चेचर घाट पर गंगा जल लेने आए तेलिया हरपुर गांव के दो यवकों की डूबने से मौत

चेचर घाट पर गंगा जल लेने आए तेलिया हरपुर गांव के दो यवकों की डूबने से मौत

बिदुपुर थाने के चेचर घाट पर गंगा नदी में राजापाकर थाने के तेलिया हरपुर गांव से गंगा जल लेने आए दस युवकों की टोली में स्नान के क्रम में चार युवक नदी के तेज धार में बह गए।

JagranTue, 20 Apr 2021 07:42 PM (IST)

संवाद सूत्र, बिदुपुर : बिदुपुर थाने के चेचर घाट पर गंगा नदी में राजापाकर थाने के तेलिया हरपुर गांव से गंगा जल लेने आए दस युवकों की टोली में स्नान के क्रम में चार युवक नदी के तेज धार में बह गए। चारो की चीख पुकार सुन घाट किनारे खड़े एक युवक ने बहादुरी दिखाते हुए अपनी जान जोखिम में डालकर किसी तरह दो युवकों को बाहर निकाल लिया। लेकिन उसके इस प्रयास के बीच ही दो युवक नदी के गहरे पानी में बह गए और डूबने से दोनों की मौत हो गई। घटना मंगलवार की सुबह की है। घटना के बाद घाट पर अफरातफरी और चीख-पुकार मच गई। स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना बिदुपुर थाने को दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष धनंजय पांडेय अन्य पुलिस पदाधिकारियों के साथ चेचर घाट पर पहुंचकर एसडीआरएफ टीम को बुलाया। जिसके बाद स्थानीय गोताखोर और एसडीआरएफ की टीम ने तीन घंटे के प्रयास के बाद डूबे दोनों युवकों के शव को नदी से बाहर निकाला।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राजापाकर थाने के हरपुर तेलिया गांव निवासी अवधेश सिंह का 25 वर्षीय पुत्र राजा कुमार और राजकुमार सिंह का 20 वर्षीय पुत्र निशांत कुमार उर्फ स्वीटी अपने आठ-दस मित्रों के साथ गांव में धार्मिक अनुष्ठान के लिए गंगा जल लेने चेचर घाट बाइक से पहुंचे थे। सभी जल लेने के पहले सभी स्नान के लिए नदी में उतर गए। जिसमें नदी के तेज कटाव वाली धारा में राजा और स्वीटी के साथ उसके दो अन्य साथी बह गए। चारों को डूबते देख उसके अन्य साथी चिल्लाने लगे। जिस पर घाट किनारे के काफी लोग जुट गए।

बताते हैं कि नदी की तेज धारा में बह रहे युवकों को बचाने में किसी ने हिम्मत नही जुटाई, लेकिन चेचर गांव के रोहित कुमार ने अपनी जान की परवाह किए बगैर नदी में कूद गया और अपनी जान पर खेल कर बह रहे दो युवकों को बचा लिया। इसके वावजूद रोहित अन्य दोनों राजा और स्वीटी को बचाने में असफल हो गया। रोहित के प्रयासों के पहले ही दोनों युवक नदी में डूब चुका था। इसके बाद एसडीआरएफ टीम काफी विलंब से पहुंची। जिससे स्थानीय पुलिस काफी हलकान रही। इसके साथ ही स्थानीय मंदिर कमेटी के नमोनारायण सिंह, सुभाष सिंह, आमोद सिंह, चंद्रशेखर सिंह, राजीव कुमार आदि आसपास के ग्रामीण भी शव निकालने में काफी मशक्कत करते दिखे।

विदित हो कि चेचर घाट पर बीते कई वर्षों से डूबने की घटनाएं घट रही है। स्थानीय लोगो ने बताया कि घाट किनारे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में जगह-जगह जेटी गिराने के लिए किये गए खुदाई के कारण नदी में पानी की गहराई का पता नही होता है। इन्ही कारणों से हादसा हो रही है। थानाध्यक्ष धनंजय पांडेय ने बताया कि युवको की डूबने से मौत के बाद एसडीआरएफ टीम ने शव को निकल लिया है। दोनो शवों को पोस्टमार्टम के लिए हाजीपुर सदर अस्पताल भेज दिया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.