सुपौल के छातापुर में 54 हजार बच्चों को दी जाएगी पोलियो की खुराक

पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान की विधिवत शुरुआत रविवार को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. ललन कुमार ठाकुर ने मुख्यालय स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र संख्या 104 पर नवजात शिशु को दवा की दो बूंद पिलाकर की।

JagranSun, 27 Jun 2021 06:13 PM (IST)
सुपौल के छातापुर में 54 हजार बच्चों को दी जाएगी पोलियो की खुराक

सुपौल। छातापुर प्रखंड क्षेत्र में 27 जून से 01 जुलाई तक पांच दिवसीय पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत कर दी गई है। पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान की विधिवत शुरुआत रविवार को प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. ललन कुमार ठाकुर ने मुख्यालय स्थित आंगनबाड़ी केन्द्र संख्या 104 पर नवजात शिशु को दवा की दो बूंद पिलाकर की। मौके पर पीएचसी प्रभारी ने कहा कि शून्य से लेकर 5 वर्ष तक के सभी बच्चों को पोलियो की खुराक देने का कार्यक्रम शुरू किया गया है। एक भी बच्चा छूटने नहीं पाए इसकी तैयारी कर ली गई है। कहा कि पीएचसी अंतर्गत प्रखंड में कुल 54 हजार बच्चों को पोलियो की खुराक दिए जाने का लक्ष्य रखा गया है। इस कार्यक्रम को लेकर टीमों ने अपना-अपना कार्य शुरु कर दिया है। अभियान के तहत स्वास्थ्य कार्यकर्ता पांच दिनों तक लोगों के घर -घर जाकर बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाएंगे। उन्होंने बताया कि पोलियो से निपटने के लिए माइक्रो प्लान तैयार किया गया है। जिसमें हर इलाके में जाने वाली टीम से लेकर पोलियो कार्यकर्ता तक का पूर्ण ब्यौरा रखा गया है। पूरे कार्यक्रम के संचालन पर निगरानी रखने के लिए अलग-अलग पर्यवेक्षक रखे गए हैं। पांच दिन तक चलने वाले इस पल्स पोलियो कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरी तरह से जुट गई है। डोर टू डोर इस कार्यक्रम को सुचारु रूप से चलाने के लिए प्रखंड क्षेत्र में पीएचसी सहित 11 सब डिपो बनाया गया है। घर-घर जाकर शून्य से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक देने के लिए 115 टीम भी लगाए गए हैं। 9 टीम को चौक-चौराहों पर रहकर हर आने जाने वाले राहगीरों को नजर रख उनके शून्य से 5 वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाएंगे। साथ ही इन सभी को गाइड करने के लिए 45 सुपरवाइजर को भी रखा गया है और एक भी बच्चा छूट गया सुरक्षा चक्र टूट गया नारे के साथ पांच दिवसीय पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत कर दी गई है। पीएचसी प्रभारी ने अभियान के दौरान कर्मियों की प्रतिनियुक्ति, दवा की गुणवत्ता, माइक्रोप्लान को समय से जमा कराने आदि को लेकर कई दिशा-निर्देश दिए। सब डिपो पर आपूर्ति की जाने वाली आइस पैक की गुणवत्ता की जांच, कोल्ड बॉक्स वैक्सीन, कैरियर व आइस पैक की सफाई, माइक्रोप्लान के तहत नवजात पुस्तिका सबमिट करने के अलावा स्वास्थ्य कर्मियों को अलग-अलग कार्यों का दायित्व सौंपते हुए अभियान की शुरुआत की गई। इस बार पोलियो टीम के साथ आशा व आंगनबाड़ी सेविकाओं को भी पोलियो टीकाकरण अभियान से जोड़ा गया हैं। मौके पर डा. नवीन कुमार, डा. शंकर कुमार, डा. विनय विश्वास, पीएचसी प्रबंधक नोमान अहमद, बीएमसी सुभाष जी समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.