Presenting Sponsor

SBI Kisan Credit Card: बैंक ने लॉन्च की YONO कृषि समीक्षा, बस चार क्लिक में मिलेगी ये सारी सुविधाएं

SBI Kisan Credit Card: बैंक ने लॉन्च की YONO कृषि समीक्षा, बस चार क्लिक में मिलेगी ये सारी सुविधाएं

बैंक ने एक बयान में कहा कि योनो कृषि पर केसीसी की समीक्षा से 75 लाख से अधिक किसानों को लाभ होने की उम्मीद है जिनके एसबीआई में केसीसी खाते हैं।

Publish Date:Fri, 14 Aug 2020 02:42 PM (IST) Author: Nitesh

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपने डिजिटल कृषि समाधान मंच, YONO Krish पर KCC (किसान क्रेडिट कार्ड) समीक्षा विकल्प पेश किया है, जिससे किसान चार क्लिक में अपनी KCC सीमा का उपयोग कर सकेंगे। SBI ने एक बयान में कहा कि इस अतिरिक्त सुविधा के साथ किसानों को अपनी केसीसी सीमा में बदलाव के लिए आवेदन करने के वास्ते बैंक के ब्रांच में नहीं जाना होगा।

बैंक ने एक बयान में कहा कि योनो कृषि पर केसीसी की समीक्षा से 75 लाख से अधिक किसानों को लाभ होने की उम्मीद है, जिनके एसबीआई में केसीसी खाते हैं। पेपरलेस केसीसी समीक्षा की सुविधा से न केवल किसानों को केसीसी सीमा के बदलाव के लिए आवेदन करने में लगने वाली लागत और परेशानी से बचने में मदद मिलेगी, बल्कि फसल कटाई के मौसम के दौरान विशेष रूप से उनके लिए प्रक्रिया को और तेज कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: सरकार 15 अगस्त को कर सकती है वन नेशन वन हेल्थ कार्ड का एलान, मिलेंगी ये सारी सुविधाएं

भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार, केसीसी योजना इस लिहाज से तैयार किया गया है कि किसानों को उनकी खेती और अन्य जरूरतों के लिए लचीली और आसान प्रक्रिया के साथ सिंगल सिस्टम के तहत बैंकिंग प्रणाली से पर्याप्त और समय पर कर्ज मिल सके।

यह योजना किसानों को फसलों की खेती के लिए अल्पकालिक आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करती है। इसके अलावा कटाई के बाद के खर्च, मार्केटिंग लोन का उत्पादन, किसान परिवारों की उपभोग आवश्यकताओं, कृषि से संबद्ध कृषि संपत्ति और गतिविधियों के रखरखाव के लिए कार्यशील पूंजी और कृषि और संबद्ध गतिविधियों के लिए निवेश क्रेडिट की आवश्यकता को पूरा करने में सहायता मिलती है।

YONO कृषि में चार ऑफरिंग सेक्शन हैं, जिनमें- खाता, बचत, (किसानों के निवेश और बीमा जरूरतों के लिए वित्तीय सुपर स्टोर), मित्र (कृषि सलाहकार सेवाएं) और मंडी (कृषि आदानों की खरीद के लिए ऑनलाइन बाजार स्थान और कृषि उपकरण) शामिल हैं। सभी किसानों के पास स्मार्टफोन नहीं होने के चलते एसबीआई ने कहा कि उसने अपनी शाखाओं में केसीसी समीक्षा प्रक्रिया को भी ठीक किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.