ई-श्रम पोर्टल पर सिवान के 1.7 लाख श्रमिकों का हुआ निबंधन

जिले में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का ई-श्रम पोर्टल पर निबंधन करने का कार्य हुआ है। इन्हें जल्द ही काम भी मुहैया कराया जाएगा।

JagranWed, 22 Sep 2021 05:25 PM (IST)
ई-श्रम पोर्टल पर सिवान के 1.7 लाख श्रमिकों का हुआ निबंधन

जासं, सिवान : जिले में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का ई-श्रम पोर्टल पर निबंधन करने का कार्य किया जा रहा है। इसको लेकर 17 सितंबर से शुरू विशेष अभियान 16 अक्टूबर तक चलेगा। कामन सर्विस सेंटर के जिला प्रबंधक अमन कुमार पांडेय ने बताया कि अबतक जिले के 1 लाख 7 हजार असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का ई-श्रम पोर्टल पर निबंधन किया जा चुका है। बता दें कि जिले के सभी प्रखंड के कामन सर्विस सेंटर पर श्रमिकों का निबंधन श्रम व रोजगार मंत्रालय भारत सरकार द्वारा अभियान चलाकर निशुल्क किया जा रहा है। एक वर्ष के लिए होगा दो लाख का प्रधानमंत्री जीवन बीमा :

असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का डाटाबेस तैयार हो जाने के बाद भविष्य में सभी प्रकार की योजनाएं इन सभी के हित में बनाने के दौरान सहूलियत होगी। श्रमिकों का निबंधन हो जाने के बाद सभी का अलग-अलग एक विशिष्ट पहचान संख्या यानी यूनिक आइडी नंबर दिया जाएगा। निबंधन के बाद विभाग सभी श्रमिकों का दो लाख का प्रधानमंत्री जीवन बीमा भी एक वर्ष के लिए निशुल्क करेगी।

असंगठित श्रमिकों में इनको किया गया है शामिल :

केंद्र सरकार द्वारा श्रम एवं कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत ई-श्रम पोर्टल बनाया गया है। जिस पर असंगठित क्षेत्र के कामगार जैसे छोटे व सीमांत किसान, प्रकृषि क्रापर्स, मछुआरों, पशुपालन में लगे लोग, बीडी रोलिग, लेबलिग और पैकिग में लगे लोग, भवन व निर्माण श्रमिक, चमड़े के कर्मचारी, बुनकरों, बढ़ई, नमक कार्यकर्ता, ईंट भट्ठों और पत्थर की खादानों में काम करने वाले मजदूर, आरा मिलों में कान करने वाले, सहायक रसोइयों, दाइयों, घरेलू श्रमिक, नइयों, सब्जी व फल विक्रेता, समाचार पत्र विक्रेता, रिक्शा चालक, आटो चालक, रेशम उत्पादन कार्यकर्ता, सामान्य सेवाएं केंद्रों घर की नौकरानी, स्ट्रीट वेंडर, मनरेगा कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, प्रवासी मजदूरों, कृषि, वानिकी, बिल्डिग कंस्ट्रक्शन, अगरबत्ती बनाने वाले, कम्प्यूटर हार्डवेयर मरम्मत, इलेक्ट्रॉनिक मरम्मत करने वाले टेक्नीशियनों, सुरक्षा गार्ड, फ्रंटलाइन वर्करों, नर्सिंग होम में काम करने वाले, ट्रांसपोर्ट सहित कुल 156 असंगठित क्षेत्रों के श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। रजिस्ट्रेशन के बाद यूनिक आईडी कार्ड दिया जाएगा।

16 से 59 आयुवर्ग के असंगठित श्रमिकों का हो रहा रजिस्ट्रेशन :

ई-श्रम कार्ड आधार एवं मोबाइल से जुड़ा होगा। इसको बनवाने के लिए श्रमिकों के उम्र सीमा 16 से 59 निर्धारित की गई है। इनमें ईपिक एवं ईपीएफओ के दायरे में ना आने वाले श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। ई-श्रम कार्ड के लिए श्रमिकों को अपने नजदीकी सीएससी सेंटर पर जाकर आधार से लिक मोबाइल नंबर, आधार कार्ड एवं बैंक अकाउंट ले जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। ------------

असंगठित क्षेत्र के कामगारों के डाटा जुटाने एवं उनके लिए योजना का खाका तैयार करने के उद्देश्य से उनका निबंधन किया जा रहा है। ताकि उन्हें आर्थिक एवं अन्य लाभ पहुंचाया जा सके। योजना में निबंधित श्रमिकों का 2 लाख का बीमा निशुल्क किया जा रहा है।

अजय कुमार, श्रम अधीक्षक, सिवान

-----------------

फोटो 22 सिव 22 :

- निबंधित श्रमिकों को मिलेगा यूनिक आईडी नंबर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.