महनार अनुमंडल में नहीं है कोविड केयर सेंटर, एंटीजन किट की कमी से जांच प्रभावित

महनार अनुमंडल में नहीं है कोविड केयर सेंटर, एंटीजन किट की कमी से जांच प्रभावित

सरकारी अस्पतालों में दो दिनों से कोरोना जांच किट की कमी के कारण जांच कार्य प्रभावित हो रही है। दो दिनों में जांच की संख्या आधी से भी नीचे आ गई है। महनार अनुमंडल क्षेत्र में एक भी कोविड केयर सेंटर नहीं रहने के कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

JagranTue, 04 May 2021 10:23 PM (IST)

संवाद सहयोगी, महनार :

सरकारी अस्पतालों में दो दिनों से कोरोना जांच किट की कमी के कारण जांच कार्य प्रभावित हो रही है। दो दिनों में जांच की संख्या आधी से भी नीचे आ गई है। महनार अनुमंडल क्षेत्र में एक भी कोविड केयर सेंटर नहीं रहने के कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार सोमवार एवं मंगलवार को किट की कमी के कारण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहदेई बुजुर्ग में कोरोना की जांच प्रभावित रहा। इन दो दिनों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार में 93 एवं सहदेई बुजुर्ग प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 74 ही जांच किए जा सके।

जानकारी के अनुसार सोमवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार में एंटीजेन किट से 27 एवं आरटीपीसीआर से 20 टेस्ट किया गया। मंगलवार को एंटीजेन किट से 24 और आरटीपीसीआर से 21 टेस्ट किया गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहदेई बुजुर्ग में सोमवार को 20 एंटीजेन एवं 17 आरटीपीसीआर टेस्ट किया गया। मंगलवार को 25 जांच एंटीजेन किट एवं 12 आरटीपीसीआर से किया गया। कीट की कमी के कारण जांच प्रभावित हो रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महनार के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. एमके सिंह ने कहा कि किट की कमी के कारण जांच प्रभावित हुआ है। वही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहदेई बुजुर्ग के स्वास्थ्य प्रबंधक अजय कुमार दुबे ने भी कीट की कमी की बात कही है।

बताया गया कि आरटीपीसीआर टेस्ट में कमी का मुख्य वजह एनएमसीएच से जांच में सहयोग नहीं करना है। आरटीपीसीआर सैंपल जांच के लिए एनएमसीएच भेजा जाता है। लेकिन अधिकता के कारण जांच में देरी हो रहा है। अनुमंडल क्षेत्र में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। लेकिन महनार अनुमंडल क्षेत्र में एक भी कोविड केयर सेंटर नहीं खोला गया है। अनुमंडल क्षेत्र में तीन प्रखंडों महनार, सहदेई बुजुर्ग एवं देसरी के साथ महनार नगर परिषद भी शामिल है। लाखों की आबादी यहां रहती है। लेकिन अनुमंडल क्षेत्र में एक भी कोविड केयर सेंटर नहीं रहना खेदजनक है। महुआ में शाम लॉकडाउन की सूचना पर खरीदारों की उमड़ी भीड़ फोटो- 24 संवाद सहयोगी, महुआ : कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को लेकर बुधवार से होने वाले लॉकडाउन की सूचना मिलते ही यहां बाजारों में भीड़ उमड़ पड़ी। भीड़ का आलम यह था कि लोग सोशल डिस्टेंस एवं मास्क की जरूरी को भूल कर अपने सामानों की खरीदारी में लग गए। शाम 4 बजते ही दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद करना शुरू कर दिया। इसके बाद बाजार में सन्नाटा पसर गया। राज्य सरकार ने बुधवार से लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। घोषणा के बाद महुआ के बाजारों में सामान खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी। लोग अपने सामानों की खरीदारी करने में व्यस्त हो गए। सबसे अधिक भीड़ किराना और कपड़े की दुकानों में देखी गई। शाम में दुकानदारों ने अपनी दुकानों के शटर गिराना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे बाजार में सन्नाटा पसर गई। अनुमंडल पदाधिकारी संदीप कुमार ने कोरोना वायरस को लेकर बुधवार से लॉकडाउन को लेकर दिए गए निर्देशों का सख्ती से पालन करने को कहा है।

लालगंज में कोरोना जांच में 17 लोग मिले पॉजिटिव संवाद सूत्र, लालगंज : प्रखंड क्षेत्र में कोरोना का कहर लगातार जारी है। रेफरल अस्पताल के प्रभारी डॉ. शशिभूषण प्रसाद ने बताया कि मंगलवार को 100 लोगो का जांच किया गया। जिसमें 17 लोग पॉजिटिव पाए गए। जिसमे लालगंज सिरसा बिरन के दो, पटवा टोली लालगंज के एक, खरौना के एक, एतवारपुर पकड़ी के एक, व़फापुर शर्मा के दो, नाका लालगंज के तीन, अगरपुर के एक, बरौना के दो, ़खंजहाचक के एक, गुरमिया के दो, बीबीपुर पटेढ़ी बेलसर का एक व्यक्ति शामिल है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि सभी मरीजों को होम क्वारंटाइन में रखा गया है।

राजापाकर से कोविड केयर सेंटर हटाने का विरोध

संवाद सूत्र, राजापाकर : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापाकर से कोविड केयर सेंटर हटाए जाने का लोगों ने विरोध किया है। पूर्व जिला पार्षद मंजेलाल राय, प्रेम कुमार यादव, मुखिया प्रतिनिधि मो. सुल्तान, राम इकबाल सिंह आदि ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से इस संबंध में जानकारी प्राप्त किया। विधायक ने भी डीएम से बात की। इस दौरान कोविड केयर सेंटर को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजापाकर में रहने देने की बात कही गई। डीएम के आश्वासन पर धरना-प्रदर्शन के निर्णय को स्थगित किया गया। यहां से सेंटर हटने पर कोरोना संक्रमित मरीजों को इलाज के लिए काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.