Presenting Sponsor

GST Collection: नवंबर में 1.05 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह, वित्त मंत्रालय ने दी जानकारी

IGST के रूप में सरकार को 51,992 करोड़ रुपये की आमदनी हुई।

GST Collection in November 2020 नवंबर में भी वस्तु एवं सेवा कर (GST) संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहा। वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक नवंबर 2020 में वस्तु एवं सेवा कर के रूप में सरकार को 104963 करोड़ रुपये की आमदनी हुई।

Publish Date:Tue, 01 Dec 2020 02:24 PM (IST) Author: Ankit Kumar

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। नवंबर में भी वस्तु एवं सेवा कर (GST) संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहा। वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक नवंबर, 2020 में वस्तु एवं सेवा कर के रूप में सरकार को 1,04,963 करोड़ रुपये की आमदनी हुई। इसमें CGST के रूप में सरकार को 19,189 करोड़ रुपये की आमदनी हुई। वहीं, SGST के रूप में सरकार ने 25,540 करोड़ रुपये जुटाए। IGST के रूप में सरकार को 51,992 करोड़ रुपये की आमदनी हुई। वहीं, सेस के जरिए सरकार को 8,242 करोड़ रुपये की आय हुई है। 

इससे पहले अक्टूबर में 1.05 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह हुआ था। चालू वित्त वर्ष में नवंबर लगातार दूसरा महीना रहा, जब जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रही। इस साल नवंबर में पिछले साल नवंबर की तुलना में 1.4 फीसद ज्यादा जीएसटी कलेक्शन हुआ। पिछले साल नवंबर में 1,03,491 करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह हुआ था। 

वित्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ''जीएसटी राजस्व में रिकवरी के ट्रेंड के मुताबिक नवंबर 2020 में जीएसटी से आमदनी पिछले साल के समान महीने के मुकाबले 1.4 फीसद ज्यादा रही।''

वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान 12 में से आठ माह में जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा रहा। हालांकि, चालू वित्त वर्ष में लॉकडाउन के असर के चलते जीएसटी से होने वाली आमदनी पर असर पड़ा है।

अप्रैल में जीएसटी से 32,172 करोड़ रुपये, मई में 62,151 करोड़ रुपये, जून में 90,917 करोड़ रुपये, जुलाई में 87,422 करोड़ रुपये, अगस्त में 86,449 करोड़ रुपये, सितंबर में 95,480 करोड़ रुपये, अक्टूबर में 1,05,155 करोड़ रुपये और नवंबर में 1,04,963 करोड़ रुपये का जीएसटी संग्रह हुआ।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.