दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

PF Account के साथ मिलते हैं फ्री इंश्योरेंस, पेंशन और लोन जैसे कई सारे फायदे, आप भी उठा सकते हैं लाभ

Benefits of EPF P C : Pixabay

PF Account Benefits पीएफ खाताधारक अपने सेवाकाल के दौरान मृत्यु होने पर EDLI के तहत 7 लाख रुपये तक के फ्री इंश्योरेंस के योग्य होता है। पहले पीएफ खाताधारकों के लिए डेथ कवर 6 लाख रुपये था लेकिन अब इसे बढ़ाकर सात लाख रुपये तक कर दिया गया है।

Pawan JayaswalWed, 12 May 2021 02:50 PM (IST)

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) के कई सारे फायदे हैं। एक कर्मचारी को एक वित्त वर्ष में 1.5 लाख रुपये तक के पीएफ योगदान पर आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत आयकर में छूट मिलती है। इसके अलावा भी ऐसे कई सारे फायदे हैं जो कर्मचारी भविष्य निधि संघठन (EPFO) अपने कर्मचारियों को प्रदान करता है। इनमें फ्री इंश्योरेंस (Free insurance) और पेंशन (Pension) लाभ भी शामिल हैं। आइए पीएफ (PF) के साथ मिलने वाले ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में जानते हैं।

मुफ्त बीमा

एक पीएफ खाताधारक अपने सेवाकाल के दौरान मृत्यु होने पर EDLI स्कीम के तहत 7 लाख रुपये तक के फ्री इंश्योरेंस के योग्य होता है। पहले पीएफ खाता धारकों के लिए डेथ कवर 6 लाख रुपये था, लेकिन अब इसे बढ़ाकर सात लाख रुपये तक कर दिया गया है। खास बात यह है कि ईडीएलआई योजना के तहत उपलब्ध इस बीमा कवर के लिए पीएफ खाता धारक को अलग से कोई इंश्योरेंस प्रीमियम नहीं देना होता।

पेंशन

एक पीएफ खाताधारक 58 साल की आयु के बाद पेंशन के लिए योग्य हो जाता है। हालांकि, पेंशन पाने के लिए पीएफ खाते (PF account) में न्यूनतम 15 साल नियमित मासिक पीएफ योगदान होना जरूरी है। पेंशन लाभ नियोक्ता के योगदान में से मिलता है, क्योंकि नियोक्ता के 12 फीसद योगदान में से 8.33 फीसद पीएफ खाताधारक के ईपीएस खाते (EPS account) में जाता है।

लोन

कर्मचारी को पीएफ में लोन (Loan) की सुविधा भी मिलती है। वित्तीय संकट के समय पीएफ खाताधारक पीएफ बैलेंस के अगेंस्ट लोन (Loan against PF) ले सकता है। खास बात यह है कि पीएफ लोन पर ब्याज दर केवल एक फीसद लगती है। यह लोन कम अवधि का होगा और इसका पुनर्भुगतान लोन मिलने के 36 महीनों के अंदर करना होगा।

आंशिक निकासी

ईपीएफओ मेडिकल और वित्तीय संकट आने पर खाताधारक को कुछ नियम व शर्तों के साथ आंशिक निकासी (partial withdrawal) की अनुमति देता है।

होम लोन का पुनर्भुगतान

कर्मचारी अपने पीएफ खाते का उपयोग होम लोन के पुनर्भुगतान (home loan repayment) के लिए भी कर सकता है। ईपीएफओ के नियमों के अनुसार, कर्मचारी एक नया घर खरीदने या घर के निर्माण के लिए अपने पीएफ खाते की 90 फीसद तक राशि का उपयोग कर सकता है। कर्मचारी अपने पीएफ बैलेंस का उपयोग कर जमीन भी खरीद सकता है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.