Uttar Pradesh की इस कंपनी का IPO खुलेगा कल, 15 हजार में मिलेगा शेयरों का 1 लॉट

Uttar Pradesh की अग्रणी Agri chemical firm इंडिया पेस्टिसाइड (India Pesticide) का IPO बुधवार यानि 23 जून को आएगा। यह IPO आम निवेशकों के लिए 25 जून तक खुला रहेगा। Price band 290-296 प्रति शेयर तय किया है। एक लॉट में 50 शेयर होंगे।

Ashish DeepTue, 22 Jun 2021 01:45 PM (IST)
कंपनी अपने 800 करोड़ रुपये के IPO के लिए ऑफर ला रही है। (Pti)

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। Uttar Pradesh की अग्रणी Agri chemical firm इंडिया पेस्टिसाइड (India Pesticide) का IPO बुधवार यानि 23 जून को आएगा। यह IPO आम निवेशकों के लिए 25 जून तक खुला रहेगा। कंपनी ने अपने 800 करोड़ रुपये के IPO के लिए Price band 290-296 प्रति शेयर तय किया है।

India Pesticide के मुताबिक एंकर निवेशक 22 जून को शेयरों के लिए बोलियां लगा चुके हैं। India Pesticide के 800 करोड़ रुपये के आईपीओ के तहत 100 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी हो रहे हैं। वहीं प्रवर्तक आनंद स्वरूप अग्रवाल 281.4 करोड़ रुपये की बिक्री पेशकश कर रहे हैं। अन्य शेयरधारक 418.6 करोड़ रुपये के शेयरों की पेशकश कर रहे हैं।

IPO के लीड मैनेजर

IPO के लीड मैनेजर Axis Capital और JM Financials हैं। IPO से होने वाली कमाई को कारोबार के विस्‍तार में लगाया जाएगा।

India Pesticide की क्‍या है योजना

उत्तर प्रदेश की इस कंपनी ने पहले कहा था कि वह 75 करोड़ रुपये के IPO पूर्व नियोजन पर विचार कर सकती है। कंपनी ने कहा कि नए निर्गम से मिली रकम का इस्तेमाल कार्यशील पूंजी की जरूरतों और सामान्य कॉरपोरेट कामकाज के लिए किया जाएगा।

क्‍या करती है कंपनी

India Pesticide देश की अग्रणी एग्रोकेमिकल कंपनी है। कंपनी की मैन्‍युफैक्‍चरिंग तकनीकी क्षमता 19500 Mt है। जबकि फॉर्मुलेशन के लिए 6500 Mt क्षमता है। ब्रोकरेज हाउसेज की मानें तो कंपनी के फंडामेंटल्‍स काफी मजबूत हैं। उसके आउटलुक को पॉजिटिव लेकर चल रहे हैं।

लखनऊ में प्‍लांट

कंपनी का लखनऊ और हरदोई में प्‍लांट है। कंपनी के पास 22 एग्रो केमिकल टेक्निकल्‍स के रजिस्‍ट्रेशन और लाइसेंस हैं।

क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट

शेयर बाजार मंगलवार को 53000 के स्‍तर को पार कर गया था। यह अब तक का All time High है। रिलायंस सिक्योरिटीज के स्‍ट्रैटेजी हेड विनोद मोदी के मुताबिक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के शेयरों में सुधार बाजार में तेजी का प्रमुख कारण है। निवेशकों ने गिरावट के बाद एक बार फिर छोटी और मझोली कंपनियों के शेयरों में लिवाली को तरजीह दी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.