वैशाली में एजेंसी संचालक को गोली मार पांच लाख रुपये की लूट मामले का पर्दाफाश

वैशाली में एजेंसी संचालक को गोली मार पांच लाख रुपये की लूट मामले का पर्दाफाश

वैशाली। नगर थाना क्षेत्र के हथसारगंज मोहल्ला में गत 13 नवंबर को एजेंसी संचालक को गोली मारक

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 11:50 PM (IST) Author: Jagran

वैशाली। नगर थाना क्षेत्र के हथसारगंज मोहल्ला में गत 13 नवंबर को एजेंसी संचालक को गोली मारकर 5 लाख रुपया लूट मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने पांच अपराधियों को विभिन्न स्थानों से गिरफ्तार कर लिया है। इस लूटकांड में लाइनर की भूमिका मोहल्ले के ही रहने वाले युवकों ने निभायी थी। पकड़े गए अपराधियों के पास से पुलिस ने हथियार, घटना में प्रयुक्त बाइक, लूट के रुपये, लूटा गया लैपटॉप, गांजा समेत कई सामान बरामद किया गया है। इसकी जानकारी प्रेस वार्ता के दौरान एसपी मनीष ने शुक्रवार को दी। पकड़े गए सभी अपराधियों की उम्र 18 से 20 वर्ष के बीच है।

ज्ञात हो कि 13 नवंबर को बाइक सवार दो अपराधियों ने टाटा नमक, हल्दीराम भुजिया कंपनी के सामान का थोक व्यवसाय करने वाले अनुज कुमार को बाइक सवार दो अपराधियों ने गोली मारकर पांच लाख रुपये एवं लैपटॉप लूट लिए थे। इस मामले के भंडाफोड़ एवं अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीमें गठित की गयी थीं। टीम ने मैनुअल एवं टेक्निकल रूप से काम करते हुए पांच अपराधियों को दबोच लिया। पकड़े गए अपराधियों में लाइनर समेत अन्य तरह से अपराधियों को मदद करने वाले भी शामिल हैं। पकड़े गए अपराधियों से मिली जानकारी के अनुसार इस मामले में दो अन्य भी शामिल थे जिन्हें पकड़ने के लिए पुलिस की टीम लगातार छापामारी कर रही है। पकड़े गए अपराधियों के पास से पुलिस ने दो लोडेड कट्टा, दो कारतूस, लूट के 36 हजार रुपये, घटना में प्रयुक्त बाइक, 3.50 किलो गांजा, लूटा गया लैपटॉप, माउस, चार्जर एवं बैग बरामद किया है।

पकड़े गए अपराधियों की पहचान नगर थाना क्षेत्र के पोखरा मोहल्ला निवासी स्व. सरयुग पासवान का पुत्र चंदन पासवान उर्फ गोरिया, बरांटी ओपी के दयालपुर गांव निवासी जयप्रकाश यादव के पुत्र प्रेम राज, नगर थाना क्षेत्र के बागमली मोहल्ला निवासी रजनीश सिंह के पुत्र छोटू सिंह उर्फ रौशन कुमार, सुभाष चौक मोहल्ला निवासी अवधेश पासवान का पुत्र धीरज कुमार उर्फ कल्लू एवं जौहरी बाजार मोहल्ला निवासी स्व. राजेश कुमार के पुत्र अमन कुमार शामिल है। सभी अपराधियों से गहन पूछताछ के बाद जेल भेजे जाने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है। पकड़े गए अपराधियों में से चंदन का आपराधिक इतिहास रहा है। उस पर नगर थाना में पूर्व से तीन मामले दर्ज हैं। घटना के दिन चंदन बाइक पर पीछे बैठा हुआ था तथा उसने ही एजेंसी संचालक को गोली मारी थी जबकि हेलमेट पहनकर प्रेमराज बाइक चला रहा था। बाकी अन्य किसी न किसी रूप में इस लूटकांड में सहयोगी की भूमिका निभा रहे थे। एसपी ने बताया है कि इस मामले में टीम को पुरस्कृत किया जाएगा। पकड़े गए अपराधियों में से एक आइटीआइ का छात्र एजेंसी संचालक से लूटपाट मामले में शामिल एक अपराधी प्रेमराज आइटीआइ का छात्र है। वह वर्तमान में यूपी के आगरा में शिक्षा ग्रहण कर रहा है। लॉकडाउन हो जाने की वजह से वह घर आ गया था। तभी से वह नगर थाना क्षेत्र के आंबेडकरनगर में रह रहा है। वह मूल रूप से दयालपुर का रहने वाला बताया गया है। घटना के दिन वह हेलमेट पहनकर बाइक चला रहा था तथा उसका सहयोगी चंदन कुमार पीछे बैठा हुआ था। एसपी ने बताया कि उसके आपराधिक इतिहास को खंगाला जा रहा है। लूट की इस घटना में शामिल सभी अपराधी 18 से 20 वर्ष के बीच एसपी मनीष ने बताया कि एजेंसी संचालक से हुए पांच लाख रुपये की लूट की घटना में शामिल सभी अपराधियों की उम्र 18 से 20 वर्ष के बीच है। वहीं इस लूटकांड में अन्य रूप से सहयोगी बने अन्य भी इसी उम्र के है। ज्ञात हो कि एसपी ने बताया है कि इस लूट की घटना में सात लोग शामिल थे तथा सभी की उम्र इसी के आसपास है। इन सभी ने इससे पूर्व भी किसी घटना को अंजाम दिया है। उसकी भी पड़ताल की जा रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.