जिले में कुल 6663 पॉजिटिव मरीजों में 5868 हुए स्वस्थ, रेलकर्मी समेत आधे दर्जन की मौत

जिले में कुल 6663 पॉजिटिव मरीजों में 5868 हुए स्वस्थ, रेलकर्मी समेत आधे दर्जन की मौत

वैशाली जिले में विभिन्न स्तरों पर हुए अभी तक की कोरोना जांच में 6663 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इनमें 5868 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। इस समय 800 से अधिक सक्रिय केस विभिन्न स्तरों पर इलाजरत और क्वारंटाइन हो रहे हैं।

JagranMon, 19 Apr 2021 09:27 PM (IST)

जागरण संवाददाता, हाजीपुर :

वैशाली जिले में विभिन्न स्तरों पर हुए अभी तक की कोरोना जांच में 6663 पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इनमें 5868 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। इस समय 800 से अधिक सक्रिय केस विभिन्न स्तरों पर इलाजरत और क्वारंटाइन हो रहे हैं। बाहर से आए 2260 व्यक्तियों में 24 संक्रमित पाए गए हैं। इस बीच हाजीपुर रेल जोनल मुख्यालय में कार्यरत एक रेलकर्मी समेत आधे दर्जन मौत की भी खबर है।

नोडल अधिकारी अपर समाहर्ता जितेंद्र कुमार साह ने बताया कि जिले में 532 ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध है। इसके साथ ही 48 एंबुलेंस और पर्याप्त मात्रा में रेमडिसिवर सहित अन्य दवाओं की उपलब्धता है। जिले में कोविड मरीजों की इलाज के लिए चार कोविड केयर सेंटर संचालित किए जा रहे हैं। इन सेंटरो पर 590 बेड उपलब्ध हैं। अभी तक जिले में 8 लाख 50 हजार से अधिक लोगों की विभिन्न स्तरों पर जांच की जा चुकी है। इनमें सर्वाधिक 6 लाख 54 हजार 921 रैपिड एंटीजन जांच हुई है। इसके अलावा 1 लाख 66 हजार 716 आरटी-पीसीआर तथा 47 हजार 574 ट्रूनेट जांच की गई है। उन्होंने बताया कि अभी तक किए गए जांच में 8 लाख 12 हजार 591 व्यक्तियों में किसी तरह के कोरोना लक्षण नहीं पाए गए हैं। वहीं जांच में कुल 6663 पॉजिटिव केस सामने आए, लेकिन इनमें 5868 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। इसके अलावा इस समय 697 लोग होम क्वारंटाइन में रह रहे हैं। इस समय जिले में 192 माइक्रो कंटेनमेंट जोन कार्यरत है। पूर्व मध्य रेल मुख्यालय के कर्मी की कोरोना से मौत

पूर्व मध्य रेल मुख्यालय में परिचालन विभाग में कार्यरत ओएस अरविद कुमार सिन्हा की मौत कोरोना से हो गई। वह रामाशीष चौक स्थित रेलवे के क्वार्टर के अपने फ्लैट में ही होम क्वारंटाइन थे। सोमवार की अल सुबह उनकी मौत हो गई। उनके मौत की जानकारी मिलते ही रेलवे क्वार्टर में अफरातफरी मच गई तथा काफी संख्या में लोग उनके आवास के निकट जुट गए। इस घटना की जानकारी मिलते ही इसीआरकेयू के शाखा मंत्री राकेश प्रकाश सिंह, महामंत्री एसएनपी श्रीवास्तव, सुनील कुमार, शत्रुघन कुमार पासवान एवं समाजसेवी अरविद पासवान मौके पर पहुंच गए। मौके पर पहुंचे शाखा मंत्री समेत अन्य ने इसकी जानकारी रेलवे प्रशासन, जिला प्रशासन, सदर थाना तथा सदर अस्पताल प्रशासन को दी। मृतक के शव के दाह-संस्कार की प्रक्रिया पूरी की जा रही है। महुआ कोविड डेडिकेटेड हेल्थ सेंटर में दो मरीजों की मौत संवाद सहयोगी, महुआ : यहां अनुमंडल अस्पताल में बनाए गए कोविड केयर सेंटर में इलाज के दौरान दो कोरोना मरीजों की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए यहां कोविड केयर सेंटर एवं डेडिकेटेड हेल्थ केयर सेंटर बनाया गया है। रविवार को इलाज के लिए राजापाकर प्रखंड निवासी 65 वर्षीय केदार प्रसाद महतो एवं महनार के 55 वर्षीय राजेश्वर राय को इलाज के लिए महुआ अनुमंडल अस्पताल कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया थ। जहां दोनों की इलाज के दौरान मौत हो गई। दोनों व्यक्ति गंभीर बीमारी से ग्रसित थे। अनुमंडल अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. सत्येंद्र कुमार ने बताया कि दोनों संक्रमित में व्यक्तियों की स्थिति पहले से ही काफी गंभीर थी। कोविड केयर सेंटर में अभी 7 मरीज इलाजरत है, जिनमें एक की गंभीर स्थिति को देखकर एनएमसीएच पटना रेफर किया गया है।

महनार के राजद नेता की कोरोना से इलाज के दौरान मौत संवाद सहयोगी, महनार : कोरोना से संक्रमित महनार के राजद नेता राजेश्वर राय की मौत इलाज के दौरान हो गई। प्रखण्ड के लावापुर महनार पंचायत के वार्ड संख्या दो सलेमपुर गांव निवासी राजद नेता राजेश्वर राय उर्फ मुखिया जी की मौत कोरोना संक्रमण के कारण रविवार की रात को हो गई। घटना के संबंध में बताया गया कि परिजन राजेश्वर राय को रविवार की रात लगभग एक बजे इलाज के लिए महुआ अनुमंडल अस्पताल ले गए थे। जहां इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई। बताया गया कि पांच दिन पूर्व बहुत तेज खांसी आने के बाद राजेश्वर राय के मुंह से खून आया था। जिसके बाद उनके स्वजन उन्हें इलाज हेतु हाजीपुर एक निजी नर्सिंग होम में ले गए। जहां उनका इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आया। मुखिया सर्वेंद्र कुमार राय ने बताया कि पटना में कहीं भी किसी अस्पताल में बेड नहीं मिला। जिसके बाद वहां डॉक्टर से जांच कराकर और दवा लेकर ग्यारह बजे घर चले आए। रात में लगभग एक बजे उनकी तबीयत बहुत ज्यादा बिगड़ी तो महुआ अनुमंडल अस्पताल गए। जहां इलाज के दौरान राजेश्वर उनकी मौत हो गई। मुखिया के साथ गनौर राय, संजय राय एवं नंदलाल राय भी साथ थे। राजेश्वर राय को दो बेटा रोशन कुमार और रॉकी कुमार है। एक पुत्री लक्ष्मी कुमारी की शादी हो चुकी है। राजेश्वर राय की मौत पर विधायक बीना सिंह, पूर्व सांसद रामा सिंह, पैक्स अध्यक्ष पंकेश कुमार राय, युवा राजद प्रदेश महासचिव संजय कुमार राय, जवाहर साह, रमेश राय, अभय कुमार राय आदि ने शोक प्रकट किया है।

सहदेई में पॉजिटिव की संख्या 13 लेकिन कोई गंभीर नहीं संवाद सूत्र, सहदेई बुजुर्ग : सोमवार को प्रखंड में जांच के दौरान 6 कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए। इस प्रखंड में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 13 हो चुकी है। स्वास्थ्य प्रबंधक अजय कुमार दुबे ने बताया कि प्रखंड में सोमवार को छह लोग जांच में कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बताया कि प्रखंड के गनियारी गांव में दो, नयागांव पूर्वी पंचायत में दो एवं सरायधनेश एवं शाहपुर में एक-एक कोरोना पॉजिटिव मरीज पाया गया है। लेकिन किसी की भी हालत गंभीर नहीं है। सभी को होम आइसोलेशन में रखकर उनके स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है। सभी पॉजिटिव पाए गए मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की भी कोरोना जांच की जा रही है। पॉजिटिव मरीज को दवा आदि उपलब्ध कराया गया है। बताया कि इस संबंध में प्रखंड के बीडीओ को भी सूचित कर दिया गया है, ताकि कंटेनमेंट जोन बनाने आदि की कार्रवाई आगे की जा सके। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सुनील केसरी के नेतृत्व में हर दिन कोरोना की जांच की रफ्तार बढ़ाई जा रही है।

पातेपुर में 8 नए केस के साथ पॉजिटिव संख्या 32 हुई संवाद सूत्र, पातेपुर : प्रखंड में कोरोना के आठ नए केस मिलने के साथ ही विस्फोट की स्थिति हो रही है। आठ नए केस मिलने के साथ ही पातेपुर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 32 पर पहुंच गई है। पातेपुर में पहली बार एक साथ आठ संक्रमित लोगो का रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी अब तक सख्ती नही बरती जा रही है। स्वास्थ्य प्रबंधक कमर अंजुम खान ने बताया कि पीएचसी द्वारा पूर्व में जांच के लिए भेजे गए सैंपलों की जांच रिपोर्ट में प्रखंड के सुक्की गांव में दो, राघोपुर नरसंडा में तीन, बलिगांव में एक, मालपुर में एक, तथा चिकनौटा में भी एक नए मामले सामने आए हैं। इससे यहां स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गई है।

बिदुपुर में एक एएसआई समेत कई पुलिसकर्मी हुए संक्रमित संवाद सूत्र, बिदुपुर : सोमवार को तीन कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। यहां पॉजिटिव मरीजों में एक एएसआई, पुलिस बल एवं थाने पर तैनात एक चौकीदार है। पॉजिटिव केस मिलने के बाद अन्य पुलिस अधिकारी एवं पुलिस बलों में दहशत व्याप्त है। वही अमेर गांव के कृष्णा देवी, श्यामसुंदरी देवी ने खुद भी कोविड की वैक्सीन अस्पताल पहुचकर ली और अपनी 98 साल की सास सोनवतिया देवी को वैक्सीन की पहली डोज दिलवाई। प्रतिरक्षण कक्ष में चिकित्सको ने उनसे बात की तब सोनवतिया देवी ने बताया कि लोग नाहक में घबराते है।वैक्सीन जरूर ले और परिवार के बचे सदस्यों को दिलाएं। डॉ. संजय दास ने बताया कि सोनवतिया देवी से आमजन को प्रेरणा लेकर जागरूक होना चाहिये। दूसरी ओर सरकार के नए गाइडलाइन के बाद प्रशासन सख्त दिखी। माइकिग के जरिये अलग अलग वाहनों से सीओ, बीडीओ, थानेदार की टीम ने नए गाइडलाइन को पालन करने के लिए लोगो से अपील किया। साथ ही गाइडलाइन के उल्लंघन पर कारवाई की बात कही।

सोनपुर में जदयू नेता एवं महिला समेत दो की कोरोना से मौत संवाद सहयोगी, सोनपुर : कोरोना संक्रमित सोनपुर के अलग-अलग गांवों के दो व्यक्तियों की सोमवार को मौत हो गई। नोडल पदाधिकारी डॉ. अभिषेक कुमार सिन्हा ने बताया कि 312 लोगों की जांच की गई जिसमें रेलकर्मियों समेत विभिन्न स्थानों के 66 लोग संक्रमित पाए गए। इसी दौरान सोनपुर जैतीया के एक जदयू नेता तथा चौसिया के एक 73 वर्षीय वृद्ध की संक्रमण के हालात में मौत हो गयी। मृतक जदयू नेता लगभग 55 वर्षीय बच्चू सिंह तकरीबन एक हफ्ते से बीमार चल रहे थे ।इसी बीच उन्हें स्थिति गंभीर होने पर यहां के अनुमंडलीय चिकित्सालय लाया गया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। जांच के बाद वे भी पॉजिटिव पाए गए । दूसरी ओर चौसिया के 73 वर्षीय रामविलास भगत को जोर जोर से हांफने की स्थिति में अस्पताल लाया गया। इलाज के किये बेड पर लिटाया ही जा रहा था कि इसी बीच उन्होंने दम तोड़ दिया। अनुमण्डल चिकित्सालय के चिकित्सा प्रभारी डॉ हरिशंकर चौधरी व अस्पताल प्रबंधक डॉ मृत्युंजय कुमार पांडेय ने बताया कि 66 जो लोग पॉजिटिव पाए गए उनमें 9 रेलकर्मी तथा यहां के पहलेजा दियारा, बरबट्टा, मानपुर तथा जैतीया के लोगों के अलावा कई जगहों के यात्री भी शामिल है। मालूम हो कि पिछले हफ्ते भी संक्रमित होकर यहां रेल मंडल कार्यालय में पदस्थापित एक वेलफेयर इंस्पेक्टर तथा ग्रुप डी के कर्मचारी के अलावे एक पहाड़ीचक की शिक्षिका की भी मौत हो चुकी है। इन घटनाओं तथा कोरोना की बढ़ती संख्या से सोनपुर में भय का माहौल उत्पन्न हो गया है। सरकार के निर्देश के बाद सोमवार की संध्या छह बजते ही यहां की मुख्य बाजारों की दुकानें बंद होने लगी और सब्जी मंडी में भी भीड़ दिखाई नहीं दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.