त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों को देना होगा संपत्ति का ब्योरा

त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों को देना होगा संपत्ति का ब्योरा

छपरा। मंत्रियों-विधायकों की तरह ही त्रिस्तरीय पंचायत के प्रतिनिधि मुखिया उप मुखिया प्रखंड प्रमुख उप प्रमुख और जिला परिषद अध्यक्ष-उपाध्यक्षों को अपनी संपत्ति का ब्योरा सार्वजनिक करना होगा। इसको लेकर चुनाव आयोग ने पंचायत चुनाव के पूर्व वर्तमान में विभिन्न पदों के सभी त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों को अपनी चल - अचल संपत्ति का ब्योरा सार्वजनिक करना अनिवार्य कर दिया है।

JagranThu, 04 Mar 2021 07:24 PM (IST)

छपरा। मंत्रियों-विधायकों की तरह ही त्रिस्तरीय पंचायत के प्रतिनिधि मुखिया, उप मुखिया, प्रखंड प्रमुख, उप प्रमुख और जिला परिषद अध्यक्ष-उपाध्यक्षों को अपनी संपत्ति का ब्योरा सार्वजनिक करना होगा। इसको लेकर चुनाव आयोग ने पंचायत चुनाव के पूर्व वर्तमान में विभिन्न पदों के सभी त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों को अपनी चल - अचल संपत्ति का ब्योरा सार्वजनिक करना अनिवार्य कर दिया है।

मालूम हो कि चल-अचल संपत्ति का ब्योरा सार्वजनिक कर जिले के वेबसाइट पर अपलोड करने के लिए पंचायती राज विभाग ने निर्देश जारी कर दिया है। त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के सभी पदधारकों को डेट 31 मार्च के आधार पर अपनी चल-अचल संपत्ति का ब्यौरा सार्वजनिक करना है। इस संबंध में पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव ने सभी जिला पंचायती राज पदाधिकारियों को पत्र भेजा है। त्रिस्तरीय पंचायत के सभी पदधारकों का बीते 31 मार्च तक चल-अचल संपत्ति का ब्योरा जिले की वेबसाइट पर अपलोड कराते हुए निर्धारित फार्मेट में अद्यतन रिपोर्ट भेजनी है। उल्लेखनीय हो कि पंचायत प्रतिनिधियों के विरुद्ध बड़े पैमाने पर अनियमितता की शिकायतें मिलने और भ्रष्टाचार संबंधी मामले उजागर होने के कारण राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है। सरकारी लोक सेवकों की तरह ही ग्राम पंचायत के सभी पदधारकों की संपत्ति का ब्योरा भी जनता की जानकारी के लिए वेबसाइट पर अपलोड किया जाता है। इस तरह सभी पदधारकों को हर साल अपनी संपत्ति का ब्योरा अनिवार्य रूप से सार्वजनिक करना होगा। जिले के पंचायत राज पदाधिकारी को यह जिम्मेदारी होगी की वह उसे वेबसाइट पर अपलोड करें। विभागीय सूत्रों ने बताया कि जिले के अधिकांश जन प्रतिनिधि मुखिया, उप मुखिया, प्रखंड प्रमुख, उप प्रमुख आदि ने अपने संपत्ति का ब्यौरा नहीं दिया है। इनसेट सारण में पाचवें चरण में होगा पंचायत चुनाव

जासं, छपरा : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव की विधिवत घोषणा तो अभी नही की है। हालांकि आयोग ने चुनाव तैयारियों से संबंधित विधिवत दिशा निर्देश व कार्यक्रम को जिला प्रशासन को भेज दिया है। दस चरणों में होने वाले पंचायत चुनाव में सारण जिला में पांचवें चरण में चुनाव कराए जाने की बात बताई गई है। पांचवें चरण में जिले के सभी 323 पंचायतों में चुनाव होगा। एक दिन में पूरे जिले का चुनाव कराया जाएगा। इसी के साथ एक ओर जहां प्रशासनिक कवायद तेज हो गई है वहीं वर्तमान प्रतिनिधि व पिछले पांच साल से चुनाव का इंतजार कर रहे दावेदारों ने अपनी दावेदारी मजबूत करने के लिए तैयारी भी शुरू कर दी है। जिससे गवंई माहौल में पंचायत चुनाव पूरे चरम पर है। इस बार का त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होली की रंगत से सराबोर रहने की बात लोगो में चर्चा है। जिसमें कहा जा रहा है कि अबकी फगुआ के बोझ पंचायत के प्रत्याशी लोग उठाई। चुनावी माहौल में फगुआ की रंगत भरने से ग्रामीण क्षेत्रों मे हर तरफ शुभकामनाओं वाले रंग बिरंगे बैनर, पोस्टर, होर्डिंग, कटआउट शोभा बढा रहें हैं। इनसेट

मदद कर रहे हैं दावेदार संसू, दिघवारा : त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर गांवों में दावतों और सेवा का दौर शुरू हो गया है। कोई बीमार को अस्पताल पहुंचा रहा है तो कोई अन्य तरीके से मदद कर रहा है। जिनके घर बेटे-बेटियों की शादी तय है, वहां मददगारों की लाइन लगी है। कोई राशन, तो कोई टेंट-शामियाना व बिजली का साटा बयाना का साथ खर्च उठाने का तैयार है। रात की दावतों का तो पूछना ही नहीं है। प्रत्याशी खास समर्थकों के घर दावतों का आयोजन कर रूठे लोगों को मना रहे हैं। कोर्ट-कचहरी, थाना-पुलिस और प्रखंड व अनुमंडल कार्यालय से जुड़े लंबित काम कराने के लिए भी प्रत्याशी कार्यालय के चक्कर काटते नजर आ रहे हैं।

पुलिस प्रशासन के सामने होगी चुनौती संसू, दिघवारा : पंचायत चुनाव के दौरान होली का पर्व होने से इस बार बड़ी चुनौती सामने आने के कारण पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली को भी अग्नि परीक्षा से गुजरना पड़ेगा। चुनाव को लेकर चोरी छिपे शराब की बिक्री पर रोक लगाने के साथ, प्रत्याशियों व उनके समर्थकों द्वारा एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप पर होने वाली भिड़ंत होने की नौबत आने पर उसे रोकते हुए पुलिस प्रशासन के सामने शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए बड़ी चुनौती रहेगा। इस संबंध थानाध्यक्ष दिनेश कुमार ने बताया कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर सभी जरूरी तैयारी व व्यापक रणनीति तैयार कर ली गई है। होली व चुनाव में शांति भंग करने वाले शरारती तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.