विकास दर अनुमानों को लगे पंख, SBI को चालू वित्त वर्ष में 9.6 प्रतिशत विकास दर की उम्‍मीद

अर्थव्यवस्था में चौतरफा मजबूती को देखते हुए विभिन्न संगठन व संस्थाएं विकास दर अनुमानों में बढ़ोतरी करने लगे हैं। एसबीआइ ने चालू वित्त वर्ष की विकास दर 9.3-9.6% रहने का अनुमान लगाया है। एसबीआइ ने इससे पहले चालू वित्त वर्ष में 8.5-9.0 प्रतिशत विकास दर रहने का अनुमान लगाया था।

Manish MishraTue, 23 Nov 2021 10:39 AM (IST)
SBI expects 9.6 percent growth rate of indian economy in current financial year

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था में चौतरफा मजबूती को देखते हुए विभिन्न संगठन व संस्थाएं विकास दर अनुमानों में बढ़ोतरी करने लगे हैं। एसबीआइ ने सोमवार को जारी अपनी रिसर्च रिपोर्ट में चालू वित्त वर्ष (2021-22) की विकास दर 9.3-9.6 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है। एसबीआइ ने इससे पहले चालू वित्त वर्ष में 8.5-9.0 प्रतिशत विकास दर रहने का अनुमान लगाया था। एसबीआइ ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर, 2021) में 8.1 प्रतिशत के साथ दुनिया की 28 प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में सबसे तेज विकास दर भारतीय अर्थव्यवस्था की रहेगी।

दूसरी तरफ, राजस्व वसूली से राजकोषीय घाटे में भी कमी होती दिख रही है। रेटिंग एजेंसी फिच ने चालू वित्त वर्ष के लिए राजकोषीय घाटा जीडीपी का 6.6 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है, जो पहले 6.8 प्रतिशत था। एसबीआइ के मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था में तेजी इसलिए दिख रही है क्योंकि देश के 42 प्रतिशत वयस्क को वैक्सीन की दोनों डोज और 81 प्रतिशत से अधिक वयस्क को एक डोज लग चुकी है। कोरोना संक्रमण दर में लगातार कमी हो रही है और अर्थव्यवस्था में चौतरफा तेजी है।

चालू वित्त वर्ष की विकास दर के अनुमान में इसलिए भी बढ़ोतरी की गई है क्योंकि वैश्विक स्तर पर सप्लाई चेन के बाधित होने का भारत पर कोई खास असर नहीं दिखा। वहीं, दुनिया की अन्य प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं पर महंगाई, कोरोना और सप्लाई चेन संबंधी बाधाओं का गहरा असर दिख रहा है। यही वजह है कि इस साल अप्रैल-जून में अमेरिका की जो विकास दर 12.2 प्रतिशत थी, वह जुलाई-सितंबर गिरकर 4.9 प्रतिशत रह गई।

चीन में भी जुलाई-सितंबर में विकास दर की रफ्तार कम हो गई और वहां भी इस अवधि में 4.9 प्रतिशत की दर से विकास हुआ। जबकि इस साल अप्रैल-जून में चीन की विकास दर 7.9 प्रतिशत थी।एसबीआइ ने चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) में भारत की विकास दर 6.0-6.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है। वहीं, आरबीआइ ने चालू वित्त वर्ष में विकास दर 9.5 प्रतिशत, जुलाई-सितंबर तिमाही में 7.9 प्रतिशत और अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 6.8 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.