Highest Savings Account Rates: ये 5 प्राइवेट बैंक सेविंग अकाउंट पर दे रहे सबसे ज्यादा ब्याज, जानिए इनके बारे में

Highest Savings Account Rates लोगों ने अपना पैसा बचत खाते में रखना शुरू कर दिया है क्योंकि वे एफडी रेट की तुलना में बचत खाते में ज्यादा ब्याज मिल रहे हैं। सेविंग अकाउंट में आपका पैसा जमा होता है तो आपको उस पर ब्याज भी मिलता है।

NiteshThu, 23 Sep 2021 03:25 PM (IST)
लोगों ने अपना पैसा बचत खाते में रखना शुरू कर दिया है

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। जब से Fixed Deposit दरों में गिरावट आई है, लोगों ने अपना पैसा बचत खाते में रखना शुरू कर दिया है, क्योंकि वे एफडी रेट की तुलना में बचत खाते में ज्यादा ब्याज मिल रहे हैं। सेविंग अकाउंट में आपका पैसा जमा होता है तो आपको उस पर ब्याज भी मिलता है। बचत खाता होने के कई फायदे हैं जैसे ब्याज अर्जित करना, पैसे की सुरक्षा, fixed deposit के बीच ऑटो स्वीप सुविधा के कारण अतिरिक्त कमाई, आदि। प्राइवेट बैंक के साथ सरकारी बैंक बचत खाते की सुविधा देते हैं। छोटे निजी बैंक HDFC Bank और ICICI Bank की तुलना में बचत खातों पर ज्यादा ब्याज दे रहे हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में...

यह भी पढ़ें: आपके Aadhaar का कहां-कहां हुआ है इस्तेमाल, घर बैठे ऐसे लगाएं पता

Yes Bank: यस बैंक बचत खातों पर 5.25 फीसद तक ब्याज दर ऑफर कर रहा है। मंथली एवरेज बैलेंस 10,000 रुपये से 25,000 रुपये है।

RBL Bank: आरबीएल बैंक बचत खातों पर 6 फीसद तक ब्याज दर ऑफर कर रहा है। इसमें एवरेज मंथली बैलेंस 2,500 रुपये से 5,000 रुपये रखने होंगे।

DCB Bank: डीसीबी बैंक बचत खातों पर 6.75 फीसद तक की ब्याज दर दे रहा है। निजी बैंकों में यह बैंक सबसे ज्यादा ब्याज दर दे रहा है। इसमें मासिक शेष राशि 2,500 रुपये से 5,000 रुपये रखने हैं। ज्यादा जानकारी के लिए आप इस बैंक की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं।

IndusInd Bank: इंडसइंड बैंक बचत खातों पर 5 फीसद तक ब्याज दर दे रहा है। औसत मासिक शेष राशि 1,500 रुपये से 10,000 रुपये है।

Bandhan Bank: बंधन बैंक बचत खातों पर 6 फीसद तक की ब्याज दर दे रहा है। जरूरी मासिक औसत शेष राशि 5,000 रुपये है।

इन सभी बैंकों की बचत खाते से जुड़ी ज्यादा जानकारी के लिए आप इनकी वेबसाइट पर जाकर चेक कर सकते हैं। वहां से आपको पूरी डिटेल मिल जाएगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.