इस साल भारत के प्रमुख शहरों में घर खरीदने वालों की बढ़ी तादाद: JLL India रिपोर्ट

जेएलएल इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस साल प्रमुख शहरों में घर खरीदने की क्षमता में सुधार हुआ है। रिपोर्ट बताती है कि 2013 और 2021 के बीच प्रमुख भारतीय शहरों दिल्ली-एनसीआर मुंबई कोलकाता चेन्नई पुणे हैदराबाद और बेंगलुरु में घर खरीदने की क्षमता में लगातार वृद्धि हुई है।

Abhishek PoddarMon, 27 Sep 2021 03:36 PM (IST)
जेएलएल इंडिया के अनुसार इस साल प्रमुख शहरों में घर खरीदने की क्षमता में सुधार हुआ है।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। संपत्ति सलाहकार जेएलएल इंडिया के अनुसार, 2020 के निचले आधार से घरेलू आय में वृद्धि, कम बंधक दरों और स्थिर आवास की कीमतों की वजह से, इस साल प्रमुख शहरों में घर खरीदने की क्षमता में सुधार हुआ है।

जेएलएल इंडिया ने सोमवार को अपना वार्षिक होम परचेज अफोर्डेबिलिटी इंडेक्स (JLL HPAI 2021) लॉन्च किया। यह इंडेक्स दर्शाता है कि, क्या औसत वार्षिक आय (समग्र शहर स्तर पर) अर्जित करने वाला परिवार शहर में प्रचलित स्थिति में बाजार मूल्य पर, एक संपत्ति पर हाउसिंग लोन के लिए पात्र है।

इंडेक्स से पता चलता है कि साल 2013 और 2021 के बीच, प्रमुख भारतीय शहरों, दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, पुणे, हैदराबाद और बेंगलुरु में घर खरीदने की क्षमता में लगातार वृद्धि हुई है।

जेएलएल इंडिया ने कहा कि, "चालू वर्ष के दौरान, घरेलू आय में 7 से 9 फीसद (2020 के निचले आधार से) की तेजी से वृद्धि देखी गई है। हैदराबाद को छोड़कर भारत के सभी प्रमुख आवासीय बाजारों में घर की कीमतें स्थिर रहीं। इसके अलावा, बंधक दरें 15 वर्षों में अपने सबसे निचले स्तर पर जारी हैं, जिससे घर खरीदारों के लिए ईएमआई कम हो गई है। इस वजह से भी गर खरीदने की क्षमता में सुधार हुआ है।"

जेएलएल एचपीएआई 2021 के अनुसार, " मुंबई जो कि भारत का सबसे महंगा संपत्ति बाजार है, वहां पर घरेलू सामर्थ्य सूचकांक में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है, जो इस साल 100 की सामर्थ्य सीमा को पार कर गया है।"

जेएलएल रिपोर्ट ने एचपीएआई को औसत घरेलू आय और पात्र घरेलू आय के अनुपात के तौर पर परिभाषित किया है। योग्य घरेलू आय को न्यूनतम आय के रूप में परिभाषित किया गया है जो एक परिवार को मौजूदा बाजार मूल्य पर 1,000 वर्ग फुट के अपार्टमेंट पर होम लोन के लिए एलिजबिलिटी प्राप्त करने के लिए अर्जित करना चाहिए। इसके इंडेक्स के अनुसार 100 की वैल्यू का मतलब है कि एक परिवार के पास वास्तव में लोन के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए पर्याप्त आय है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.