मान्यता प्राप्त PFs ए या इससे उच्च रेटिंग वाली प्रतिभूतियों में कर सकेंगे निवेश: CBDT

निवेश के लिए प्रतीकात्मक तस्वीर PC: Pixabay
Publish Date:Sun, 25 Oct 2020 03:23 PM (IST) Author: Pawan Jayaswal

नई दिल्ली, पीटीआइ। आयकर विभाग (Income Tax department) ने मान्यता प्राप्त प्रोविडेंट फंड्स (PF) को 'A' या इससे अधिक रेटिंग वाली डेट सिक्युरिटीज में निवेश करने की अनुमति दी है। इससे इन प्रोविडेंट फंड्स को लोन या बॉन्ड पत्रों की रेटिंग गिरने पर भी इनमें अपने मौजूदा निवेश को बरकरार रखने में मदद मिलेगी। गौरतलब है कि इससे पहले मान्यता प्राप्त प्रोविडेंट फंड ट्रस्ट्स के लिए 'एए' या उससे अधिक रेटिंग वाली सिक्युरिटीज में निवेश करने की अनुमति थी।

केद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) द्वारा जारी एक अधिसूचना में आयकर नियमों में संशोधन किया गया है। इसके अनुसार, मान्यता प्राप्त प्रोविडेंट फंड ट्रस्ट को मौजूदा वित्त वर्ष में ए या इससे ऊंची रेटिंग की सिक्युरिटीज में निवेश की अनुमति है।

यहां बता दें कि मान्यता प्राप्त ईपीएफ कोष के लिए अपने कोष का 45 से 55 फीसद सरकारी प्रतिभूतियों, 35 से 45 फीसद ऋण (बांड या मियादी जमा), 0 से 5 फीसद लघु अवधि के लोन (मुद्रा बाजार, तरल कोष), 5 से 15 फीसद शेयरों और 0 से 5 फीसद संपत्ति आधारित सिक्युरिटीज (रीट्स, इनविट्स) में निवेश करना अनिवार्य होता है।

यह भी पढ़ें (Share Market Tips: इन शेयरों में निवेश कर हो सकते हैं मालामाल, मिड और स्मॉल कैप में आएगी बंपर तेजी)

नांगिया एंडरसन एलएलपी पार्टनर सुनील गिडवानी ने कहा, ‘मौजूदा परिस्थिति और लिक्विडिटी पर दबाव के कारण रेटिंग एजेंसियों ने कई ऋण पत्रों की रेटिंग कम की है। नियमों में परिवर्तन से पीएफ न्यासों को रेटिंग नीचे आने पर भी बांड में अपने मौजूदा निवेश को कायम रखने में मदद मिलेगी।'

यह भी पढ़ें (Best Investment Plans: इन योजनाओं में निवेश कर तैयार करें बड़ा रिटायरमेंट फंड, कमाएं मोटा मुनाफा)

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.