भारत के 9 अमीरों के पास 50% आबादी के बराबर संपत्ति, 2022 तक बनेंगे रोजाना 70 नए करोड़पति: ऑक्सफैम

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। भारतीय अरबपतियों की संपत्ति में 2018 में प्रतिदिन 2,200 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है। इस दौरान, देश के शीर्ष एक फीसद अमीरों की संपत्ति में 39 फीसद की वृद्धि हुई जबकि 50 फीसद गरीब आबादी की संपत्ति में महज तीन फीसद की बढ़ोतरी हुई है। ऑक्सफैम ने अपने अध्ययन में यह बात कही।

रिपोर्ट में कहा गया है कि देश के शीर्ष नौ अमीरों की संपत्ति पचास फीसद गरीब आबादी की संपत्ति के बराबर है। दावोस में विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) की सालाना बैठक से पहले जारी इस अध्ययन में कहा गया है कि दुनिया भर के अरबपतियों की संपत्ति में पिछले साल प्रतिदिन 12 फीसद यानी 2.5 अरब डॉलर की वृद्धि हुई है। वहीं, दुनियाभर में मौजूद गरीब लोगों की 50 फीसद आबादी की संपत्ति में 11 फीसद की गिरावट देखी गई।

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में रहने वाले 13.6 करोड़ लोग साल 2004 से कर्जदार बने हुए हैं। यह देश की सबसे गरीब 10 फीसद आबादी है। आक्सफैम ने दावोस में मंच की इस सालाना बैठक के लिए जुटे दुनियाभर के राजनीतिक और व्यावसायिक नेताओं से आग्रह किया है कि वे अमीर और गरीब लोगों के बीच बढ़ रही खाई को कम करने के लिए तत्काल कदम उठाएं क्योंकि यह बढ़ती असमानता गरीबी के खिलाफ संघर्ष को ही कमतर करके आंक नहीं रही है बल्कि अर्थव्यवस्थाओं को चौपट कर रही है और दुनियाभर में जनाक्रोश पैदा हो रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के सबसे अमीर शख्स और अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस की संपत्ति बढ़कर 112 अरब डॉलर हो गई। उनकी संपत्ति का महज एक फीसद हिस्सा यूथोपिया के स्वास्थ्य बजट के बराबर है। रिपोर्ट में कहा गया है कि "भारत की शीर्ष 10 फीसद आबादी के पास देश की कुल संपत्ति का 77.4 फीसद हिस्सा है। इनमें से सिर्फ एक ही फीसद आबादी के पास देश की कुल संपत्ति का 51.53 फीसद हिस्सा है।" वहीं, करीब 60 फीसद आबादी के पास देश की सिर्फ 4.8 फीसद संपत्ति है। देश के शीर्ष नौ अमीरों की संपत्ति पचास फीसद गरीब आबादी की संपत्ति के बराबर है। ऑक्सफैम ने कहा एक अनुमान है कि 2018 से 2022 के बीच भारत में रोजाना 70 नए करोड़पति बनेंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले साल देश में 18 नए अरबपति बने। इसी के साथ अरबपतियों की संख्या बढ़कर 119 हो गयी है। उनकी संपत्ति पहली बार बढ़कर 400 अरब डॉलर (28 लाख करोड़) के स्तर को पार कर गई है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.