Reliance ने एकसाथ जारी किए तीन कंपनियों के नतीजे, शानदार रहा Fy22 का पहला क्‍वार्टर

Reliance Industries के FY22 के Q1 के रिजल्‍ट जारी हो गए हैं जिसमें कंपनी का नेट प्रॉफिट 66.7 फीसद बढ़कर 13806 करोड़ रुपए रहा है। साथ ही कंपनी का कैश प्रॉफिट 56.7 फीसद बढ़कर 21828 करोड़ रुपए रहा है।

Ashish DeepFri, 23 Jul 2021 08:13 PM (IST)
कंपनी का EPS 46.7 फीसद बढ़ा है। (Pti)

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। Reliance Industries के FY22 के Q1 के रिजल्‍ट जारी हो गए हैं, जिसमें कंपनी का नेट प्रॉफिट 66.7 फीसद बढ़कर 13,806 करोड़ रुपए रहा है। साथ ही कंपनी का कैश प्रॉफिट 56.7 फीसद बढ़कर 21828 करोड़ रुपए रहा है। कंपनी का EPS 46.7 फीसद बढ़ा है। वहीं EBITDA 27 फीसद से ज्‍यादा बढ़कर 27550 करोड़ रुपए रहा है। ये रिजल्‍ट कंसोलिडेटेड आधार पर हैं।

RIL का स्‍टैंडअलोन आधार पर रिजल्‍ट

वहीं RIL का स्‍टैंडअलोन आधार पर EBITDA 32 फीसद से ज्‍यादा बढ़कर 15048 करोड़ रुपए रहा है। जबकि नेट प्रॉफिट 76.3 फीसद बढ़कर 8595 करोड़ रुपए रहा। वहीं कैश प्रॉफिट 99 फीसद से ज्‍यादा 10905 करोड़ रुपए रहा। कंपनी का export 71.8 फीसद बढ़कर 56156 करोड़ रुपए रहा। कंपनी के CMD मुकेश अंबानी ने कहा कि कंपनी का प्रदर्शन शानदार रहा है। बावजूद इसके हम Covid mahamari में घिरे थे।

Fy 21 की अंतिम तिमाही में नेट प्रॉफिट में में दोगुने से ज्यादा बढ़ोतरी

बता दें कि मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज ने Fy 21 की अंतिम तिमाही में नेट प्रॉफिट में में दोगुने से ज्यादा बढ़ोतरी की थी। कंपनी ने बताया था कि जनवरी से मार्च तिमाही में उसे 13,227 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। उस दौरान कंपनी को 6,348 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था। उस दौरान कंपनी की आमदनी 1,72,095 करोड़ रुपये रही थी।

Reliance Jio के नतीजे

RIL ने Reliance Jio के नतीजे भी जारी किए हैं। इसमें कंसोलिडेटेड आधार पर कंपनी का EBITDA 21 फीसद से ज्‍यादा बढ़कर 8892 करोड़ रुपए रहा। जबकि नेट प्रॉफिट 44.9 फीसद बढ़कर 3651 करोड़ रुपए रहा। कंपनी का कस्‍टमर बेस 30 जून तक 440.6 मिलियन का था।

Reliance retail के नतीजे

इसके साथ ही Reliance retail के नतीजे भी आए हैं। इनमें EBITDA कंसोलिडेटेड आधार पर 79 फीसद से ज्‍यादा बढ़कर 1941 करोड़ रुपए रहा। वहीं नेट प्रॉफिट 123 फीसद बढ़कर 962 करोड़ रुपए रहा।

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के तिमाही नतीजे घोषित

• Q1 FY2021-22 रिलायंस का कंसोलिडेटिड EBITDA 27,550 करोड़ रहा यह पिछले साल के मुकाबले 27.6% और तिमाही के मुकाबले 3.6% बढ़ा। O2C और डिजिटल सेवाओं के मजबूत प्रदर्शन के कारण, कंपनी के परिचालन और वित्तीय प्रदर्शन पर दूसरी लहर का न्यूनतम असर पड़ा।

• Q1 FY2021-22 कंसोलिडेटिड EBITDA मार्जिन 17.3% (QoQ) बढ़कर190 bps हो गया।

• Q1 FY2021-22 असाधारण आइटम्स को छोड़कर शुद्ध लाभ 66.7% (YoY) बढ़कर ₹ 13,806 करोड़ रहा।

• Q1 FY2021-22 असाधारण आइटम को छोड़कर तिमाही का EPS 46.7% बढ़कर ₹ 19.0 प्रति शेयर रहा।

• Q1 FY2021-22 रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की डिजिटल सर्विसेज़ का तिमाही का EBITDA ₹ 9,268 करोड़ के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा।

• Q1 FY2021-22 कोरोना से निपटने के लिए रिलायंस ने अपने कर्मचारियों और उनके परिवारों को नि:शुल्क 10 लाख से अधिक टीके लगवाए हैं। 98% पात्र कर्मचारियों को कम से कम वैक्सीन की एक डोज़ लग गई है।

• Q1 FY2021-22 रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के ऑइल टू केमिकल्स बिज़नेस ने लगातार चौथी तिमाही के EBITDA में अच्छी ग्रोथ दिखाई है; तिमाही में EBITDA 60 बेसिस पॉइंट्स (QoQ) से बढ़ी है।

• Q1 FY2021-22 दुनिया में कोविड की स्थिति में थोड़ी बेहतरी के बाद तेल की माँग बढ़ी है। इसकी झलक रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के ऑइल टू केमिकल्स बिजनेस में देखी जा सकती है।

• Q1 FY2021-22 देश में डाउनस्ट्रीम केमिकल माँग कोविड-19 काल से पहले 4QFY20 के स्तर पर पहुंच गई है।

• Q1 FY2021-22 रिलायंस ने सभी O2C सुविधाओं में हाई ऑपरेटिंग रेट्स को बनाए रखा है।

• Q1 FY2021-22 परिचालन प्रतिबंधों के बावजूद तिमाही के लिए रिलायंस रिटेल EBITDA 79.5% (YoY) बढ़ा; कोरोना की दूसरी लहर और लॉकडाउन की वजह से राजस्व प्रभावित हुआ।

• Q1 FY2021-22 रिलायंस रिटेल ने ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए डिजिटल कॉमर्स को तेजी से आगे बढ़ाया है। तिमाही में Reliancedigital.in ने रिकॉर्ड बिक्री की।

• Q1 FY2021-22 तिमाही में रिटेल राजस्व का 20% हिस्सा, डिजिटल कॉमर्स के विस्तार और मर्चेंट पार्टनरशिप के जरिए आया।

• Q1 FY2021-22 नए स्टोर्स खोलने का काम जारी है - तिमाही के दौरान 123 स्टोर जोड़े गए; कुल स्टोर की संख्या अब 12,803 हो गई है।

• Q1 FY2021-22 टेलिकॉम इंडस्ट्री में रिलायंस ने सबसे तेज़ी से ग्राहक जोड़े हैं पिछले 12 महीनों में 4 करोड़ तेईस लाख नए ग्राहक जुड़े। अब कुल ग्राहकों की संख्या 44 करोड़ छह लाख हो गई है।

• Q1 FY2021-22 इस तिमाही में डेटा ट्रैफ़िक 20 अरब गीगाबाइट यानि 20 एग्ज़ाबाइट रहा – ये पिछले साल के मुकाबले 38.5% ज़्यादा है।

• Q1 FY2021-22 इस तिमाही में कुल वॉइस ट्रैफ़िक 1.06 ट्रिलियन मिनिट रहा; पिछले साल के मुकाबले ये 19.5% ज़्यादा है।

• Q1 FY2021-22 जियो प्लेटफॉर्म्स का EBITDA ₹ 8,892 करोड़ रहा जो पिछले साल से 21.3% ज़्यादा है। शुद्ध लाभ ₹ 3,651 करोड़ रहा जो पिछले साल के मुकाबले 44.9% अधिक है।

• Q1 FY2021-22 कई चुनौतियों का मुकाबला करते हुए जियो फ़ाइबर अब तीस लाख घरों तक पहुंच चुका है और इस काम में लगातार तेज़ी आ रही है।

• Q1 FY2021-22 KG D6 में उत्पादन बढ़ने की वजह से ऑयल और गैस सेगमेंट का EBITDA पिछली 22 तिमाहियों में सबसे अधिक रहा, यह 797 करोड़ रुपये जा पहुंचा।

• Q1 FY2021-22 ऑयल और गैस सेगमेंट का EBITDA मार्जिन 62.2% बढ़कर 560 बीपीएस (QoQ) हो गया।

• Q1 FY2021-22 KG D6 में 18 MMSCMD गैस का उत्पादन किया जा रहा है, जो देश की कुल गैस का 20% है।

• Q1 FY2021-22 इस तिमाही में सीबीएम गैस के लिए प्राइस रियलाइज़ेशन 16% बढ़कर $6.01/mmbtu हो गया। गैस और कंडेन्सेट के बढ़ते दामों के कारण अमेरिका के शेल बिज़नस में प्राइस रियलाइज़ेशन बढ़कर $4.95/MCFe हो गया है।

• Q1 FY2021-22 मीडिया बिज़नस EBITDA पिछले साल के मुकाबले 6 गुना बढ़कर ₹188 crore ($2.5 करोड़) हो गया है। कोरोनावायरस की दूसरी लहर के बावजूद ऑपरेटिंग मार्जिन 15.5% रही जो कि अब तक का सबसे ऊंचा स्तर है।

• Q1 FY2021-22 इस तिमाही का केपेक्स ₹16,684 करोड़ ($2.2 अरब) रहा। इसके अलावा RJIL ने स्पेक्ट्रम खरीदने के लिए ₹29,276 करोड़ ($3.9 अरब) खर्च किए।

• Q1 FY2021-22 तिमाही के दौरान रेटिंग एजेंसी ‘फिच’ ने रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की “लॉन्ग टर्म फ़ॉरेन करेंसी इशुअर डिफ़ॉल्ट रेटिंग” BBB कर दी है, ये भारत की सॉवरेन रेटिंग से एक पायदान ऊपर है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.