top menutop menutop menu

US की इन तीन कंपनियों को टक्कर देती है Reliance Industries, इन तीन क्षेत्रों में बना रही है दबदबा

नई दिल्ली, पीटीआइ। अरबपति मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज अमेरिकी दिग्गज Exxon, AT&T, Amazon सभी को मिलाकर अकेले ही इन क्षेत्रों में कारोबार कर रही है। बर्नस्टीन रिसर्च ने मंगलवार को यह बात कही। रिपोर्ट में कहा गया है कि रिलायंस ने भारत में ऊर्जा और दूरसंचार उद्योग में तहलका मचा दिया है और खुदरा, फिनटेक और मीडिया के लिए भी ऐसा करने की कगार पर है।

ऑयल-टू-टेलीकॉम समूह के लिए ऊर्जा मुख्य व्यवसाय बना हुआ है और आगे इसके विस्तार की उम्मीद है, क्योंकि भारत अगले एक दशक में ईंधन और रासायनिक उत्पादों के लिए सबसे तेजी से बढ़ने वाला बाजार है, कंपनी ने बीपी के साथ कंपनी की साझेदारी को जोड़ा है। जबकि ब्रिटेन और सऊदी अरामको इसका समर्थन करेंगे।

रिलायंस के पास दुनिया का सबसे बड़ा सिंगल साइट ऑयल रिफाइनिंग कॉम्प्लेक्स है और इसमें कई पेट्रोकेमिकल प्लांट हैं। तीन साल पहले इसने दूरसंचार कारोबार में कदम रखा और बाजार के राजस्व का 34 फीसद इसके पास है। बर्नस्टीन ने कहा, 'मौजूदा नेट ऐड रन-रेट्स के आधार पर अगले वित्त वर्ष के अंत तक यह 44 फीसद तक पहुंचने की संभावना है।

रिपोर्ट में कहा गया कि रिलायंस के खुदरा क्षेत्र में 11,000 से अधिक स्टोर हैं और कंपनी का राजस्व 18.5 अरब अमेरिकी डॉलर है और यह टॉप पर है। कंपनी न्यू कॉमर्स में सबसे अच्छी स्थिति में है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.