दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

SBI की इस कंपनी पर लगा 30 लाख का जुर्माना, कंपनी के शेयरों की ऐसी दिखी चाल

IRDAI का आदेश आने के बाद भी SBI General Insurance Company के शेयरों पर असर नहीं पड़ा। (Reuters)

Insurance नियम टूटने पर इंश्‍योरेंस रेगुलेटर IRDAI ने SBI General Insurance Company पर बड़ा जुर्माना लगाया है। IRDAI पहले भी दूसरी कंपनियों को नियमों का पालन नहीं करने पर सख्‍ती कर चुका है। बीमा नियामक ने SBI General Insurance Company पर 30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।

Ashish DeepTue, 11 May 2021 10:56 AM (IST)

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। Insurance नियम टूटने पर इंश्‍योरेंस रेगुलेटर IRDAI ने SBI General Insurance Company पर बड़ा जुर्माना लगाया है। IRDAI पहले भी दूसरी कंपनियों को नियमों का पालन नहीं करने पर सख्‍ती कर चुका है। बीमा नियामक ने SBI General Insurance Company पर 30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। बताया जाता है कि कंपनी ने थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस से जुड़े नियमों के पालन में लापरवाही की थी।

शेयर पर असर नहीं

IRDAI का आदेश आने के बाद भी SBI General Insurance Company के शेयरों पर असर नहीं पड़ा। मंगलवार को कंपनी का शेयर 5 रुपए ऊपर 1005 रुपए पर कारोबार कर रहा था।

IRDAI का फरमान

IRDAI ने तीसरे पक्ष के मोटर बीमा नियमों का पालन न करने के लिए SBI General Insurance Company पर 30 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। बीमा नियामक ने आदेश में कहा कि एसबीआई जनरल इंश्योरेंस कंपनी ने 2018-19 के संबंधित IRDAI नियमों में तीसरे पक्ष के मोटर (MTP) बीमा नियमों का पालन नहीं किया। 

अंडरराइटिंग में कम रकम

IRDAI ने कहा है कि कंपनी पर आरोप था कि उसने कारोबारी साल 2018-19 के लिए एमटीपी नियमों का पालन नहीं किया। कारोबारी साल 2018-19 के दौरान SBI General Insurance Company ने दायित्व के अंतर्गत न्यूनतम 638.34 करोड़ रुपए के एमटीपी की जगह केवल 316.36 करोड़ रुपए की अंडरराइटिंग (बीमा) किया। इस तरह कंपनी ने दायित्व से 321.98 करोड़ रुपये कम या 50.44 प्रतिशत की रकम के बराबर का ही एमटीपी किया। 

बीमा कंपनी का बयान

नियामक के आदेश में कहा गया कि कंपनी के मुताबिक उसने अपने व्यापार की किसी भी जगह पर किसी भी एमटीपी नीति का उल्‍लंघन नहीं किया और उसका कोई गलत इरादा नहीं था। यह भी कहा गया कि बीमा कंपनी ने इससे पहले के दो और कारोबारी साल में भी एमटीपी नियमों का पालन नहीं किया था। 

SBI Cards ने जारी किए बांड

उधर, SBI की दूसरी कंपनी SBI Cards ने कहा है कि उसने बांड जारी कर 455 करोड़ रुपये जुटाएं हैं। एसबीआई कार्ड्स ने शेयर बाजार को दी सूचना में बताया कि कंपनी ने 4,550 डिबेंचर के आवंटन को मंजूरी दे दी है। बांड की मैच्‍योरिटी 10 मई 2024 है और इन पर सालाना ब्याज 5.70 प्रतिशत है। एसबीआई कार्ड ने कहा कि ये बांड BSE के थोक कर्ज बाजार खंड में सूचीबद्ध होंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.