झूठी ये दुनिया झूठा है मेला..जैसे भजनों से गूंजता रहा श्री राणीसती दादी मां का दरबार

सीतामढ़ी। शहर के कोट बाजार स्थित श्री राणीसती दादी मंदिर में आयोजित दो दिवसीय मंगसीर नवमी महोत्सव श्रद्धा और विश्वास के साथ शुक्रवार को संपन्न हो गया। देर रात तक भजन-कीर्तन चलता रहा। बालकृष्ण सुन्दरका एवं उनके साथ ओम शर्मा, रामबाबू व नरेश शर्राफ द्वारा तुम्हीं मेरी मैया राणी सती मां, तुम्हीं प्रेरणा हो, कुछ तो बता दो मेरी मां भवानी, छिपी तुम कहां हो, तेरे भरोसे दांव मैंने खेला, झूठी ये दुनिया झूठा है मेला.., जैसे भजनों से दादी का गुणगान किया गया। कीर्तन में भक्ति की रस धारा बहती रही। भजन संध्या से पूर्व दादी का भव्य श्रृंगार किया गया। दूसरे दिन पूजनोत्सव का शुभारंभ सुबह मंगला आरती और दादी की पूजा अर्चना से हुआ। पंडित मदन लाल शर्मा ने पूजा कराई। पूजा के यजमान आशीष चमड़िया धर्मपत्नी के साथ थे। पूजा के बाद हुआ मंगलपाठ

पूजा के बाद मंगलपाठ हुआ। जिसमें मनीषा लच्छीरामका की अगुवाई में परमेश्वरी देवी, अमिता मस्करा, श्वेता सिकारिया, सपना जालान, कंचन ढांढनिया, मंजू मस्करा, अलका नेमानी, सुधा जालान, रानी मस्करा, अनामिका पोद्दार, मीना देवी पोद्दार, सविता मस्करा, अमिता जालान, इन्दिरा हिसारिया, अनीता जालान, मीनू बजाज, श्वेता बूबना, शीतल हिसारिया, श्वेता जालान, संतोष बजाज सहित 51 महिलाएं शामिल हुईं। उन्होंने सरब सुहागण मिल मंदिरये में आई, दादीजी के हाथ रचाई जी या मेहन्दी, जगदम्बे, अम्बे, नारायणी मोह, शरण लगावो मां, सूझत नाही कुछ मन मंदिर में ज्योत जगावो मां, आदि गीतों से दादी का गुणगान कर देर रात्रि तक पूजा - अर्चना की। इस दौरान पूरा मंदिर परिसर दादी की जयकारों से गूंज रहा था। इससे पूर्व मंदिर परिसर और दादी के गर्भगृह को रंगीन बल्बों व फूलों से सजाया गया था। महोत्सव के अंत में श्री राणी सती दादी की मंगला महाआरती की गई और भक्तों ने सुख, शांति, समृद्धि की देवी का दर्शन कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। पूजा के समापन के बाद दादी भक्त दीपक लाठ की देख रेख में तैयार किए गए प्रसाद का वितरण भक्तों में किया गया। आयोजन की सफलता में वरिष्ठ सदस्य दीपक बंसल, किशन मस्करा, रमेश जालान, विजय पोद्दार, विकास मस्करा, गौरव बंसल, आशीष चमड़िया, मीडिया प्रभारी राजेश कुमार सुन्दरका, राज कुमार जालान, प्रवीण जालान, साकेत चमड़िया, निर्मल तुलस्यान, पुनीत सर्राफ, संजय मस्करा, गौतम जालान, अमित शर्मा आदि का समारोह को सफल बनाने में महत्वपूर्ण योगदान रहा।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.