एक्पायर्ड सिलेंडर से हो सकता है खतरा

बगहा। नगर से लेकर प्रखंड तक में कई एलपीजी गैस एजेंसी कार्य कर रहे हैं। जिसमें इंडेन एचप

JagranThu, 14 Jan 2021 12:42 AM (IST)
एक्पायर्ड सिलेंडर से हो सकता है खतरा

बगहा। नगर से लेकर प्रखंड तक में कई एलपीजी गैस एजेंसी कार्य कर रहे हैं। जिसमें इंडेन, एचपी, भारत के साथ अन्य कंपनियां शामिल हैं। जो घर-घर होम डिलीवरी कर गैस पहुंचाते हैं। पर, लोग गैस सिलेंडर लेने के दौरान इस बात का कम ही ध्यान रखते हैं कि इस सिलेंडर का समय एक्सपायर तो नहीं हो गया। इसका कारण यह है कि इसके बारे में बहुत कम लोगों को जानकारी है। जिसके कारण अक्सर लोग वजन आदि पर ध्यान देते हैं। पर, सिलेंडर के हाल के बारे में नहीं जान पाते हैं। जिससे कभी भी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। गैस सिलेंडर फटने, लीक करने के साथ कई तरह की खबरें आए दिन सुनने को मिल जाती है। कुछ महिलाओं को अपनी जान तक गंवानी पड़ जाती है। जिसका कारण पुराना व घिसा पिटा सिलेंडर होता है। इससे होने वाले हादसे में कभी कभी पूरे परिवार की जान पर बन आती है। इसलिए इसका ध्यान रखना अति आवश्यक है।

---------------------

गृहिणियों को नहीं रहता पता

----------------------

इस बारे में जब नगर के सुबनी रोड में निवास करने वाली गृहिणी व उपभोक्ता सुमन देवी से बात की गई तो, उनका कहना है कि इसका एक्सपायरी डेट कहां लिखा होता है। इसकी जानकारी हमें नहीं है। वहीं सोनखर की सुनयना देवी बताती हैं कि हम तो कभी-कभी वेंडर से वजन करा लेते हैं। पर, सिलेंडर के बारे में जानकारी नहीं मिल पाती है। नगर के पुरानी बाजार निवासी कृष्णावती देवी व रीता देवी गैस के रेगुलर ग्राहक हैं। इनको नहीं पता है कि गैस के सिलेंडर का एक्सपायरी कहां लिखा होता है। यह तो कुछ उपभोक्ताओं की बात है। पर, ऐसे कई लोग हैं। जिनको इसकी जानकारी नहीं होती है। जो जानकारी के अभाव में खतरे को दावत देते हैं। इसके लिए हर बार एजेंसी को हीं दोष नहीं दिया जा सकता है। कुछ जिम्मेदारी व समझदारी अपनी भी है।

-----------------------

ऐसे करें पहचान

--------------------

नगर के गोला बाजार में स्थिति सौम्या एचपी गैस के संचालक राहुल मिश्रा का कहना है कि सिलेंडर के ऊपरी भाग में जहां वजन लिखा होता है। वहीं पर इसका वर्ष भी अंकित होता है। रेग्युलेटर के पास डी 19 लिखा होगा तो, इसका मतलब है कि यह दिसंबर 2019 तक ही इस्तेमाल के लायक है। बताते हैं कि इसमें ए बी सी और डी लिखा होता है। जो तीन-तीन महीने का ग्रुप है। वहीं वर्ष भी लिखा होता है। ए 20 का मतलब मार्च 2020 तक है। वैसे एक्सपायर सिलेंडर की सप्लाई करना प्रतिबंधित है। कंपनी ऐसे सिलेंडर की आपूर्ति हीं नहीं करती है। जब वेंडर इसे लेकर जाते हैं तो, इसको चेक करके देते हैं। इसके लिए समय समय पर प्रशिक्षण भी घर-घर दिया जाता है। किसी तरह की शिकायत के लिए एजेंसी के कस्टमर केयर नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। जो पर्ची के साथ उपभोक्ता कार्ड पर भी अंकित रहता है।

------------------------

अगर किसी भी एजेंसी के तरफ से पुराने या एक्सपायर्ड सिलेंडर आपूर्ति किए जाते हैं तो, इसकी सूचना ग्राहक दें सकते है। उचित छानबीन के बाद संबंधित एजेंसी पर कार्रवाई की जाएगी।

अभय कुमार, प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.