जिले में आपराधिक घटनाओं पर व्यवसायियों ने जताई चिता

जिले में आपराधिक घटनाओं पर व्यवसायियों ने जताई चिता

ुुुसंवाद सूत्र भगवानपुर।बढ़ती आपराधिक घटनाओं से जिले के व्यवसायी अब खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे

Publish Date:Fri, 10 Jul 2020 11:43 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, भगवानपुर :

वैशाली जिले में बढ़ती आपराधिक घटनाओं से जिले के व्यवसायी अब खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। व्यवसायियों को सुरक्षा देने में पुलिस एवं प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है। जब जब तक पुलिस-प्रशासन व्यवसायियों की सुरक्षा को लेकर कोई कारगर कदम नहीं उठाती है, तब तक भरोसा नहीं किया जा सकता। शुक्रवार को सराय ठाकुरवाड़ी परिसर में सराय बाजार व्यवसायी संघ की बैठक में व्यवसायियों ने उक्त बातें कही। व्यवसायी लखिन्द्र साह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में पुलिस-प्रशासन से सराय बाजार में आये दिन बढ़ते अपराध के खिलाफ ठोस कार्यवाई नहीं किए जाने पर नाराजगी व्यक्त की। सभी ने एक स्वर में कहा कि पुलिस की नाकामी के चलते ही व्यवसायियों पर आपराधिक हमले बढ़ रहे हैं। व्यवसायियों पर बढ़ रहे आपराधिक हमले के मामले में पुलिस का रवैया बहुत ही गैर जिम्मेदाराना रहा है। महुआ में स्वर्ण व्यवसायी लूटकांड के इतने दिन हो गए, लेकिन इसके बावजूद अब तक कोई ठोस सुराग नहीं मिला है। बीते 7 जुलाई को सराय बाजार में फिनो बैंक से करीब 4 लाख की लूट हुई। वहीं 9 जुलाई को भी सराय बाजार से अपराधियों ने बाइक की डिक्की से 2 लाख 70 हजार रुपये उड़ा लिए। इसके पहले भी व्यवसायियों के साथ कई आपराधिक वारदात हुए लेकिन किसी भी मामले में पुलिस कोई सफलता नहीं मिली। अब पानी सिर से ऊपर बह रहा है। मजबूर होकर सभी व्यवसायी दुकानें बंद कर सड़क पर उतरकर आंदोलन करने को बाध्य होंगे। व्यवसायी संघ ने कहा कि पुलिस का काम सिर्फ किसी मामले में खानापूर्ति करना ही रह गया है। व्यवसायियों ने बताया कि जब तक पुलिस ठोस कार्यवाई नही करती है तब तक सराय बाजार के व्यवसायियों में डर का माहौल बना रहेगा। बैठक में संघ के कार्यकारी अध्यक्ष लखिन्द्र साह, सचिव मनोहर साह, कोषाध्यक्ष मनोज गुप्ता, संरक्षक अजय कुमार, जय प्रकाश साह, संघ के युवा अध्यक्ष मुकेश कुमार, युवा उपाध्यक्ष अभिमन्यु कुमार अमन, गोपाल प्रसाद, रत्नेश कुमार गुड्डू, मृत्युंजय सिंह, राजू गुप्ता, राकेश कुमार, संजीव कुमार, विक्रम कुमार, रवि कुमार सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.