एक ही फंड में निवेश साबित हो सकता है घाटे का सौदा, पोर्टफोलियो का Diversification इस प्रकार है फायदेमंद

आपके निवेश पोर्टफोलियो का मतलब है आपके द्वारा किए गए निवेशों का संग्रह।

Portfolio Diversification के कई तरीकें हैं पहला तरीका है परिसम्पत्तियों का आवंटन अर्थात अचल संपत्ति गोल्ड ईटीएफ बॉन्ड म्यूचुअल फंड जैसे निवेश विकल्पों में से किसी एक में निवेश करने के बजाय इन सभी में संगठित और व्यवस्थित तरीके से निवेश करके अपने पूरे पोर्टफोलियो की जोखिम को कम करना।

Ankit KumarFri, 07 May 2021 11:10 AM (IST)

नई दिल्ली, लिजी चैपमैन। कुछ लोग ऐसे होते हैं जो काफी जल्दी निवेश की शुरुआत करते हैं, लेकिन उनसे कई ज्यादा लोग ऐसे होते हैं जो काफी देर हो जाने के बाद भी निवेश नहीं करतें। 1981 से 1996 के बीच पैदा हुए मिलेनियल्स में यह आदत काफी आम है। ध्यान देने लायक बात है कि मिलेनियल्स भारत की राष्ट्रीय घरेलु आय का 70% और कामकाज करने वाली आबादी का 46% हिस्सा है। इसका अर्थ ये नहीं है कि यह लोग निवेश के बारे में गंभीर नहीं हैं।

कोविड-19 के कारण शेयर बाजारों में 40% की गिरावट के बावजूद, देश में डिस्काउंट ब्रोकर्स के पास  खाता खोलने में लगभग 70% की वृद्धि हुई, जिनमें से 80% खातें मिलेनियल्स निवेशकों के थे। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि अधिकतर मिलेनियल्स निवेश के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए सक्रिय रूप से आगे आ रहे हैं, खास कर म्यूच्युअल और इक्विटी फंड्स में निवेश कैसे करना है यह जानने में उन्हें विशेष रुचि है। 

इंवेस्टमेंट का Diversification  

नए निवेशकों के लिए मुश्किल और संवेदनशील विषय पर चर्चा (जो हम बहुत जल्द ही करेंगे) शुरू करने से पहले, हम आपको पोर्टफोलियो विविधीकरण के बारे में जानकारी देना चाहते हैं, ताकि आप बाद में नहीं, बल्कि निवेश को शुरू करते समय ही इसे ध्यान में रख सकते हैं।

आपके निवेश पोर्टफोलियो का मतलब है आपके द्वारा किए गए निवेशों का संग्रह, चाहे वह सावधि जमा हो या स्टॉक्स में हो। पोर्टफोलियो विविधीकरण क्या है और इसे क्यों किया जाना चाहिए इन दोनों सवालों के जवाब आपस में जुड़े हैं, इसलिए हम यहाँ आपको कुल जानकारी दे रहे हैं।

मूल रूप से, जब आपके निवेश पोर्टफोलियो की बात आती है, तो हमेशा ध्यान रखें कि दौड़ में कभी भी दौड़ में सिर्फ एक घोड़े पर दांव नहीं लगाया जाता। इस तरह से अगर आपका एक घोड़ा हार जाता है तो आपने जिस दूसरे घोड़े पर दांव लगाया है वह आपको नुकसान से बचा सकता है।        

उदाहरण के तौर पर, अगर आपने कोविड-19 से पहले अपनी पूरी बचत को यात्रा उद्योग में निवेश किया होता, तो आप संभवतः अपनी अधिकांश या पूरी पूंजी खो देते, जबकि अगर आपने यात्रा और एडटेक दोनों में निवेश किया होता, तो यात्रा उद्योग में किया हुआ आपका निवेश डूब जाता लेकिन एडटेक में निवेश में मिलने वाले लाभों से आप उस नुकसान की भरपाई कर लेते। इस प्रकार से अपने पोर्टफोलियो में सही तरीके से विविधता लाकर आप अपनी पूरी निवेश पूंजी को खोने से बचा सकते हैं। जोखिम को फैलाकर उसे कम करना इसका मूल उद्देश्य है।

इसके कई तरीकें हैं; पहला तरीका है परिसम्पत्तियों का आवंटन, अर्थात अचल संपत्ति, गोल्ड ईटीएफ, बॉन्ड, म्यूचुअल फंड जैसे निवेश विकल्पों में से किसी एक में निवेश करने के बजाय इन सभी में संगठित और व्यवस्थित तरीके से निवेश करके अपने पूरे पोर्टफोलियो की जोखिम को कम करना।

आप इन परिसंपत्तियों को किस तरह से आवंटित करते हैं यह आपकी जोखिम उठाने की क्षमता पर या निवेश करते समय आप कितनी मात्रा में जोखिम उठाने के लिए तैयार है इस पर निर्भर करता है। जैसा कि हमने अपने निवेश की शुरूआत करने वालों के लिए मार्गदर्शन में उल्लेख किया है, निवेश पर आपको मिलने वाले लाभ जोखिम के अनुपात में होते हैं। यदि आप किसी पेशेवर से परामर्श नहीं कर रहे हैं, तो आपको कुछ मुद्दों पर सोचना होगा कि आपके पास बचत कितनी है, यदि निवेश में नुकसान होता है तो आपकी बचत कितना नुकसान सह सकती है और गवायी हुई पूंजी को वापिस पाने में कितना समय लगेगा।

अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने का और एक तरीका है - किसी एक निश्चित परिसंपत्ति वर्ग के भीतर विभिन्न विकल्पों में निवेश करना। इसलिए, उदाहरण के तौर पर, अगर आप शेयर्स में निवेश कर रहे हैं, तो आपको सावधान रहना चाहिए कि अपने सभी निवेशों को सिर्फ एक सेक्टर में केंद्रित न करें। स्टॉक्स में भी, जिनमें ज्यादा लाभ देने की अच्छी क्षमता और संभावना दिखती है उन विभिन्न सेगमेंट्स में निवेश करते रहें।

वास्तव में, एक निश्चित सेगमेंट के भीतर भी, आप अपने निवेश में विविधता ला सकते हैं। भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के दिशा-निर्देशों के अनुसार, कंपनियों को उनके बाजार पूंजीकरण (कंपनी के बकाया शेयरों का बाजार मूल्य) को लार्ज-कैप (उच्च बाजार मूल्य), मिड-कैप और स्माल-कैप (कम बाजार मूल्य) के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।

लार्ज-कैप कंपनी में निवेश करने से मिलने वाले फायदें और नुकसान मिड और स्मॉल-कैप कंपनियों में निवेश करने के फायदें और नुकसान से अलग होते हैं क्योंकि इन सभी कंपनियों की वृद्धि और उनमें होने वाले परिवर्तन के चरण अलग-अलग होते हैं। लार्ज-कैप कंपनी के स्टॉक्स अच्छी तरह से स्थापित और स्थिर होते हैं, लेकिन उनमें किए गए निवेश में वृद्धि की संभावना ज्यादा नहीं है, जबकि स्मॉल और मिड-कैप स्टॉक्स ज्यादा अस्थिर होते हैं क्योंकि वे बाजार में नए हैं, लेकिन उनमें विकास की संभावनाएं काफी ज्यादा होती हैं। दिए गए किसी एक सेगमेंट में एक के बजाय विभिन्न कंपनियों में निवेश करने से आपके निवेश में सही विविधता आ सकती है।

अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि इससे आप अल्पकालिक अस्थिरता से सुरक्षित रह सकते हैं। जब आप अपने निवेश के प्रति एक व्यवस्थित दृष्टिकोण को अपनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे होते हैं, तब बाजार के अस्थायी रुझानों के आधार पर अल्पकालिक निवेश करने की आपकी संभावना कम होती है। विविधीकरण एक संगठित दृष्टिकोण है, भले ही अल्पावधि में ज्यादा नुकसान दिखाई दे रहा हो, लेकिन दीर्घावधि में उसे कम किया जा सकता है। आपके लिए यह  केवल एक अस्थायी गड़बड़ से अधिक कुछ नहीं है क्योंकि आपका लक्ष्य दीर्घकालिक विकास और लाभ प्राप्त करना है। 

पोर्टफोलियो विविधीकरण का एक अंतिम लाभ यह भी है कि इससे आप एक निवेशक के रूप में अपने कौशल को बढ़ाते हैं। शेयर्स और परिसंपत्तियों की एक विस्तृत श्रृंखला में निवेश करने से आपको अर्थव्यवस्था का व्यापक दौर दिखाई देगा और कौन-सा निवेश आपके लिए सबसे बेहतर है इसके बारे में आपका अंतर्ज्ञान बढ़ेगा। जैसे आपके लाभ  बढ़ते जाएंगे वैसे आप बढ़ते रहेंगे और आपको बेहतर आइडियाज आते रहेंगे।

याद रखें कि बाज़ार में गति हमेशा बनी रहेगी, लेकिन लंबी दौड़ में पोर्टफोलियो का विविधीकरण आपको सभी उतार-चढ़ावों से बचाता रहेगा।           

(लेखक ZestMoney के सीईओ और को-फाउंडर हैं। प्रकाशित विचार लेखक के निजी हैं।)

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.