मोर रिटेल चेन खरीदने के अमेजन के सौदे को सीसीआइ की मंजूरी

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सुपरमार्केट स्टोर चेन मोर का संचालन करने वाली आदित्य बिरला रिटेल लि. का अधिग्रहण करने के अमेरिकी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के प्रस्ताव को भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआइ) की हरी झंडी मिल गई। सौदे के तहत समारा कैपिटल समर्थित विटजिग एडवायजरी सर्विसेज और अमेजन की सब्सिडियरी कंपनी आदित्य बिरला रिटेल का अधिग्रहण करेगी। यह सौदा 4,200 करोड़ रुपये में होने की बात कही गई है।

सीसीआइ के अनुसार आदित्य बिरला रिटेल की 99.99 फीसद हिस्सेदारी विटजिग खरीदेगी। विटजिग की 49 फीसद हिस्सेदारी अमेजन की सब्सिडियरी अमेजन एनवी इन्वेस्टमेंट होल्डिंग्स एलएससी अधिग्रहीत करेगी। देश के रिटेल स्टोर फॉर्मेट में अमेजन का यह दूसरा निवेश है। इससे पहले उसने के. रहेजा ग्रुप की रिटेल कपनी शॉपर स्टॉप को खरीदा था। विटजिग समारा आल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट फंड की पूर्ण स्वामित्व वाली कंपनी है। यह सेबी में कैटागरी-2 आल्टरनेटिव फंड के तौर पर पंजीकृत है।

सीसीआइ ने ट्वीट करके बताया कि विटजिग एडवायजरी सर्विसेज द्वारा आदित्य बिरला रिटेल की 99.99 फीसद हिस्सेदारी खरीदने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। एक अन्य ट्वीट में उसने कहा कि उसने विटजिग की 49 फीसद हिस्सेदारी अमेजन.कॉम एनवी इन्वेस्टमेंट होल्डिंग्स द्वारा खरीदे जाने के प्रस्ताव को अनुमति दी है। अमेजन ने प्रतिस्पर्धा नियामक को दिए नोटिस में बताया कि विटजिग की 49 फीसद हिस्सेदारी खरीदे जाने के बाद 51 फीसद बहुमत हिस्सेदारी समारा फंड के पास रहेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.