SAIL में 10 फीसद हिस्सेदारी बेचेने की घोषणा के बाद 10 फीसद तक टूटे शेयर, सरकार ने कल की थी घोषणा

SAIL dips 10 percent after government sets floor price at Rs 64 for OFS

दरअसल केंद्र सरकार ने बुधवार को स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड में कुल इक्विटी का 10 फीसद हिस्सा बेचने का प्लान बनाया। इसके बाद आज शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। सरकार ये हिस्सेदारी ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिए बेचेगी।

Publish Date:Thu, 14 Jan 2021 12:16 PM (IST) Author: Nitesh

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। BSE पर स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAIL) के शेयरों में गुरुवार को 10 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। दरअसल, केंद्र सरकार ने बुधवार को स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड में कुल इक्विटी का 10 फीसद हिस्सा बेचने का प्लान बनाया। इसके बाद आज शेयरों में गिरावट दर्ज की गई। सरकार ये हिस्सेदारी ऑफर फॉर सेल (OFS) के जरिए बेचेगी। गैर-खुदरा निवेशकों के लिए OFS आज से खुला है, जबकि खुदरा निवेशकों के लिए यह शुक्रवार से शुरू होगा। ऑफर फॉर सेल के लिए फ्लोर प्राइस बुधवार को 14.32 प्रतिशत छूट के साथ 74.70 रुपये के बंद हुआ।

यह भी पढ़ें: Aadhaar Online Appointment: आधार में अपडेट के लिए लाइन में लगने की नहीं है जरूरत, ऑनलाइन अपॉइंटमेंट से हो जाएगा काम

कंपनी ने बुधवार को बताया कि सरकार ने OFS के माध्यम से 20.65 करोड़ शेयर्स सेल की कुल इक्विटी का 5 प्रतिशत तक बेचने का फैसला किया है। इसमें 5 फीसद हिस्सा इक्विटी और 5 फीसदी हिस्सा ग्रीनशू ऑप्शन के जरिए बेचा जाएगा।

यह भी पढ़ें: How to activate UAN: UAN नंबर को कैसे करें एक्टिवेट, जानिए स्टेप बाय स्टेप तरीका

10 फीसद हिस्सेदारी की बिक्री से सरकार को 2,600 करोड़ रुपये मिलेंगे। बता दें कि 5 जनवरी, 2021 को शेयर ने दो साल के उच्च स्तर 80.35 रुपये को छू लिया था।

उल्लेखनीय है कि स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया इस्पात मंत्रालय के तहत आता है और यह भारत का सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक है। सेल में सरकार की 75% हिस्सेदारी है। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया की वार्षिक क्षमता लगभग 21 मिलियन टन प्रति वर्ष है। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में करीब 9 फीसद का इजाफा हुआ है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.