top menutop menutop menu

Reliance Industries 12 ट्रिलियन के बाजार पूंजीकरण वाली पहली भारतीय कंपनी बनी, मार्च से अब तक शेयरों में 120% से ज्यादा का उछाल

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) सोमवार को 12 ट्रिलियन के बाजार पूंजीकरण तक पहुंचने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई, मार्च के मध्य से इसके शेयर दोगुने हो गए। कंपनी इस सप्ताह अपनी वार्षिक आम बैठक भी आयोजित करेगी। NSE पर सोमवार को इसके शेयर 2.79% बढ़ोतरी के साथ 1930 रुपये पर कारोबार करते नज़र आये। मार्च के मध्य से इसके शेयरों में 120% से अधिक की वृद्धि हुई है, जबकि इस वर्ष अब तक यह 25 फीसद बढ़ गया है। इस साल अप्रैल से RIL का शेयर 12 ग्लोबल इन्वेस्टर के निवेश के कारण पिछले साल के मुकाबले लगातार बढ़ रहा है। 

क्वालकॉम इनकॉरपोरेट की इंवेस्टमेंट से जुड़ी इकाई क्वालकॉम वेंचर्स रिलायंस इंडस्ट्रीज के डिजिटल विंग Jio Platforms में 730 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इस निवेश के जरिए क्वालकॉम वेंचर्स RIL की डिजिटल इकाई की 0.15 फीसद हिस्सेदारी खरीदेगी। 

रिलायंस इंडस्ट्रीज बुधवार, 15 जुलाई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग या अन्य ऑडियो-विजुअल माध्यमों से शेयरधारकों की अपनी पहली वर्चुअल वार्षिक आम बैठक (एजीएम) आयोजित करने वाली है। 

आरआईएल के शेयरों में पिछले एक हफ्ते में तीन बार रिकॉर्ड उछाल आया है। पिछले हफ्ते मंगलवार को एक नियामकीय फाइलिंग में आरआईएल ने बताया कि Jio Platforms को फेसबुक से निवेश के तौर पर 43,574 करोड़ रुपये प्राप्त हुआ है। इसमें यह भी बताया गया कि कंपनी ने चार निवेशकों के साथ अपनी डील को बंद कर दिया है। Jio Platforms में 6.13 फीसद हिस्सेदारी बेचकर L Latterton, The Public Investment Fund, Silver Lake और General Atlantic से Reliance को कुल 30,062.43 करोड़ रुपये मिले।

डिजिटल आर्म Jio Platforms में 13 निवेशों से मिले 53,124 करोड़ रुपये के मेगा राइट्स इश्यू के बाद Reliance Industries अपनी मार्च 2021 की समयसीमा से नौ महीने पहले ही कर्ज-मुक्त हो गई है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.