एक भी बच्चा छूटा सुरक्षा चक्र टूटा संकल्प को लेकर शुरू हुआ पोलियो विशेष अभियान

एक भी बच्चा छूटा सुरक्षा चक्र टूटा संकल्प को लेकर शुरू हुआ पोलियो विशेष अभियान

अपने देश में वर्ष 2014 में पोलियो समाप्त हो चुकी है लेकिन पड़ोसी देश में अभी पोलियो का मामला कायम है। इसका ट्रांसमिशन यहां नहीं हो इसलिए सुरक्षा कारणों से पोलियो अभियान चलाया जा रहा है। वैशाली पीएचसी में 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक चलने वाले पल्स पोलियो अभियान का उदघाटन सिविल सर्जन डॉ. इंद्रदेव रंजन एवं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी सह पीएचसी प्रभारी डॉ. ललन कुमार राय ने संयुक्त रूप से किया।

Publish Date:Sun, 29 Nov 2020 10:50 PM (IST) Author: Jagran

जागरण टीम, वैशाली : अपने देश में वर्ष 2014 में पोलियो समाप्त हो चुकी है, लेकिन पड़ोसी देश में अभी पोलियो का मामला कायम है। इसका ट्रांसमिशन यहां नहीं हो, इसलिए सुरक्षा कारणों से पोलियो अभियान चलाया जा रहा है। वैशाली पीएचसी में 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक चलने वाले पल्स पोलियो अभियान का उदघाटन सिविल सर्जन डॉ. इंद्रदेव रंजन एवं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी सह पीएचसी प्रभारी डॉ. ललन कुमार राय ने संयुक्त रूप से किया। पीएचसी वैशाली में जन्म के बाद नवजात शिशु को पोलियो खुराक पिलाने के बाद अभियान का विधिवत शुभारंभ किया गया। इस मौके पर सिविल सर्जन ने कहा कि इस अभियान की सफलता के लिए पूरे जिले में 1470 टीम और 450 पर्यवेक्षक लगाया गया है। वैशाली प्रखंड में 70 टीमों साथ ही 24 सुपरवाइजर, 8 ट्रांजिट टीम, 2 मोबाइल टीम और एक टीम पीएचसी में कार्यरत है। अभियान में यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि शुन्य से पांच वर्ष उम्र तक के एक भी बच्चा नहीं छूटे, क्योंकि एक भी बच्चा छूटा तो सुरक्षा चक्र टूटा। स्वास्थ्य प्रबंधक चितरंजन कुमार ने बताया कि प्रखंड में कुल 38,339 बच्चे को पोलियो की खुराक पिलाने का लक्ष्य है। इस मौके पर नोडल पदाधिकारी डॉ. सुनील कुमार, डॉ. विनीता सिंह, डॉ. नमिता सिंह, डॉ. अबुल कैश, डॉ. इकबाल अंसारी, डॉ. असलम परवेज, यूनिसेफ एसएमसी मधुमिता, बीएमसी मो. शाहिद, विशाल कुमार, लालबाबू कुमार, अजित रंजन, दिव्यांक सौरभ, पंकज कुमार, विनोद शर्मा आदि मौजूद थे। राघोपुर में 48,444 बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाने का लक्ष्य राघोपुर : राघोपुर के रेफरल अस्पताल मोहनपुर में चिकित्सा प्रभारी डॉ. सुशीला ने एक नवजात को पल्स पोलियो की खुराक पिलाकर अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि पोलियो एक लाइलाज बीमारी है। इससे बचने के लिए अपने बच्चों को पोलियो की खुराक अवश्य पिलाएं। इस मौके पर यूनिसेफ प्रतिनिधि विश्वमोहन सिंह ने बताया कि अभियान में घर-घर बच्चों को पोलियो खुराक पिलाने के लिए 104 टीमें के अलावा 13 ट्रांजिट टीम, दो मोबाइल टीम, तीन ड्रॉपिग प्वाइंट एवं 42 सुपरवाइजर लगाए गए हैं। प्रखंड में 48,444 बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाने का लक्ष्य है। इसे घर-घर जाकर स्वास्थ्यकर्मी एवं आशा कार्यकर्ताएं पूरा करेंगे। इस मौके पर बीएमसी अजय कुमार शर्मा, हेल्थ मैनेजर अभय राय आदि मौजूद थे। लालगंज में घर-घर जाकर पोलियो खुराक पिलाने का अभियान लालगंज : लालगंज रेफरल अस्पताल परिसर में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. शशिभूषण प्रसाद ने एक बच्चे को पोलियो ड्रॉप पिला कर अभियान का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि पोलियो को जड़ से समूल नष्ट करने के लिए शुन्य से 5 वर्ष तक के बच्चों को हर हाल में पोलियो ड्रॉप पिलाना जरूरी है। उन्होंने लोगों से अपील किया कि वह हर हाल में अपने बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाएं। सरकार एवं विश्व स्वास्थ्य संगठन बच्चों को स्वस्थ्य जीवन देने को कृतसंकल्पित है। कार्यक्रम डॉ. मुकेश पंकज, महिला चिकित्सक डॉ. रंजना कुमारी, डॉ. विनीता सिंह, डॉ. नीना कुमारी, डॉ. काशीराम अग्रवाल समेत अन्य स्वास्थ्यकर्मी उपस्थित थे। बिदुपुर में 46 हजार बच्चों को पिलाया जाएगा पोलियो खुराक बिदुपुर : स्थानीय पीएचसी में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ संजय दास ने पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ किया। एक नवजात को पोलियो खुराक पिलाकर शुरू कराए गए अभियान के तहत कई बच्चों को इसका खुराक पिलाया गया। बीसीएम चंद्रशेखर प्रसाद ने बताया कि प्रखंड में इसको लेकर 85 टीमों के साथ 29 सुपरवाइजर भी तैनात किए गए हैं। अभियान में लगभग 46 हजार बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाने का लक्ष्य है। अभियान की निगरानी के लिए सभी चिकित्सक एवं बीसीएम सहित जिलास्तरीय टीमें भी तैनात हैं। अभियान में घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो खुराक पिलाना है, ताकि कोई बच्चा नहीं छूटे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.