Gold-Jewellery कारोबार को बट्टा, Akshaya Tritiya पर भी इस कारण से नहीं बिका 10 हजार करोड़ का सोना

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि देश के अधिकतर राज्यों में लॉकडाउन है।

Akshaya Tritiya Latest Update ऑल इण्डिया ज्वेलर्स एंड गोल्डस्मिथ फेडरेशन के राष्ट्रीय संयोजक पंकज अरोड़ा ने बताया की देश के अधिकांश हिस्से में लॉकडाउन के चलते सोने एवं ज्वेलरी व्यापारियों की दुकानें और मार्केट पूरे तौर पर बंद रहीं।

Ankit KumarFri, 14 May 2021 12:15 PM (IST)

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश में लगातार दूसरे वर्ष शुक्रवार को अक्षय तृतीया के मौके पर Gold और सोने से बनी ज्वेलरी का कारोबार लगभग न के बराबर हुआ। एक अनुमान के अनुसार आज देश भर में लॉकडाउन के कारण लगभग 10 हजार करोड़ रुपये का सोने और ज्वेलरी का व्यापार नहीं हो सका। कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) की ओर से जारी एक प्रेस रिलीज में यह दावा किया गया है। इस रिलीज में कहा गया है कि पिछले साल भी लॉकडाउन के चलते अक्षय तृतीया पर ज्वेलरी व्यापारी कोई खास कारोबार नहीं कर पाए थे।  

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि देश के अधिकतर राज्यों में लॉकडाउन है। उन्होंने कहा कि जिन राज्यों में भी बाजार खुले थे, वहां कोरोना के भय के कारण ग्राहक ही नहीं आये। इस वजह से शुक्रवार को देशभर के सोना-चांदी एवं ज्वेलरी के व्यापारियों को काफी निराशा हुई। देश भर में सोने एवं ज्वेलरी के लगभग चार लाख व्यापारी हैं।  

देश के ज्वेलरी व्यापार के शीर्ष संगठन ऑल इण्डिया ज्वेलर्स एंड गोल्डस्मिथ फेडरेशन के राष्ट्रीय संयोजक पंकज अरोड़ा ने बताया की देश के अधिकांश हिस्से में लॉकडाउन के चलते सोने एवं ज्वेलरी व्यापारियों की दुकानें और मार्केट पूरे तौर पर बंद रहीं, जिसके कारण आज देश भर में सोने और ज्वेलरी का लगभग 10 हजार करोड़ रुपये का व्यापार हो नहीं पाया। अरोड़ा ने कहा है कि देश में धनतेरस के बाद अक्षय तृतीया दूसरा सबसे ज्यादा सोने की खरीद वाला त्योहार माना जाता है। किन्तु कोरोना की वजह से लगातार दूसरे वर्ष अक्षय तृतीया पर सोने की खरीद में लगभग न के बराबर हुई। 

अरोड़ा ने कहा कि 2019 में देश में सिर्फ अक्षय तृतीया पर ही सोने एवं ज्वेलरी का व्यापार लगभग 10 हजार करोड़ रुपये हुआ था और उस वक्त सोने का भाव लगभग 35 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम था।  किन्तु 2020 में अक्षय तृतीया पर मई माह में लॉकडाउन की वजह से देश में केवल लगभग 980 करोड़ रुपये का सोने का व्यापार हुआ जब सोने का भाव लगभग 52 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम था। आज जब देश में सोने का भाव लगभग 49 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम है तब लगभग 20 टन सोने का व्यापार आज नहीं हो पाया। व्यापारियों की चिंता इस बात को लेकर है कि कोरोना से उपजी परिस्थियां कब सामान्य होंगी और कब व्यापार खुलेगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.