखता है लेकिन इससे यह पता नहीं चलता है कि आप नौकरी करते हैं या नहीं। इसलिए, आपका क्रेडिट स्कोर नौकरी जाने से प्रभावित नहीं होता है बशर्ते आप अपने कर्ज या किस्तों का भुगतान समय पर करते रहें।

भारत में चार प्रमुख क्रेडिट स्कोरिंग एजेंसियां - सिबिल, एक्सपेरियन पीएलसी, इक्विफैक्स इंक, और हाईमार्क फेडेरल क्रेडिट यूनियन क्रेडिट स्कोर निर्धारित करती हैं। आपकी क्रेडिट रिपोर्ट बनाते वक्त ये एजेंसियां आपके ॠण और क्रेडिट कार्ड से संबंधित सूचनाओं को भी शामिल करती हैं और ये सूचना सात साल तक की हो सकती हैं। भले ही आपकी रिपोर्ट में नियुक्ति की स्थिति का कोई रिकार्ड, कार्य इतिहास या निजी आय नहीं हो, सच्चाई यह है कि नौकरी जाने से ईएमआई समय पर नहीं देने की आशंका बढ़ सकती है और इसलिए, क्रेडिट स्कोर कम हो जाता है।

नौकरी जाने के बाद क्रेडिट स्कोर कैसे सुधारें?

अपना क्रेडिट स्कोर सुधारना उतना मुश्किल नहीं है जितना लग सकता है। इसमें कुछ समय लग सकता है। हालांकि, आप जिम्मेदार होकर और अच्छी वित्तीय आदतों का विकास करके इसे बेहतर कर सकते हैं। कुछ ऐसे रास्‍ते हैं जो आपको अपना क्रेडिट स्क्रोर बेहतर करने के लिए जरूर करना चाहिए, खासकर अगर आपकी नौकरी चली गई है तो।

समय पर बिलों का भुगतान

अपने बिलों का भुगतान समय पर करके आप अपना क्रेडिट स्कोर धीरे-धीरे पर निश्चित रूप से बेहतर कर सकते हैं। पुनर्भुगतान का इतिहास आपके क्रेडिट स्कोर का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा है। अगर आप अपने बिलों का भुगतान हर महीने समय पर करने लगें तो आप कुछ समय में अपना क्रेडिट स्कोर ठीक कर सकते हैं।

अपना ॠण कम करना

आप अपने क्रेडिट कार्ड का बकाया कम करके अपना क्रेडिट यूटिलाइजेशन रेशियो (कर्ज उपयोग अनुपात) कम कर सकते हैं। इससे आपका क्रेडिट स्कोर बेहतर हो जाएगा। अगर आपके पास थोड़ी बचत है तो उनका उपयोग छोटे ॠण को समय से पहले बंद करने के लिए उपयोग कीजिए और ब्याज मद की कुछ राशि की भी बचत कीजिए

नए ॠण के आवेदन सीमित कीजिए

नए आग्रह आपकी फाइल में तकरीबन दो साल रहते हैं। लेकिन इनका प्रवाह समय के साथ कम होता जाता है। इसलिए, नए ॠण के लिए ठोस पूछताछ की संख्या सीमित कीजिए। अगर आप जानते हैं कि स्थिर नौकरी के बिना आप उसका पुनर्भुगतान नहीं कर पाएंगे तो ॠण के लिए आवेदन मत कीजिए।

अपनी क्रेडिट रिपोर्ट में अशुद्धियां जांचे

आपकी क्रेडिट रिपोर्ट को समय-समय पर देखना महत्वपूर्ण है क्योंकि गलतियां हो सकती हैं। इसके अलावा, कभी-कभी रिपोर्ट समय पर अपडेट नहीं की जाती है। इससे आपने ॠण का पुनर्भुगतान कर भी दिया हो या पहले बंद करा दिया हो तो भी पता नहीं चलेगा। इसलिए, गांठ बांध लीजिए, अपने क्रेडिट स्कोर की जांच कीजिए और लगभद छह महीने पर रिपोर्ट कीजिए।

बकाया भुगतान निपटाएं

अगर आपको कोई भुगतान करना है, क्रेडिट कार्ड पर कुछ बकाया है या कोई डेट इंस्ट्रूमेंट है तो इसे क्लीयर कर देना जरूरी है ताकि आपका क्रेडिट स्कोर बेहतर हो। देर से भुगतान करने की सूचना आपकी क्रेडिट फाइल में रहती है। इससे यह भी पता चलता है कि भुगतान कितनी देर से किया गया। जितना समय गुजर जाएगा आपका क्रेडिट स्कोर उतना ही प्रतिकूल रूप से प्रभावित होगा।

यह महत्वपूर्ण है कि आप अपना क्रेडिट स्कोर हाई रखें, भले ही आपकी नौकरी न हो। चूंकि कई कंपनियां नियुक्ति प्रक्रिया के तहत क्रेडिट जांच करती हैं तो खराब क्रेडिट इतिहास आपको संभावित नौकरी मिलने में बाधा बन सकता है। इसलिए, सुनिश्चित कीजिए कि आप अपने बिलों का भुगतान समय पर करें और अपना क्रेडिट स्कोर बेहतर करें। नौकरी खोना बहुत मुश्किल है, और जब आप अपनी नौकरी पाने पर फोकस कर रहे हों तब अपना क्रेडिट स्कोर भी हाई रखने की कोशिश करनी चाहिए ताकि आपको अगली नौकरी आसानी से मिल जाए।

(लेखक स्‍मार्टक्‍वाइन के सीईओ एवं सह-संस्‍थापक हैं। प्रकाशित विचार उनके निजी हैं।)

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.