नगर थानाध्यक्ष के खिलाफ डॉक्टरों ने मोर्चा खोला

नगर थानाध्यक्ष के खिलाफ डॉक्टरों ने मोर्चा खोला

सदर अस्पताल हाजीपुर के निकट एक नर्सिग होम के सभागार में आइएमए भासा सीएसएम और आडीए तथा एचएमएआइ से जुड़े पदाधिकारियों की एक बैठक हुई। इस बैठक में जनस्वास्थ्य कर्मचारी संघ के पदाधिकारी भी शामिल हुए।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 11:19 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, हाजीपुर :

सदर अस्पताल हाजीपुर के निकट एक नर्सिग होम के सभागार में आइएमए, भासा, सीएसएम और आडीए तथा एचएमएआइ से जुड़े पदाधिकारियों की एक बैठक हुई। इस बैठक में जनस्वास्थ्य कर्मचारी संघ के पदाधिकारी भी शामिल हुए।

चिकित्सक संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष डॉ. जी नारायण की अध्यक्षता में हुई बैठक में मुख्य रूप से डॉ. एमपी सिंह, डॉ. रवि प्रकाश, डॉ. ललन कुमार राय, .डॉ. सीपी सिंह, डॉ. अमित कुमार, डॉ. रंजन, डॉ. एस, .डॉ. यूएस गौतम, डॉ. एसके मंडल, डॉ. राकेश कुमार, जनस्वास्थ्य कर्मचारी संघ के विरेन्द्र कुमार एवं राजेश कुमार आदि ने भाग लिया।

सभी उपस्थित डॉक्टरों ने दंत चिकित्सक डॉ. ठाकुर मुकेश सिंह चौहान के दिघवारा पीएचसी जाने के दौरान उनकी कार में ठोकर मरने वाले ट्रक को नगर थानाध्यक्ष द्वारा छोड़ दिए जाने की घटना की कड़ी निदा करते हुए कार्रवाई की मांग की गयी। डॉक्टरों का कहना था कि उक्त घटना में दंत चिकित्सक डॉ. चौहान भी जख्मी हो गए थे। लेकिन पुलिस पदाधिकारी ने उनकी मदद तक नहीं की। इस संबंध में डॉ. चौहान ने डीएम और एसपी को आवेदन उयिा, पर आजअ तक कोई कारवाई नहीं की गयी। जबकि इस सम्बंध में विभिन्न संगठनों के द्वारा भी ज्ञापन दिया जा चुका है। डॉक्टरों ने पुलिस प्रशासनसे मांग की कि अविलम्ब दोषी पुलिस पदाधिकारी को निलम्बित कर कार्रवाई की जाए। बैठक में कहा गया कि दोषी पुलिस पदाधिकारी पर कार्रवाई में विलम्ब होने से चिकित्सकों में असंतोष बढ़ता जा रहा है। कहा कि ऐसे में संगठन को मजबूरन कार्य बहिष्कार का निर्णय लेना पड़ सकता है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.