सरसई में दो पक्षों के मारपीट में पहुंची पुलिस टीम पर पथराव, पुलिस जीप किया क्षतिग्रस्त

सरसई में दो पक्षों के मारपीट में पहुंची पुलिस टीम पर पथराव, पुलिस जीप किया क्षतिग्रस्त

सराय थाने के सरसई गांव में गुरुवार की देर रात रास्ता बनाने के विवाद में दो पक्षो के बीच जमकर मारपीट में

Publish Date:Fri, 10 Jul 2020 11:43 PM (IST) Author: Jagran

संवाद सूत्र, सराय :

सराय थाने के सरसई गांव में गुरुवार की देर रात रास्ता बनाने के विवाद में दो पक्षो के बीच जमकर मारपीट में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जानकारी के अनुसार सरसई वार्ड नंबर तीन की सदस्या पिकी देवी और उनके पति राजू सिंह गांव में सड़क का निर्माण करा रहे थे। ग्रामीण शिवनंदन सहनी सड़क बनाने का विरोध किया, जिसको लेकर दोनों पक्षो में जमकर मारपीट हो गई। स्थानीय जानकी देवी ने बताया कि शिवनंदन सहनी भाड़े के जेनरेटर चलाने का काम करते हैं। गुरूवार की रात वह ठेले पर लादकर जेनरेटर कहीं भेज रहे थे। इसी दौरान वार्ड सदस्या के पति ने कहा कि बुधवार के दिन में ही सड़क का ढ़लाई किया गया हैं। इसलिए इस रास्ते से जेनरेटर नहीं ले जाना हैं। बताया गया है कि जब ठेला दूसरे रास्ते से ले जाने के लिए घुमा रहे थे कि तभी ठेला ढ़लाई वाले सड़क पर चला गया। इस बात को लेकर वार्ड सदस्या पति गाली-गलौज करने लगे इसके बाद दोनों के बीच विवाद बढ़ गया। विवाद के दौरान जेनरेटर जमीन पर गिर गया और दोनों के बीच मारपीट हो गया। हल्ला-हंगामा सुनकर शिवनंदन सहनी के समर्थक जुट गए और वार्ड सदस्या के घर में घुस कर मारपीट किया। घटना में वार्ड सदस्या के पति एवं उसके दो पुत्रों को लाठी-डंडे से मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। इस दौरान घर में तोड़-फोड़ कर सामानों को क्षतिग्रस्त कर दिए जाने का आरोप है। जांच को पहुंची पुलिस टीम पर पथराव व जीप को किया क्षतिग्रस्त

दोनों पक्षों के बीच मारपीट की घटना के बाद पुलिस टीम पहुंची और दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास किया। इसी बीच कुछ लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव शुरू कर दिया। पथराव में एसआई और तीन सिपाही समेत चार पुलिसकर्मी घायल हो गए। इस दौरान किसी तरह अपनी जान बचा कर पुलिस वहां से भाग निकलने में सफल रही। उग्र लोगों ने पुलिस की गाड़ी को भी लाठी-डंडे से प्रहार कर बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। सराय थाने के एसआई कपिलदेव राय ने बताया कि गश्ती के दौरान थानाघ्यक्ष के निर्देश पर सरसई गांव पहुंचे थे। सूचना मिली थी कि एक वार्ड सदस्य के घर में घुस कर कुछ लोगों मारपीट कर रहे हैं और उन लोगों को बंघक बना कर रखे हैं। जब सरसई गांव पहुंचे तो सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा थी। कुछ लोग घायल भी थे दोनों पक्षों को समझा-बुझा रहे थे कि कुछ उग्र लोगों ने ईंट-पत्थरों से हमला कर दिया। पथराव एवं हमले में दो सिपाही रौनक कुमार, सतीश कुमार सिंह एवं गाड़ी चालक सत्यनारायण सिंह और वह खुद घायल हो गए। किसी तरह वहां से निकले और गाड़ी के पास पहुंचे तो हमलावरों ने पुलिस जीप को घेर लिया। इस दौरान लाठी-डंडे से प्रहार कर गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया। जानकारी के अनुसार दोनों पक्षों के बीच मारपीट में घायल चार लोगों को उनके परिजन इलाज के लिए सदर अस्पताल हाजीपुर ले गए हैं। जहां एक स्थिति गंभीर बताई गई है, उसे पीएमसीएच रेफर कर दिया गया है। अन्य का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। इसके पहले भी दोनों पक्षों के विवाद में हुई थी पंचायती जानकारों का कहना है कि करीब दो महीने पहले भी दोनों पक्षों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। इसको लेकर गांव में पंचायती हुई थी और मामले का निबटारा कर दिया गया था। घटना के संबंध में सराय थानाध्यक्ष सुनीता कुमारी ने बताया कि सरसई गांव में कुछ उपद्रवी लोगों ने पुलिस टीम पर पथराव किया गया है। इसमें में एक पुलिस पदाधिकारी एवं तीन पुलिस जवान घायल हो गए हैं। इस दौरान पुलिस की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। पुलिस टीम को घायल करने और पुलिस जीप को क्षतिग्रस्त करने वाले लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। इस मामले की प्राथमिकी दर्ज की जा रही हैं। हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.