Adani Group के शेयर लुढ़के, फिर भी रिकॉर्ड उच्च स्तर पर बंद हुए Sensex, Nifty; RIL में रही सबसे ज्यादा तेजी

Stock Market Close Today BSE Sensex 76.77 अंक यानी 0.15 फीसद के उछाल के साथ 52551.53 अंक के स्तर पर बंद हुआ। वहीं NSE Nifty 12.50 अंक यानी 0.08 फीसद चढ़कर 15811.90 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

Ankit KumarMon, 14 Jun 2021 04:05 PM (IST)
Adani Group के शेयरों में सोमवार को जबरदस्त टूट देखने को मिली।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। Adani Group के शेयरों में सोमवार को जबरदस्त टूट देखने को मिली। इससे सप्ताह के पहले कारोबारी सत्र में घरेलू शेयर बाजारों में बहुत अधिक उतार-चढ़ाव देखने को मिला। हालांकि, दिन का कारोबार खत्म होते-होते शेयर बाजार नए रिकॉर्ड उच्च स्तर पर बंद हुए। BSE Sensex 76.77 अंक यानी 0.15 फीसद के उछाल के साथ 52,551.53 अंक के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, NSE Nifty 12.50 अंक यानी 0.08 फीसद चढ़कर 15,811.90 अंक के स्तर पर बंद हुआ। निफ्टी पर Tata Motors, Reliance Industries, Wipro, Divis Labs और Bajaj Finance के शेयरों में सबसे ज्यादा उछाल दर्ज किया गया। दूसरी ओर, Adani Ports, Coal India, Kotak Mahindra Bank, HDFC एवं Maruti Suzuki के शेयर में सबसे ज्यादा टूट देखने को मिली।

सेंसेक्स पर इन शेयरों में रही तेजी

Sensex पर Reliance Industries के शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी देखने को मिली। इसके अलावा Bajaj Finance, ONGC, Powergrid, Infosys, L&T, IndusInd Bank, Ultratech Cement, Titan, Bajaj Finserv, Dr Reddys, HCL Tech, TCS, Hindustan Unilever Limited, SBI, Asian Paints और नेस्ले इंडिया के शेयर बढ़त के साथ बंद हुए।

दूसरी ओर, कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank), एनटीपीसी (NTPC), एचडीएफसी (HDFC) व Tech Mahindra के शेयरों में सबसे ज्यादा टूट दर्ज की गई। इनके अलावा सन फार्मा, बजाज ऑटो, मारुति, एचडीएफसी बैंक, आईटीसी, एक्सिस बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, भारती एयरटेल, आईसीआईसीआई बैंक और हिन्दुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड के शेयर लाल निशान के साथ बंद हुए।

जानिए शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव की वजह

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के प्रमुख (शोध) विनोद नायर ने कहा, ''किसी तरह के सकारात्मक संकेतों के अभाव में घरेलू शेयर बाजार लाल निशान के साथ खुले लेकिन दोपहर के सत्र में प्रमुख कंपनियों के शेयरों में लिवाली और पॉजिटीव ग्लोबल मार्केट से इसमें रिकवरी देखने को मिली। मई महीने में थोक महंगाई दर में 12.94 फीसद का उछाल देखने को मिला। यह ईंधन एवं मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की ऊंची कीमतों को दिखाता है।''

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.