SBI को पहली तिमाही में 6,504 करोड़ रुपये का मुनाफा, फंसे हुए कर्ज में भी आई गिरावट

SBI Q1 Result देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून तिमाही) में एकल शुद्ध लाभ के 55 फीसद के उछाल के साथ 6504 करोड़ रुपये पर पहुंच जाने की सूचना दी है।

Ankit KumarWed, 04 Aug 2021 05:31 PM (IST)
फंसे हुए कर्ज में कमी से बैंक के मुनाफे में वृद्धि देखने को मिली।

नई दिल्ली, पीटीआइ। देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में एकल शुद्ध लाभ के 55 फीसद के उछाल के साथ 6,504 करोड़ रुपये पर पहुंच जाने की सूचना दी है। फंसे हुए कर्ज में कमी से बैंक के मुनाफे में वृद्धि देखने को मिली। बैंक को वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में 4,189.34 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था। बैंक द्वारा शेयर बाजारों को उपलब्ध करायी गई जानकारी के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में बैंक की कुल एकल आय बढ़कर 77,347.17 करोड़ रुपये पर पहुंच गई। पिछले साल अप्रैल से जून तिमाही के दौरान बैंक को 74,457.86 करोड़ रुपये की आय हुई थी।

इस साल अप्रैल-जून तिमाही के दौरान बैंक का परिचालन लाभ पांच फीसद के उछाल के साथ 18,975 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। पिछले साल अप्रैल से जून तिमाही के दौरान बैंक को 18,061 करोड़ रुपये का परिचालन लाभ हुआ था। हालांकि, आलोच्य अवधि में बैंक की ब्याज से होने वाली आय गिरावट के साथ 65,564 करोड़ रुपये पर रह गई। इससे पहले जून, 2020 में यह आंकड़ा 66,500 करोड़ रुपये पर रहा था।

बैंक का ग्रॉस नॉन-परफॉर्मिंग एसेट्स (NPA) जून तिमाही के आखिर में घटकर कुल एडवांस के 5.32 फीसद पर रह गया। पिछले साल जून तिमाही में यह 5.32 फीसद पर रहा था। इसी तरह नेट एनपीए भी जून तिमाही में घटकर 1.7 फीसद पर आ गया जो पिछले साल की समान तिमाही में 1.8 फीसद पर रहा था।

नतीजन, फंसे हुए कर्ज के बदले प्रोविजनिंग घटकर 5,029.79 करोड़ रुपये पर रह गई। इससे पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में फंसे हुए कर्ज के बदले बैंक को 9,420.46 करोड़ रुपये की प्रोविजनिंग करनी पड़ी थी।

एसबीआई ने कहा है कि पहली तिमाही के आखिर में बैंक ने कोविड-19 कॉन्टिन्जेंसी के लिए अतिरिक्त 9,065 करोड़ रुपये की प्रोविजनिंग की थी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.