चीन की कंपनियों ने हाल में भारत के हाईवे प्रोजेक्ट्स में नहीं किया है निवेशः गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि चीन की कंपनियों ने हाल में भारत के हाईवे प्रोजेक्ट्स में इंवेस्ट नहीं किया है। जुलाई 2020 में गडकरी ने कहा था कि भारत चीन की कंपनियों को हाईवे प्रोजेक्ट्स में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं देगा।

Ankit KumarTue, 21 Sep 2021 02:16 PM (IST)
गडकरी ने कहा कि 'भविष्य के भारत' के लिए हमें एक्सपोर्ट में वृद्धि करना होगा और इम्पोर्ट घटाना होगा।

नई दिल्ली, पीटीआइ। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि चीन की कंपनियों ने हाल में भारत के हाईवे प्रोजेक्ट्स में इंवेस्ट नहीं किया है। जुलाई 2020 में बॉर्डर को लेकर चीन के साथ गतिरोध के बीच गडकरी ने कहा था कि भारत, चीन की कंपनियों को हाईवे प्रोजेक्ट्स में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं देगा। उन्होंने कहा था कि ज्वाइंट वेंचर के जरिए भी चीन की कंपनियों को इस बात की इजाजत नहीं दी जाएगी।

(यह भी पढ़ेंः घर लेना होगा आसान, त्योहारी मौसम को देखते हुए HDFC ने घटाई होम लोन पर ब्याज दर)

इस बाबत जब पीटीआइ ने गडकरी से सवाल किया कि क्या चीन की कंपनियों ने हाल के समय में भारत के हाईवे प्रोजेक्ट्स में इंवेस्ट किया है, तो उनका जवाब 'ना' में था।

हालांकि, उन्होंने इस बारे में कोई विस्तृत ब्योरा नहीं दिया।

'पीटीआइ' के साथ हाल में एक इंटरव्यू में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री गडकरी ने कहा था कि भारत को अपना निर्यात बढ़ाना होगा और आयात को कम करना होगा।

अमेरिका की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली दिग्गज कंपनी टेस्ला द्वारा भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के आयात पर लगने वाले शुल्क में कमी की मांग पर गडकरी ने कहा, ''टेस्ला को टैक्स में छूट देने का निर्णय वित्त मंत्रालय द्वारा लिया जाएगा।''

गडकरी ने कहा कि 'भविष्य के भारत' के लिए हमें एक्सपोर्ट में वृद्धि करना होगा और इम्पोर्ट घटाना होगा।

(अमीर बनने के लिए सिर्फ पैसे बचाना काफी नहीं, सही जगह पर निवेश की जानकारी भी है जरूरीः एक्सपर्ट)

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.