LIC भी है बाजार की Big Bull, मोटी कमाई करने की स्‍ट्रैटेजी से बड़े-बड़े इन्‍वेस्‍टर को किया हैरान

30 जून, 2012 में LIC की इन कंपनियों में हिस्सेदारी 5 फीसदी थी जो ऑलटाइम हाई थी। (Reuters)

LIC ने Share Market के Big bull Rakesh Jhunjhunwala की तरह Q4 2021 में स्‍टॉक्‍स से शानदार कमाई की है। आंकड़ों के लिहाज से मार्च में LIC की इक्विटी परिसंपत्ति (LIC equity asset) सबसे ज्‍यादा 7.24 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गई है जो 6.30 प्रतिशत बढ़ी है।

Ashish DeepWed, 12 May 2021 01:39 PM (IST)

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। देश की सबसे बड़ी संस्थागत निवेशक एलआईसी (LIC) ने Share Market के Big bull Rakesh Jhunjhunwala की तरह Q4 2021 में स्‍टॉक्‍स से शानदार कमाई की है। आंकड़ों के लिहाज से मार्च में LIC की इक्विटी परिसंपत्ति (LIC equity asset) सबसे ज्‍यादा 7.24 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गई है, जो 6.30 प्रतिशत बढ़ी है। हालांकि इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी क्रमश: 3.70 प्रतिशत और 5.10 प्रतिशत ही बढ़े! लेकिन LIC की इनकम में चार चांद लग गए। दरअसल LIC ने लिस्टेड कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी घटाकर 3.66 फीसदी कर दी है जो उसकी Listed कंपनियों में सबसे कम शेयरहोल्डिंग है। दिसंबर क्‍वार्टर में यह 3.70 फीसदी थी। Prime Database Group ने यह रिपोर्ट दी है। उसके मुताबिक 30 जून, 2012 में LIC की इन कंपनियों में हिस्सेदारी 5 फीसदी थी जो ऑलटाइम हाई थी।

Pti की खबर के मुताबिक, प्राइम डेटाबेस की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि एक प्रतिशत से ज्यादा हिस्सेदारी वाली 296 कंपनियों में उसका कुल निवेश दिसंबर 2020 के 3.70 प्रतिशत के मुकाबले घटकर मार्च में 3.66 प्रतिशत रह गया, जो अब तक सबसे कम है।

इक्विटी में बीमा कंपनियों का निवेश

प्राइम डेटाबेस समूह के MD प्रणव हल्दिया ने बताया कि इक्विटी में बीमा कंपनियों का निवेश (Insurance companies invest in equity) 31 मार्च 2020 के अंत तक घटकर 5 साल के निचले स्तर 4.80 प्रतिशत पर आ गया, जो 31 दिसंबर 2020 में 5 प्रतिशत था। हालांकि, मूल्य के लिहाज से इसमें पिछली तिमाही के मुकाबले 3.09 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। बीमा कंपनियों के इक्विटी निवेश में LIC की तीन-चौथाई से ज्यादा हिस्सेदारी है।

म्यूचुअल फंड का निवेश

हल्दिया ने कहा कि इस तरह म्यूचुअल फंड का निवेश (Mutual companies fund investment) 31 मार्च 2021 को घटकर 7.23 प्रतिशत रह गया, जो इससे पिछली तिमाही के आखिर में 7.42 प्रतिशत था। ये लगातार चौथी तिमाही है, जब म्यूचुअल फंड ने अपनी हिस्सेदारी बेची।

कंपनियों में बढ़ाई हिस्सेदारी

Rakesh jhunjhunwala की तरह LIC ने फार्मा, इंश्योरेंस, फाइनेंशियल और टेलिकॉम कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई। कंपनी ने इन्फ्रास्ट्रक्चर, ऑटो और सरकारी बैंकों के भी शेयर खरीदे। LIC ने रेल विकास निगम, न्यू इंडिया एश्योरेंस, बजाज ऑटो, टाटा कम्युनिकेशंस, अलेंबिक फार्मा, अरबिंदो फार्मा, जम्मू एंड कश्मीर बैंक, अडानी टोटल गैस, पीआई इंडस्ट्रीज और बायोकॉन में सबसे ज्यादा हिस्सेदारी बढ़ाई।

फार्मा कंपनियां पहली पसंद

LIC ने मार्च तिमाही में RPSG Ventures, Central Bank of India, Hindustan Motors, Jyoti Structures और Dalmia Bharat में हिस्सेदारी घटाई है। जिन कंपनियों में LIC का बड़ा स्‍टेक है, उनमें Hindustan Aeronautics, L&T, NMDC, IDBI Bank, LIC Housing Finance, Castrol India और National Fertilisers शामिल हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.