आज दोपहर 2 बजे तक उपलब्ध नहीं रहेगी रुपये ट्रांसफर करने की यह सुविधा, जानिए क्या है कारण

Real Time Gross Settlement P C : Pixabay

आरटीजीएस विशेष-तौर पर उन ग्राहकों के लिए है जो बड़े कारोबारों से जुड़े होते हैं और बड़ी राशि ट्रांसफर करते हैं। आरटीजीएस सुविधा का उपयोग कोई भी ले सकता है। इस सुविधा से न्यूनतम दो लाख रुपये ट्रांसफर किए जा सकते हैं और अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है।

Pawan JayaswalSat, 17 Apr 2021 10:42 AM (IST)

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय रिज़र्व बैंक ने हाल ही में घोषणा की है कि रुपये ट्रांसफर करने की सुविधा रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) रविवार को 14 घंटे के लिए उपलब्ध नहीं रहेगी। केंद्रीय बैंक ने बताया कि सिस्टम को मजबूत करने के लिए तकनीक अपग्रेड होनी है, जिस कारण यह सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी। आरबीआई ने बताया कि यह सुविधा 18 अप्रैल, रविवार को 12 am से 2 pm तक उपलब्ध नहीं रहेगी।

एक प्रेस विज्ञप्ति में आरबीआई ने कहा, 'आरटीजीएस की गुणवत्ता में बढ़ोत्तरी करने और आरटीजीएस सिस्टम के डिजास्टर रिकवरी टाइम को और बेहतर बनाने के लिए 17 अप्रैल, 2021 को कारोबार बंद होने के बाद आरटीएस में टेक्निकल अपग्रेडेशन किया जाएगा।'

हालांकि, आरबीआई ने यह स्पष्ट किया है कि इस दौरान नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) सुविधा पूर्व की तरह ही कार्य करती रहेगी। आरबीआई ने कहा, 'इस तरह आरटीजीएस सुविधा रविवार को 00:00 बजे से 14:00 बजे तक उपलब्ध नहीं रहेगी। एनईएफटी सिस्टम पहले की तरह ही काम करता रहेगा।'

क्या है आरटीजीएस

आरटीजीएस का पूरा नाम रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (Real Time Gross Settlement) है। यह सुविधा ऑनलाइन रुपये ट्रांसफर करने में उपयोग ली जाती है। यह लगभग एनईएफटी की तरह ही है। इस सुविधा के माध्यम से रियल टाइम में रुपये एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में आसानी से और सुरक्षित रूप से ट्रांसफर किये जा सकते हैं। आरटीजीएस विशेष तौर पर उन ग्राहकों के लिए है, जो बड़े कारोबारों से जुड़े होते हैं और बड़ी राशि ट्रांसफर करते हैं। आरटीजीएस सुविधा का उपयोग कोई भी ले सकता है। इस सुविधा से न्यूनतम दो लाख रुपये ट्रांसफर किए जा सकते हैं और अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.