top menutop menutop menu

बाबा महेंद्रनाथ व हंसनाथ मंदिर परिसर में की बैरिकेडिग

बाबा महेंद्रनाथ व हंसनाथ मंदिर परिसर में की बैरिकेडिग
Publish Date:Sun, 05 Jul 2020 05:46 PM (IST) Author: Jagran

सिवान। सरकार द्वारा श्रावणी मेला नहीं लगाने के निर्णय के बाद जिला व स्थानीय पुलिस प्रशासन ने सावन के एक दिन पहले मंदिर परिसर में बैरिकेडिग कर दी है। ताकि भक्तों के प्रवेश व मेला के आयोजन पर लगे पाबंदी को सफल बनाया जा सके। बाबा महेंद्रानाथ मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को रोकने को लेकर लौवारी मेंहदार रोड, रामगढ़ मेंहदार रोड, चिरैया मठिया मेंहदार रोड, भदौर मेहंदार रोड को बांस-बल्ली लगाकर बैरिकेडिग कर दी गई है। श्रद्धालुओं को कमलदाह सरोवर में स्नान आदि पर रोक लगा दी गई है। साथ ही अब इसकी चौकसी बढ़ाते हुए बाबा महेंद्रानाथ मंदिर के चारों तरफ बैरिकेडिग की गई। इसके बाद अब कोई भी व्यक्ति महेंद्रानाथ मंदिर कैंपस में प्रवेश नहीं कर पाए इसको लेकर बैरिकेडिग वाले जगह पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है। अंचलाधिकारी इंद्रवंश राय ने बताया कि मंदिर के चारों तरफ बैरिकेडिग की गई है, ताकि कोई भी श्रद्धालु महेंद्रानाथ मंदिर तक नहीं पहुंच सके। इसको लेकर लोगों में जागरूकता फैलाई जा रही है कि मंदिर में भीड़ बढ़ने से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी के निर्देश पर मंदिर कैंपस के सभी दुकानदारों को सावन भर अपनी-अपनी दुकानों को बंद रखने का निर्देश दिया गया है। अगर इस दौरान कोई भी आदेश की अवहेलना करता है तो उस पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

सोहागरा में नहीं लगेगा श्रावणी मेला, प्रशासन ने किया मंदिर बंद

संसू, गुठनी (सिवान) : बिहार के मुख्य सचिव के निर्देश के बाद प्रदेश के सभी छोटे-बड़े शिव मंदिरों को दर्शनार्थियों के लिए पूर्णतया बंद कर दिया गया है। इसके परिप्रेक्ष्य में गुठनी का प्रसिद्ध ऐतिहासिक व पौराणिक सोहगरा स्थित बाबा हंसनाथ मंदिरको भी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। सीओ राकेश कुमार, थाना प्रभारी मनोरंजन कुमार, बीडीओ धीरज कुमार दुबे शनिवार व रविवार को स्थानीय लोगों व बाबा हंसनाथ सेवा समिति के सदस्यों व पुजारियों के साथ बैठक कर के मंदिर को पूरी तरह बंद करने के लिए दिशा निर्देश दिया। साथ वरीय पदाधिकारियों के पत्र भी मंदिर समिति को दिखाया गया। सीओ ने बताया कि सोहगरा मंदिर के तीनों तरफ सड़क पर मजिस्ट्रेट व पुलिस की तैनाती की गई है। साथ ही मंदिर के दोनों दरवाजे पर ताला बंद करने की तैयारी है। सावन में मेला नहीं लगे, भीड़ न जुटे इसके लिए आस पास के गांव में प्रचार भी करा दिया गया है। हालांकि पुजारी परिवार की ओर से भगवान का भोग, आरती पूर्व की तरह से चलता रहेगा। बैठक में समिति के अध्यक्ष ब्रजेश कुमार सिंह,सचिव मिनहाज असगर खान, उपाध्यक्ष सुरेंद्र चौहान, उपसचिव डॉ. आर वी सिंह, कोषाध्यक्ष सतेंद्र मिश्रा, सलाहकार कौशल किशोर सिंह, मनोज सिंह , परमानंद शर्मा, पुजारी जितेंद्र गिरि, कृष्णानंद गिरि, अरुण कुमार गिरि आदि उपस्थित थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.