top menutop menutop menu

चीन से विवाद के बीच बॉर्डर पर तेजी से हो रहा है सड़कों का निर्माण, नितिन गडकरी ने दी जानकारी

नई दिल्ली, पीटीआइ। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश में सीमा के बुनियादी ढांचे से संबंधित कई परियोजनाओं पर काम चल रहा है। गडकरी ने कहा कि BRO और NHIDCL इन परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 17 रणनीतिक राजमार्ग और एयरस्ट्रिप्स पर काम चल रहा है। इनमें से तीन परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं। इसके अलावा 12,000 करोड़ रुपये की महत्वाकांक्षी परियोजना पर पूरी रफ्तार से काम हो रहा है। इस परियोजना के पूरा होने के बाद गंगोत्री, केदारनाथ, यमुनोत्री और बदरीनाथ को हर मौसम में जोड़ने कनेक्टिविटी विकसित हो जाएगी। गडकरी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव देखने को मिल रहा है। 

(यह भी पढ़ेंः PM Kisan: रजिस्ट्रेशन से लेकर 2,000 रुपये प्राप्त होने तक की जानकारी ऐसे पा सकते हैं ऑनलाइन) 

गडकरी ने कहा कि सीमा सड़क संगठन (BRO) ने ऋषिकेश-धरासु राष्ट्रीय राजमार्ग पर चंबा शहर के नीचे 440 मीटर लंबी सुरंग का काम सफलतापूर्वक पूरा करके बड़ी सफलता हासिल की है।  

गडकरी ने कहा, ''हमने 17 स्ट्रैटजिक प्रोजेक्ट्स में से तीन परियोजनाओं का काम पूरा कर लिया है। इनमें से अधिकतर परियोजनाएं सीमावर्ती इलाकों से लगी हुई हैं। बाकी परियोजनाओं पर भी तेजी से काम चल रहा है।''  

उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय के सहयोग से इन परियोजनाओं पर काम चल रहा है। इन परियोजनाओं का विकास इस प्रकार से किया जा रहा है कि जरूरत पड़ने पर इन राजमार्गों का इस्तेमाल विमानों को उतारने और उड़ान भरने के लिए किया जा सकेगा।  

इससे पहले इन राजमार्ग परियोजनाओं की योजना तैयार करने के लिए राजमार्ग मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों की एक समिति का गठन किया गया था।   

(यह भी पढ़ेंः PAN Card पर लिखे नंबर और अल्फाबेट में छिपी होती हैं कई जानकारियां, यहां जानें उनका मतलब)    

गडकरी ने कहा कि बेहतर बुनियादी ढांचे से उद्योग आते हैं और रोजगार का सृजन होता है। इससे साथ-ही-साथ सीमावर्ती इलाकों के कृषि एवं अन्य उत्पादों का मूल्य बढ़ जाएगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.