शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह चालू वित्त वर्ष में अब तक 74 प्रतिशत बढ़कर 5.70 लाख करोड़ रुपये पर

सकल कर संग्रह 2021-22 की आलोच्य अवधि में 47 फीसद बढ़कर 6.45 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2020-21 में 4.39 लाख करोड़ रुपये था। वहीं 2019-20 (अप्रैल-22 सितंबर) के 5.53 लाख करोड़ रुपये सकल संग्रह के मुकाबले यह 16.75 फीसद अधिक है।

NiteshFri, 24 Sep 2021 06:47 PM (IST)
Net direct tax mop up grows 74 percent at Rs 5 70 lakh crore so far this fiscal

नई दिल्ली, पीटीआइ। चालू वित्त वर्ष में एक अप्रैल से 22 सितंबर के बीच Net direct tax collection 74.4 फीसद बढ़कर 5.70 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया। वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। कर रिफंड के समायोजन के बाद शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह 5,70,568 करोड़ रुपये रहा। इसमें कंपनी कर 3.02 लाख करोड़ रुपये और व्यक्तिगत आयकर 2.67 लाख करोड़ रुपये शामिल है।

सकल कर संग्रह 2021-22 की आलोच्य अवधि में 47 फीसद बढ़कर 6.45 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2020-21 में 4.39 लाख करोड़ रुपये था। वहीं 2019-20 (अप्रैल-22 सितंबर) के 5.53 लाख करोड़ रुपये सकल संग्रह के मुकाबले यह 16.75 फीसद अधिक है।

वित्त वर्ष 2021-22 में शुद्ध कर संग्रह (एक अप्रैल से 22 सितंबर) 2019-20 की इसी अवधि के मुकाबले 27 फीसद बढ़ा। उस समय शुद्ध संग्रह 4.48 लाख करोड़ रुपये था। पिछले वित्त वर्ष 2020-21 में (अप्रैल-22 सितंबर) इसी अवधि में शुद्ध कर संग्रह 3.27 लाख करोड़ रुपये रहा था।

सकल कंपनी कर संग्रह 3.58 लाख करोड़ रुपये तथा व्यक्तिगत आयकर संग्रह 2.86 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा। चालू वित्त वर्ष में अब तक 75,111 करोड़ रुपये करदाताओं को रिफंड किया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.